कहीं वो सब सपना तो नही

दोस्तो इस फोरम में आप हिन्दी और रोमन (Roman ) स्क्रिप्ट में नॉवल टाइप की कहानियाँ पढ़ सकते हैं
User avatar
Kamini
Gold Member
Posts: 1173
Joined: 12 Jan 2017 13:15

Re: कहीं वो सब सपना तो नही

Post by Kamini » 07 Dec 2017 19:47

Mast update

Re: कहीं वो सब सपना तो नही

Sponsor

Sponsor
 

User avatar
Dolly sharma
Gold Member
Posts: 777
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: कहीं वो सब सपना तो नही

Post by Dolly sharma » 08 Dec 2017 23:06

nice update

User avatar
007
Super member
Posts: 3983
Joined: 14 Oct 2014 17:28

Re: कहीं वो सब सपना तो नही

Post by 007 » 10 Dec 2017 09:39

जैसे ही मैं डिस्को एक अंदर गया अंदर का नजारा देख कर खुश हो गया ऑर थोड़ा हैरान भी क्यूकी
ऐसा माहौल अक्सर मैने मूवीस मे ही देखा था,,अंदर काफ़ी अंधेरा था लेकिन डिस्को फ्लोर पर
काफ़ी चमकदार लाइट्स चल रही थी,,जो म्यूज़िक के साथ ऑन ऑफ हो रही थी अपनी दिशा बदल रही थी
,,सब लोग म्यूज़िक पर पागलो की तरह उछल कूद कर रहे थे ऑर शायद यहीं इनका डॅन्स था,,सब
के सब आधे नंगे थे,,,मुझे लड़कियों को सूट दुपट्टे मे देखना अच्छा लगता था या फिर
जीन्स टॉप भी ठीक था लेकिन यहाँ तो सब लड़कियाँ शॉर्ट-स्कर्ट मे थी,,,किसी किसी ने तो ऐसी ड्रेस
पहनी हुई थी जिसको देख मुझे भी शरम आने लगी थी मुझे लग रहा था जैसे ये लड़कयँ ग़लती से
नाइटी पहन कर डिस्को मे आ गई थी,,,,मुझे शरमाता देख पायल बहुत खुश हो रही थी,,,ऑर अजीब
नज़रो से मुझे देख रही थी,,,

तभी एक वेटर हम लोगो के पास आया,, पायल मेम आपका टेबल रेडी है,,,,इतना बोलकर वेटर ने
एक कॉर्नर पर लगे टेबल की तरफ इशारा किया ऑर पायल हम लोगो को लेके उस टेबल की तरफ चल पड़ी
उस नाचती फुदक्ति भीड़ के बीच से चलते हुए मुझे बड़ा अजीब लग रहा था,,हर किसी के हाथ
मे ड्रिंक का ग्लास था जो ड्रिंक को उछाल उछाल कर डॅन्स कर रहे था तभी ड्रिंक के कुछ छींटे
मेरे पर पड़े ,,ये सॉफ्ट ड्रिंक नही थी इसमे से अजीब सी बदबू आ रही थी हो ना हो ये शराब थी
मुझे इतना गुस्सा आया कि मैने उस लड़के को पकड़ कर ज़ोर से एक घुसा मारा तो वो लड़का भीड़
के बीच मे गिर गया,,लेकिन किसी को कोई फ़िक्र नही थी उसकी हर कोई अपने डॅन्स मे बिज़ी था इसलिए करण
ऑर पायल ने मेरा हाथ पकड़ा ओर मुझे टेबल की तरफ ले गये,,,,मेरी इस हरकत से रितिका थोड़ा डर गई
थी,,,,

हम लोग टेबल के पास पहुँचे तो करण ने मुझे सोफे पर बिठा दिया ऑर खुद दूसरी तरफ से मेरे
पास आके बैठ गया जबकि रितिका ऑर पायल सामने वाले सोफे पर बैठ गई,,,,

