मासूम ननद complete

दोस्तो इस फोरम में आप हिन्दी और रोमन (Roman ) स्क्रिप्ट में नॉवल टाइप की कहानियाँ पढ़ सकते हैं
User avatar
Dolly sharma
Gold Member
Posts: 777
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: मासूम ननद

Post by Dolly sharma » 11 Jan 2017 09:39

राज पीछे हो कर पायल के ऊपर लेट गया ऑर अपने नंगे लंड को अपनी बहन की नंगी चूत पर रगड़ते हुए बोला, कुछ नही हो गा मेरी जान आज तो में तुम्हारी ये कंवारी चूत ले कर ही रहूं गा.

पायल ने अपना हाथ नीचे ले जा कर अपने भैया का लंड अपने कंट्रोल में लिया ऑर आहिस्ता आहिस्ता अपनी चूत के दाने पर रगड़ते हुए बोली,

नही भैया प्लीज़ ऐसा नही करें अभी कुछ भी नही कर सकते . आप इसे पीछे करें इस से तो आप मुझे ऑर भी पागल कर रहे हैं.

पायल ने ये बोला ऑर दूसरे हाथ से अपने भैया के सिर के बालों को पकड़ कर अपनी तरफ खींच कर उसके होंठो को चूसने ऑर उसे चूमने लगी. धीरे धीरे दोनो की मस्ती में इज़ाफ़ा होता जा रहा था. पायल ने अपनी दोनो टांगे ऊपर की ऑर उनको अपने भैया की कमर के गिर्द उसके हिप्स पर रख कर उसके जिस्म को जकड लिया जैसे के उसका भाई उसे इतना गरम करने के बाद कहीं छोड़ कर भागने लगा हो.


राज भी अपनी बहन के बूब्स को दबाते हुए उसके होंठो को चूस रहा था ऑर पीछे से हिलते हुए अपने लंड को अपनी बहन की चूत पर रगड़ रहा था.

इधर मेरी हालत भी बहुत ही पतली हो रही थी मेरा हाथ मेरी चूत पर था ऑर मेरी चूत बिल्कुल पानी पानी हो रही थी.


राज उठा ऑर अपनी बहन की दोनो टाँगों के बीच में बैठ ते हुए अपने लंड को अपने हाथ में पकड़ा ऑर उसकी टोपी को उसकी कंवारी प्यासी चूत पर रगड़ने लगा. अगले ही किसी भी लम्हे में राज अपना लंड अपनी कंवारी बहन की चूत में दाखिल करने वाला था. मेरा ख्वाब पूरा होने वाला था कि ज़िंदगी में पहली बार किसी हक़ीक़ी भाई को अपनी बहन को चोदते हुए देखूं. लेकिन पता नही क्यों में अभी उन दोनो बहन भाई को ऐसा करने नही देना चाहती थी. में अभी इन दोनो की चूत ऑर लंड की प्यास को बरक़रार रखना चाहती थी ताकि ये अभी थोड़ा ऑर भी तड़पे एक दूसरे के लिए.



Raj peeche ho kar Payal ke oopar let gaya or apne nange lund ko apni bahan ki nangi choot par ragadte hue bola, kuch nahi ho ga meri jaan aaj to men tumhari ye kanwari choot le kar hi rahoon ga.

Payal ne apna haath neeche le jaa kar apne bhaiya ka lund apne control men liya or ahista ahista apni choot ke daane par ragadte hue boli,

nahi bhaia plz aisa nahi karen abhi kuch bhi nahi kar sakte . aap ise peeche karen is se to aap mujhe or bhi pagal kar raha hain.

Payal ne ye bola or dusare haath se apne bhaiya ke sir ke balon ko pakad kar apni taraf kheench kar uske hontho ko choosne or use choomne lagi. dheere dheere dono ki maste on men izafa hota jaa raha tha. Payal ne apni dono taange oopar kin or unko apne bhaiya ki kamar ke gird uske hips par rakh kar uske jism ko jakar liya jaise ke uska bhai use itna garam karne ke baad kahin chod kar bhaagne laga ho.


Raj bhi apni bahan ke boobs ko dabaate hue uske honth oon ko choos raha tha or peeche se hilte hue apne lund ko apni bahan ki choot par ragad raha tha.

idhar meri haalat bhi bahut hi patli ho rahi thi mera haath meri choot par tha or meri choot bilkul paani paani ho rahi thi.


Raj utha or apni bahan ki dono tangon ke beech men baith te hue apne lund ko apne hath men pakada or uski topi ko uski kanwari pyaasi choot par ragadne laga. agle hi kisi bhi lamhe men Raj apna lund apni kanwari bahan ki choot men daakhil karne wala tha. mera khwab poora hone wala tha ke zindagi men pahli baar kisi haqeeqi bhai ko apni bahan ko chodate hue dekhun. lekin pata nahi kyon men abhi un dono bahan bhai ko aisa karne nahi dena chahti thi. men abhi in dono ki choot or lund ki pyaas ko barqarar rakhna chahti thi taki ye abhi thoda or bhi tarpain ek dusare ke liye.

