Search found 4291 matches

by Jemsbond
16 Dec 2017 08:55
Forum: Thriller Stories
Topic: Khoon Ke Pyaase ( खून के प्यासे ) हिन्दी उपन्यास/इब्ने सफ़ी
Replies: 1
Views: 34

Khoon Ke Pyaase ( खून के प्यासे ) हिन्दी उपन्यास/इब्ने सफ़ी

खून के प्यासे [/b] दोस्तो काले चिराग सीरीज़ का ये दूसरा उपन्यास है पूरी कहानी जानने के लिए पहले [http://rajsharmastories.com/viewtopic.php?f=6&t=8540]काले चिराग [/url]) ज़रूर पढ़े तभी आपको कहानी का मज़ा आएगा इमरान ने अपनी कार आगे निकालनी चाही लेकिन आगे जाने वाली दोनों कारो ने रास्ता नहीं दिया. ऐसा ...
by Jemsbond
16 Dec 2017 08:22
Forum: Thriller Stories
Topic: काले चिराग -हिन्दी उपन्यास/इब्ने सफ़ी complete
Replies: 24
Views: 422

Re: काले चिराग -हिन्दी उपन्यास/इब्ने सफ़ी

जूलीया बोखला गयी. वो समझ रही थी कि इमरान मक्कारी से काम लेकर किसी ना किसी तरह अपनी जान बचाएगा. लेकिन थ्रेससिया के व्यक्तित्व से परदा उठा देना.......अर्थात उसे चॅलॅंज करना था. क्या इमरान से वास्तव मे मूर्खता हुई थी? अचानक पाचो आदमी इमरान पर टूट पड़े. जूलीया उच्छल कर एक तरफ हट गयी. उसने भी गेस कर लिय...
by Jemsbond
16 Dec 2017 08:19
Forum: Thriller Stories
Topic: इमरान का अपहरण ( हिन्दी नॉवल )
Replies: 48
Views: 639

Re: इमरान का अपहरण ( हिन्दी नॉवल )

जोसेफ मछुवारो के बीच बैठा अपने कारनामे 'हांक' रहा था. दोष उसका नहीं बल्कि उस शराब का था जो आज कल उसे खुल के मिल रही थी. इस समय मछुवारो का एक झुंड समंदर के किनारे रेत पर जश्न मना रहा था. एक जगह बड़े से अलाव मे आग जल रही थी.......जिस मे मछली के टुकड़े भूने जा रहे थे. शराब का दौर चल रहा था. इमरान एक त...
by Jemsbond
16 Dec 2017 08:18
Forum: Thriller Stories
Topic: इमरान का अपहरण ( हिन्दी नॉवल )
Replies: 48
Views: 639

Re: इमरान का अपहरण ( हिन्दी नॉवल )

"इमरान ने कोई जवाब ना दिया.....चुप चाप खड़ा पलकें झपकाता रहा. लेकिन जोसेफ लहक कर बोला....."वाहह....एक तो ऐसा मिला जो इंग्लीश बोलता है.....आए....प्यारे भाई....तुम पर खुदा की कृिपाओं की बरसात हो......थोड़ी सी पिला दो.....ताकि ये ज़ुबान और भी दुआएँ दे सके...." "तुम कहाँ से आए हो...?" "हमें तो ऐसा लगता...
by Jemsbond
16 Dec 2017 08:15
Forum: Thriller Stories
Topic: आधा तीतर आधा बटेर (Aadha teetar Aadha bater)
Replies: 66
Views: 1077

Re: आधा तीतर आधा बटेर (Aadha teetar Aadha bater)

इमरान कुछ ना बोला…. लेकिन उसका मुँह इस तरह बिगड़ा हुआ था जैसे बच्चों को ज़बरदस्ती कड़वी दवा खिला दी हो….! लड़कियाँ मुझे रास नही आती….इमरान कुछ देर बाद बोला क्या मतलब….? नजूमी (ज्योतिषी) ने कहा है कि लड़कियों से दूर रहा करो….! क्यूँ….? दूसरों के असरात बहुत जल्द कबूल कर लेता हूँ….एक बार एक कुत्ता पाल...