करण ने कोई बात नही की वो समझ गया था मैने उस लड़के को क्यूँ मारा लेकिन पायल बोल पड़ी,,

क्या हुआ सन्नी तूने उसको मारा क्यूँ,,,,,

मैं कुछ नही बोला ऑर आराम से बैठ रहा तभी वो वेटर हम लोगो के पास आया ऑर 4 ग्लास टेबल
पर रख दिए,,,

ये लो ड्रिंक करो ऑर गुस्सा शांत करो सन्नी,,,,पायल ने एक ग्लास मेरी तरफ बढ़ा दिया तभी करण
ने पायल के हाथ से वो ग्लास पकड़ लिया क्यूकी उसमे शराब थी,,,


क्या हुआ करण ये ग्लास सन्नी के लिए है तुम दूसरा उठा लो,,,,

पायल भाभी सन्नी ड्रिंक नही करता इसलये तो उस लड़के को मारा इसने क्यूकी इसको शराब से नफ़रत
है,,,,

ओह्ह अच्छा ,,तो क्या सन्नी तुम मेरी खातिर आज ड्रिंक नही कर सकते,,

नही पायल जी,,,मैं किसी भी हालत मे बदल नही सकता ,,,कुछ असूल है मेरे जिनको मैं किसी की
खातिर नही भूल सकता,,आपकी जगह कोई ऑर भी होता तो भी नही,,,,


तो अगर इस वक़्त तुम्हारी गर्लफ्रेंड तुमसे ड्रिंक करने को कहेगी तो भी नही करोगे क्या,,,,

मेरी गर्लफ्रेंड जो होगी वो मुझे अच्छी तरह जानती होगी,,,वो ऐसी बेहूदा हरकत कभी नही करेगी,ऑर अगर
वो खुद ड्रिंक करेगी तो मैं उसकी टाँगे तोड़ दूँगा,,,,

लो जी मैं तो चिल करने आई थी लेकिन तुमने तो मूड ही खराब कर दिया,,,,,

कॉन कहता है ड्रिंक करके ही चिल होती है,,,,हम लोग ड्रिंक नही करते तो क्या हम लोग चिल नही
करते,,,,

अच्छा बाबा तुम बिना ड्रिंक के चिल कर सकते हो लेकिन मैं नही,,,,इतना बोलकर पायल ने एक ग्लास उठा
लिया,,,,,,,,,,,,,अब सन्नी को तो मेरे साथ चिल नही करनी तो क्या तुम लोग भी नही करोगे,,,

करण ने मेरी तरफ देखा ऑर मैं उसको बोल दिया तेरी मर्ज़ी है,,मैं कुछ नही कहने वाला
तो उसने भी ग्लास नही उठाया,,,,लेकिन पायल ने रितिका को मना लिया ऑर रितिका ने एक ग्लास उठा भी
लिया,,,लेकिन डरते हुए उसने मेरी तरफ देखा,,,,

तुम सन्नी से क्यू डर रही हो रितिका,,,तुम्हारा बाय्फ्रेंड तो करण है जब करण से कोई डर नही तो सन्नी
से कैसा डर,,,,रितिका ने ग्लास मूह को लगाया ऑर तभी एक घूँट पीते ही उसको खाँसी आने लगी ,मैं
समझ गया कि वो भी आज पहली बार पी रही थी उसका भी पीने को दिल नही था लेकिन अपनी भाभी
की वजह से वो ऐसा कर रही थी,,,

कुछ देर मे रितिका ने भी एक पेग लगा लिया ऑर फिर करण को भी पीने को बोला,,,करण ने रितिका को
मना नही किया ओर ड्रिंक करने लगा,,,,पायल बहुत खुश थी करण के ड्रिंक करने से ,,


1-2 पेग के बाद रितिका ऑर करण का काम तो हो गया था लेकिन पायल अभी भी पी रही थी,,वेटर
पेग पे पेग बना कर ला रहा था ऑर वो पीते जा रही थी,,,,