Re: मासूम ननद

Sponsor

Sponsor
 

User avatar
Dolly sharma
Gold Member
Posts: 777
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: मासूम ननद

Post by Dolly sharma » 11 Jan 2017 09:44

यही सोच कर में अपने कमरे में गई ऑर राज को आवाज़ दी. दूसरी आवाज़ के साथ ही ज़ाहिर है कि राज भागता हुआ आया उस ने अपने कपड़े पहन लिए हुए थे ऑर बोला, हां क्या बात है. मैने उसे पानी लाने को कहा ऑर वो किचन में गया तो में उसके चेहरे की बेबसी ऑर झुनझूलाहट देख कर मेरी हँसी छूट गई. कुछ देर के बाद में भी अंदर उनके साथ ही जा कर लेट गई.

शाम को मेरी आँख खुली तो पायल कमरे से जा चुकी हुई थी ऑर सिर्फ़ में ऑर राज ही बिस्तर पर थे. हम कुछ देर तक बातें करते रहे ऑर फिर पायल चाइ ले कर आ गई . लेकिन अपनी चाइ बाहर ले गई कि उसे कुछ काम करना था. मैने ऑर राज ने चाइ पी ओर फिर में रेस्ट करने का बहाना कर के लेट गई ऑर राज बाहर चला गया कमरे से.


मैने फॉरन उठ कर देखा तो पायल सोफे पर बैठी हुई थी ऑर राज उसके पीछे से झुक कर उसके बूब्स को दबा रहा था. पायल खुद को उस से छुड़ाते हुए बोली,

भैया आप को तो हर वक़्त यही काम सूझता रहता है भाभी को भी हर वक़्त तंग रखते हो आप ऑर अब में भी मिल गई हूँ आप को सताने के लिए.

राज पायल के सामने आया ऑर अपने शॉर्ट में हाथ डाल कर अपना लंड बाहर निकाल कर बोला, एक किस तो कर दो प्लीज़.

पायल : मेरे कमरे की तरफ देखते हुए बोली,
भैया आप को शर्म नही आती क्या अगर अभी भाभी बाहर आ गई तो?????????????? ऑर ये क्या हर वक़्त इसी हालत में ही रहता है क्या ??????????????/


राज: बस जब से इस ने अपनी प्यारी सी बहना की कंवारी चूत का दीदार किया है ना तो ये बैठता ही नही है हर वक़्त तुम्हारी चूत को याद कर कर के खड़ा हुआ रहता है. जब तक अब ये तेरी चूत के अंदर नही चला जाय गा इसको सुकून नही आने वाला.


पायल राज के लंड को अपने हाथ में ले कर आहिस्ता आहिस्ता सहलाते हुए बोली, भैया प्लीज़ कोई जगह तो देख लिया करो ना. राज अब नीचे पायल के पास ही बैठ गया अब उन दोनो की बॅक मेरी तरफ थी तो में नही देख सकती थी कि वो दोनो क्या कर रहे हैं इस हालत में वो दोनो सेफ थे. लेकिन में भी उनको डिस्टर्ब नही करना चाहती थी.

राज: बस अब तो ठीक है ना यहाँ से तेरी भाभी भी नही देख पाए गी हम को चल अब जल्दी से नीचे आजा ऑर इसे चूसाई लगा ले.


पायल हँसी ऑर बोली, भैया आप बाज़ आने वाले नही हो ऑर ना ही मान ने वाले हो.

ये कह कर पायल ने एक नज़र मेरे कमरे के दरवाज़े की तरफ डाली ऑर फिर झुक कर शायद अपने भैया का लंड चूसने लगी.


पायल : भैया एक ही बार काट के खा ना लूँ इसको जो ये हर वक़्त मुझे तंग करता रहता है.

राज अपनी बहन के रेशमी बालों में हाथ फेरते हुए बोला, काट के खा लो गी तो फिर तुम्हारी चूत की प्यास कौन बुझाए गा मेरी जान.


में अपने कमरे के बाथरूम में आई ऑर दूसरे डोर में से बाहर झाँका तो अब मेरा आंगल चेंज हो चुका हुआ था ऑर दोनो की हरकतें सॉफ नज़र आ रही थी . राज ने अपना हाथ नीचे झुकी हुई अपनी बहन की शर्ट के नीचे डाला हुआ था ऑर उसकी नंगी कमर को सहला रहा था ऑर कभी उसकी टाइट लेग्गी में फँसी हुई उसकी गान्ड को सहलाने लगता था. दूसरी तरफ पायल भी अपने भैया के लंड को मुँह में ले कर चूस रही थी ऑर कभी उसे चाट ती थी.

