Search found 6324 matches

by rajaarkey
23 Mar 2017 14:36
Forum: Hindi ( हिन्दी )
Topic: वक्त ने बदले रिश्ते ( माँ बनी सास )
Replies: 79
Views: 22839

Re: वक्त ने बदले रिश्ते ( माँ बनी सास )

ज़ाहिद की बात ख़तम होते ही नीलोफर ने ज़ोर का कहकहा लगाया और इंडियन फिल्म निकाह का गाना , “दिल के अरमां आँसुओं में बह गये हम वफ़ा कर के भी तेन्हा रह गये”. की तर्ज का एक शेर बोली, “ लंड के अरमां ,मूठ लगा कर बह गये. हम लंड नंगा कर के भी, कंवारे रह गये.” ज़ाहिद नीलोफर की हँसी और उस का सुनाया शेर सुन कर...
by rajaarkey
23 Mar 2017 14:35
Forum: Hindi ( हिन्दी )
Topic: वक्त ने बदले रिश्ते ( माँ बनी सास )
Replies: 79
Views: 22839

Re: वक्त ने बदले रिश्ते ( माँ बनी सास )

ज़ाहिद के लंड से निकलती मनी की धार इतनी तेज और गरम थी. कि शलवार में मलबोस होने के बावजूद शाज़िया को ऐसे लगा. जिसे उस के भाई ने उस की चूत के अंदर ही अपना पानी निकाल दिया हो. अपने सगे भाई को अपनी टाँगों के दरमियाँ फारिग होता देख कर शाज़िया तो शरम से पानी पानी हो गई. मगर साथ ही शाज़िया ने सकून का साँस...
by rajaarkey
19 Mar 2017 19:23
Forum: Hindi ( हिन्दी )
Topic: वक्त ने बदले रिश्ते ( माँ बनी सास )
Replies: 79
Views: 22839

Re: वक्त ने बदले रिश्ते ( माँ बनी सास )

इस के साथ ही जोश में आ कर ज़ाहिद ने अपने जिस्म को अपनी बहन के जिस्म से चिपकाते हुए शाज़िया के हाथों को उस के सर के पीछे कर के अपने हाथों से दबा दिया. और अपने होन्ट अपनी बहन के होंठो पर रखने की कोशिश करने लगा. मगर शाज़िया अपने सर को इधर उधर करके ज़ाहिद की इस कोशिश को नाकाम बनाने पर तुली हुई थी. इसील...
by rajaarkey
19 Mar 2017 19:22
Forum: Hindi ( हिन्दी )
Topic: वक्त ने बदले रिश्ते ( माँ बनी सास )
Replies: 79
Views: 22839

Re: वक्त ने बदले रिश्ते ( माँ बनी सास )

शाज़िया इस स्टाइल में सोने से उस की दोनो टाँगों के दरमियाँ काफ़ी गॅप आ गया था. शाज़िया के सोने इस स्टाइल को देख कर ज़ाहिद के ज़हन में एक ख्याल आया. और वो आहिस्ता से अपनी बहन के बिस्तर पर चढ़ गया. बेड पर जाते ही ज़ाहिद आहिस्ता से अपनी बहन की टाँगों के दरमियाँ वाली खाली जगह पर बैठा. और फिर अपने दोनो ...
by rajaarkey
19 Mar 2017 19:19
Forum: Hindi ( हिन्दी )
Topic: नए पड़ोसी
Replies: 16
Views: 3803

Re: नए पड़ोसी

दोस्त कहानी बहुत ही बेहतरीन है हमें इंतजार रहेगा अगली अपडेट का
by rajaarkey
17 Mar 2017 22:29
Forum: Hindi ( हिन्दी )
Topic: वक्त ने बदले रिश्ते ( माँ बनी सास )
Replies: 79
Views: 22839

Re: वक्त ने बदले रिश्ते ( माँ बनी सास )

पेट के बल इस तरह लेटने की वजह से शाज़िया के चूतड़ो का उभार बहुत ही जान लेवा था. बहन की गान्ड का ये नज़ारा देख कर ज़ाहिद की आँखें फटी रह गईं. बाथरूम के बल्ब से आती हल्की रोशनी में शाज़िया की उठी हुई गान्ड को देख देख कर ज़ाहिद का दिल और लंड अपनी पूरी मस्ती में आ चुका था. आज रात ज़ाहिद अपनी बहन की जवा...

Go to advanced search