वो काफ़ी नशे मे हो गई थी,,,मुझे अब उसपे गुस्सा आ रहा था ऑर डिस्को मे हर एक लड़की पर जो
आधी नंगी होके डॅन्स कर रही थी ऑर साथ मे ड्रिंक भी,,,,मेरा ध्यान इधर उधर ही घूम
रहा था तभी मेरे पैर पर किसी का पैर लगा जो मेरी पॅंट के अंदर घुसने की कोशिश कर रहा
था,,,मैने देखने की कोशिश की लेकिन तभी वेटर एक पेग ऑर लेके आ आ गया ऑर पता नही पायल ने
उसको क्या इशारा किया की तभी टेबल की लाइट ऑफ हो गई,,,हम लोगो के पास अंधेरा हो गया,,,बहुत
कम लाइट थी वहाँ पर,,,एक छोटी सी लाइट टेबल के नीचे जल रही थी उसी की हल्की रोशनी थी आस पास
मे,,,,हम लोगो को कोई नही देख सकता था ओर तभी फिर से मेरी टाँग पर किसी का पैर लगने
लगा जो मेरी टाँग को अजीब अंदाज़ से टच कर रहा था ,,उस पैर ने अजीब हरकते करनी शुरू करदी
थी ऑर मेरी टाँग को प्यार से सहलाना शुरू कर दिया था ऑर वो पैर मेरी पॅंट के उपर से होता हुआ मेरे
लंड तक आने लगा था ,,मेरी हालत कुछ पल मे ही खराब होने लगी थी,,,तभी हल्की रोशनी मे
मैने पायल की तरफ देखा तो वो पैर जल्दी से हरकत करना बंद हो गया लेकिन पायल ने मुझे बड़ी
अजीब नज़रो से देखा ऑर स्माइल करने लगी ऑर तभी मैने रितिका की तरफ देखा तो वो कुछ ठीक नही
थी शायद उसको नशा हो गया था,,,वो करण से बातें कर रही थी लेकिन सॉफ पता चल रहा था वो
बहक गई थी,,,फिर जैसे ही उसका ध्यान मेरी तरफ आया उसने डर से फेस नीचे कर लिया,,,

कुछ देर बाद मेरी टाँग पर किसी का पैर लगा मैने जल्दी से टेबल पर पड़ा कुछ खाने का समान
जो प्लेट मे पड़ा हुआ था उसमे से एक स्पून नीचे गिरा दिया ऑर जल्दी झुक कर देखने लगा कि ये किसका
पैर है,,,टेबल के नीचे काफ़ी लाइट थी ,,लेकिन इतनी देर मे वो पैर मेरे पैर से पीछे हट गया था
लेकिन तभी कुछ ऐसा हुआ जिसकी मुझे उम्मीद नही थी,,,,मेरे सामने बैठी पायल ने अपनी टाँगों
को पूरी तरह खोला हुआ था ऑर उसका एक हाथ उसकी पेंटी के उपर से उसकी चूत पर था,,उसकी एक
उंगली उसकी पेंटी की साइड से उसकी चूत मे घुसी हुई थी,,,मैं ये देख कर दंग रह गया ओर समझ
गया की मेरे पैर पर जिसका पैर टच कर रहा था वो कोई ओर नही बल्कि पायल ही है,,,मैं वापिस
चेर पर बैठ गया ओर पायल की तरफ देखने लगा ओर तभी वो पैर वापिस मेरी टाँग को टच करने
लगा ओर मेरा ध्यान पायल की तरफ गया जो बहुत शर्मा रही थी ओर साथ साथ हल्की स्माइल के साथ एक
नशीले अंदाज़ मे मुझे देख रही थी,,,,उसका पैर मेरे लंड के पास पहुँच गया था तभी
मैने उसके पैर को अपने हाथ से टच किया ऑर जल्दी से उसका पैर पीछे हट गया लेकिन फिर कुछ पल
बाद उसका पैर मेरी टाँग से होता हुआ मेरे लंड के करीब आ गया ऑर मैने फिर से उसके पैर को
टच करना शुरू किया ऑर अपने एक हाथ से उसके पैर को प्यार से सहलाने लगा,,,तभी रितका के हाथ
से एक ग्लास छूट कर नीचे गिर गया लेकिन किसी को पता नही चला लेकिन तभी रितिका खुद मद-होशी
मे टेबल पर गिरी तो एक दम से टेबल हिला जिस से वो पैर वापिस खींचा गया,,करण आगे बढ़ कर
रितिका को संभालने लगा ,,,उसने आज पहली बार ड्रिंक की थी इसलिए बहक गई थी,,,उस को खुद पर
क़ाबू नही था ,,ऑर नही क़ाबू था पायल को खुद पर जो बार बार मेरे से अपना पैर टच
कर रही थी ऑर अब तो मेरा भी बुरा हाल हो गया था ,,,वो सॉफ्ट पैर को कुछ पल हाथ मे पकड़ा
था जिस से एक आग लगने लगी थी पूरे जिस्म मे,,,लेकिन रितिका के हिलते ही सारा काम खराब हो गया,,