राज: यार ठीक से चूस ना मेरा लंड.

पायल : भैया में कौन सा लंड चूस्ति रहती हूँ जो मुझे आता है कि कैसे चूस्ते हैं पहली बार तो चूस रही हूँ ऐसे ही चूसा जाय गा चुसवाना है तो बोलो नही तो में जाऊ.

राज: अच्छा अच्छा ठीक है जैसे भी चूस ले ठीक है. कोई बात नही आहिस्ता आहिस्ता ठीक से चूसना भी आजा तुझे मेरा लंड. तेरे पाती तक पहुँचने से पहले पहले तुझे बिल्कुल एक्सपर्ट बना दूँगा देखना तू.

पायल : मेरे पती के लिए कुछ छोड़ोगे बाक़ी तो जाऊगी ना उसके पास वरना फिर जाने का फ़ायदा.

दोनो हँसने लगे.

राज: चल अब जल्दी से मेरा पानी निकाल दे ना.

पायल : नही भैया सब कुछ खराब हो जाय गा यहाँ पर में नही निकालती.

राज: तो मुँह मे ले लेना ना मेरा पानी.

पायल : छी छी छी कितनी गंदी बातें करते हो ना तुम में क्यूँ लूँ तुम्हारा पानी अपने मुँह में.

अपने भाई का लंड रगड़ते रगड़ते पायल ने जैसे ही वो छूटने वाला हुआ था उसका लंड उसके शॉर्ट्स के अंदर डाल दिया ऑर ऊपर से दबा लिया ऑर साथ ही राज का पूरे का पूरा पानी उसके शॉर्ट्स के अंदर ही निकलने लगा.

ऊऊऊऊऊहह आआआआआआाागगघह सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स की आवाज़ों के साथ ही राज के लंड ने सारा पानी अपने शॉर्ट्स में ही निकाल दिया. पूरा पानी निकालने के बाद राज बोला,

पायल तुम बहुत शैतान हो देखो सारा मेरा शॉर्ट्स खराब कर दिया है तुम ने. पायल ने उसके शॉर्ट्स को नीचे को खींचा ऑर अंदर हो रहे सारे मेस को देखा ऑर बोली, बहुत अच्छा लग रहा है अब, ऑर हँसने लगी.

राज बोला, कोई बात नही आज रात को तेरी चूत से सारा बदला लूँगा में.

पायल : क्या मतलब,

राज: मतलब ये कि आज रात तेरी कंवारी चूत चोदुन्गा में.

पायल : भैये आपको शर्म नही आए गी क्या अपनी ही सग़ी बहन को चोदते हुए.

राज: जब तुझे अपने भाई का लंड चूस्ते हुए शर्म नही आई तो मुझे भी तेरी चूत चोदते हुए कोई शरम नही आए गी.

पायल हँसते हुए बोली, लेकिन भैया भाभी भी तो हैं ना?

राज: उसकी फिकर ना कर उसे रात को दूध मे नींद की गोली मिला कर दे दूँगा मैं तो खुद ही सोई रहे गी.

पायल अपने खुले हुए मुँह पर अपना हाथ रखते हुए बोली, भैया कितने ज़ालिम हो तुम.

राज: ज़ालिम नही बेचैन कहो कि कितना बेचैन हूँ तुम्हें चोदने के लिए.

मुझे राज के प्लान का इल्म हो चुका था में मुस्करा दी क्योंकि में भी आज पायल को अपने भाई के लंड से चुदवा कर उसका कंवारा पन ख़तम करना चाहती थी. इस लिए मैने राज के साथ कॉपरेट करने का फ़ैसला कर लिया.



रात के खाने के बाद में कमरे में पहले आ गई ऑर लेट गई. थोड़ी देर के बाद राज आया ऑर मुझे दूध का ग्लास ऑर टॅबलेट दे कर बोला, ये मेडिसिन ले लो सुबह तक तबीयत ठीक हो जाय गी. मैने उसे दोनो चीज़े साइड टेबल पर रखने को कहा ऑर फिर फिर वो चला गया. उसके जाते ही मैने वो दूध ऑर टॅबलेट बाथरूम मे गिरा दी ऑर लेट गई. उठ कर मैने बाहर झाँका तो दोनो बहन भाई की मस्तियाँ जारी थी . टीवी देखते हुए भी वो पायल को अपने आगोश में खींचे हुए था ऑर उसके बूब्स से खेल रहा था ऑर कभी उसको चूम रहा था. पायल अपनी अदाए दिखाती हुई उसे तंग कर रही थी,

भैया क्या है ना आप को मेरे ही पीछे पड़े र्हते हो. थोड़ा सबर नही हो सकता क्या .