तभी पायल बोली,,,,,इसने भी आज पहली बार ड्रिंक की है लगता है कुछ ज़्यादा ही नशा हो गया
है इसको,,,चलो करण इसको डॅन्स फ्लोर पर ले चलो शायद कुछ बेहतर महसूस करने लगे,,इतना
बोलकर पायल खुद उठी ओर रितिका का हाथ पकड़ कर उसको उठा दिया फिर मैं भी उठकर खड़ा हो
गया जिस से करण भी सोफे से उठकर बाहर निकल आया ऑर रितिका को पकड़ कर डॅन्सिंग फ्लोर की तरफ
ले गया,,,,उसके आगे जाते ही पायल ने मेरा हाथ पकड़ा ऑर मुझे अपने साथ उसी तरफ ले गई,,,
(¨`·.·´¨) Always

`·.¸(¨`·.·´¨) Keep Loving &

(¨`·.·´¨)¸.·´ Keep Smiling !

`·.¸.·´
-- 007

>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>

User avatar
007
Super member
Posts: 3983
Joined: 14 Oct 2014 17:28

Re: कहीं वो सब सपना तो नही

Post by 007 » 10 Dec 2017 09:41


मुझे डॅन्स करना तो आता था लेकिन इन लोगो की तरह बेहूदा डॅन्स मेरे से नही होने वाला था ये
बात पायल भी समझ गई थी इसीलिए पायल अपने हाथों मे मेरे हाथ पकड़ कर हल्के हल्के इधर
उधर हिलने लगी थी ,,,ऐसे ही हम डॅन्स करने लगे थे लेकिन पायल को इस सब मे मज़ा नही आ रहा
था इसलिए वो मेरे से थोड़ा पीछे हटके तेज़ी से लटके झटके लगाने लगी ,,,ऐसा करते हुए उसने अपने
बाल भी खोल दिए ओर ज़ुल्फो को इधर उधर हिलाते हुए पूरे जिस्म को झटके मारने लगी,,,उसका डॅन्स
करने का अंदाज़ बहुत अजीब था लेकिन सभी लोगो का ध्यान उसकी तरफ था,,लकते झटके लगाते हुए वो
मुझे थोड़ी अजीब तो लग रही थी लेकिन झटके लगाते टाइम उसके जिस्म के एक एक पार्ट अलग तरह से हिल रहा
था ऑर मुझे भी बाकी लोगो की तरह उसको देख कर मज़ा आ रहा था,,,

तभी उसने डॅन्स करते हुए वेटर की तरफ देखा जो उसी को देख रहा था,,उसने वेटर को कुछ इशारा
किया तो कुछ देर मे वेटर 2 ग्लास लेके फ्लोर पर आ गया ऑर एक ग्लास पायल को देते हुए एक ग्लास मेरी
तरफ बढ़ा दिया,,,,तभी पायल ने मुझे देखा ऑर इशारा किया कि ये शराब नही है जस्ट सॉफ्ट ड्रिंक
है पी जाओ,,,,मैं वो ड्रिंक पी ली ऑर पायल ने भी एक ही बार मे ग्लास खाली किया ऑर वेटर को पकड़ा
दिया फिर उसने वेटर को करण ऑर रितिका की तरफ इशारा किया ऑर फिर डीजे की तरफ,,,,वेटर ने हां मे सर]
हिलाया ऑर वहाँ से चाल गया,,,मैं कुछ नही समझा कि उसने वेटर को क्या बोला था ऑर करण ऑर रितिका
की तरफ इशारा क्यूँ किया था,,,,तभी डिस्को की लाइट्स बहुत कम हो गई ऑर ड्ज पर लव सॉंग प्ले होने लगा
जिसका म्यूज़िक बहुत रोमांटिक था,,,,वो म्यूज़िक प्ले होते ही कुछ लोग वहाँ से चले गये जबकि कुछ लोग
बाहों मे बाहें डालके एक दूसरे के बहुद करीब आके हल्के हलके इधर उधर हिलते हुए पता नही
कॉन्सा डॅन्स करने लगे,,,,मुझे कुछ समझ नही आ रहा था,,,,तभी पायल मेरे बहुद करीब आ गई
ऑर मेरे एक हाथ को पकड़ कर अपनी कमर पर रख दिया जिस जगह पर उसका टॉप ख़तम हो रहा था मैं
एक दम से सहर गया उसकी नंगी कमर पर हाथ रखते ही तभी उसने मेरा दूसरा हाथ पकड़ा पर कमर की
दूसरी तरफ रख दिया,,,,अभी मैं अपने पहले हाथ से उसकी कमर को टच करके बेहोश सा हो गया था ऑर
होश मे नही आया था कि उसने मेरा दूसरा हाथ भी अपनी कमर की दूसरी तरफ रख दिया था,,फिर वो एक
दम से मेरे ओर करीब आ गई ऑर अपने हाथों को मेरे शोल्डर्स पर रख दिया ऑर मेरे से बस 5-6 इंच
की दूरी से मुझे अपने साथ हल्का हल्का इधर उधर हिलने लगी,,,मैं तो बेसूध हो गया था,,,ये तो
साला वहीं रोमॅंटिक डॅन्स तो जो अक्सर मूवीस मे देखा था,,,कभी करने का मोका नही मिला था,,लेकिन
आज मोका मिला भी तो किसके साथ ऑर कहाँ,,,,मैं कुछ समझ नही पा रहा था,,,तभी मेरा ध्यान गया
करण ऑर रितिका की तरफ वो लोग भी ऐसे ही एक दूसरे से चिपक कर डॅन्स कर रहे थे,,,करण की पीठ थी
मेरी तरफ जबकि रितिका के फेस मुझे सॉफ नज़र आ रहा था क्यूकी उसने अपना फेस करण के शोल्डर पर
रखा हुआ था ऑर करण से एक दम चिपक कर डॅन्स कर रही थी,,,,डॅन्स क्या वो बस एक जगह खड़े होके
थोड़ा थोड़ा हिल रहे थे बस,,,
(¨`·.·´¨) Always

`·.¸(¨`·.·´¨) Keep Loving &

(¨`·.·´¨)¸.·´ Keep Smiling !

`·.¸.·´
-- 007

>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>>

User avatar
Kamini
Gold Member
Posts: 1173
Joined: 12 Jan 2017 13:15

Re: कहीं वो सब सपना तो नही

Post by Kamini » 10 Dec 2017 10:28

Mast update

Post Reply