राज: नही हो रहा ना सबर मुझ से मेरा तो दिल कर रहा है कि अभी डाल दूं तेरी चूत में अपना लंड.

पायल : भैया में कुछ ऐसा वैसा नही करने दूं गी आप को, पता भी है आप का ये कितना मोटा है मेरी तो वैसे ही फाड़ दे गा.

पायल ने राज के लंड को छूते हुए कहा.

राज: हाय मेरी जान फादनी ही तो है मुझे तेरी चूत आज की रात.

पायल : नही भैया प्लीज़ फिर कभी करेंगे आज नही. आज तो भाभी भी हैं ना तो ऐसे ठीक नही है ना.

राज: अरे कुछ नही होता यार तेरी खातिर तो उसे नींद की गोलियाँ दी हैं तू उसकी फिकर ना कर. चल जा उसे देख सो गई हो गी वो ऑर फिर थोड़ा मेक अप कर के तैयार हो जा में आता हूँ फिर तुझे चोदने के लिए.

पायल मुस्कराती ऑर शरमााती हुई उठी ऑर कमरे की तरफ बढ़ी तो में जल्दी से बेड पर लेट गई ऑर सूती बन गई.

पायल कमरे में आई ऑर मेरे बेड के पास खड़ी हो कर मुझे आवाज़ें देने लगी भाभी भाभी............ लेकिन ज़ाहिर है कि मैने कोई जवाब नही दिया. फिर पायल ने मेरे बूब्स के ऊपर हाथ रख कर आहिस्ता आहिस्ता सहलाते हुए मुझे उठाना चाहा लेकिन मैने कोई जवाब नही दिया. पायल का हाथ मेरे जिस्म पर से फिसलता हुआ मेरी चूत तक आ गया ऑर मेरी पाजामी के ऊपर से ही मेरी चूत को सहलाते हुए बोली,

पायल : मेरी प्यारी भाभी जी............ आज तो आपके हज़्बेंड मेरे भी हज़्बेंड बन ने जा रहे हैं. ................. आज भैया का लंड मेरी चूत में भी जाने वाला जैसे आपकी चूत में जाता है......................... पता नही कैसे हो गा ये सब ऑर कैसा हो गा...............................

फिर पायल ने झुक कर मेरे गाल को चूमा ऑर जा कर ड्रेसिंग टेबल के सामने बैठ गई ऑर मेक अप करने लगी. में थोड़ी सी आँखे खोल कर उसे देख रही थी ऑर वो कुछ गुनगुनाते हुए मेक अप कर रही थी. थोड़ी ही देर में दरवाज़ा खुला ऑर राज भी अंदर कमरे में आ गया . सीधा पायल के पीछे जा कर उसके नंगे शोल्डर पर झुक कर चूमा ऑर उसकी गर्दन पर अपनी ज़ुबान फेरने लगा. पायल ने उसे पीछे धक्का दिया,

पायल : प्लीज़ भैया थोड़ा तो सबर करो ना. ओर जाओ वहाँ जा कर बैठ जाओ बेड पर.

राज मुस्काराया ओर जो हुकम मेरी शहज़ादी कह कर बेड पर मेरे पास आकर बैठ गया बॅक से तकिया लगा कर ऑर मेरी तरफ देखने लगा. फिर पायल को आवाज़ दी अभी आ जा जल्दी से अब. जिस तरह बेड पर लेट कर राज अपनी बहन को आईने के सामने तैयार होते हुए देख ऑर उसका इंतज़ार कर रहा था बिल्कुल ऐसे ही लग रहा था जैसे कि वो उसकी बीवी हो ऑर ये उसका पती.


तभी पायल स्टूल से उठी ऑर बेड की तरफ आई ऑर बेड के क़रीब रुक कर बोली, भैया हमे दूसरे कमरे में चले जाना चाहिए यहाँ भाभी सो रही हैं.


राज: अरे नही यार यहाँ एसी चल रहा है उधर गर्मी हो गी ऑर तुम इसकी फिकर ना करो ये तो नींद की मेडिसिन ले कर सोई हुई है.

ये कहते हुए राज ने पायल का हाथ पकड़ा ऑर उसे बेड पर अपने ऊपर घसीट लिया. पायल राज के ऊपर आगिरी ऑर राज ने उसे अपनी बाहों में कसते हुए चूमना शुरू कर दिया.

कुछ देर तक दोनो एक दूसरे को किस करते रहे फिर पायल सीधी हो कर राज के ऊपर ही बैठ गई ऑर अपना हाथ राज के नंगे सीने पर उसके सीने के बालों में फेरते हुए बोली,

पायल : भाईया क्या सच में आप मेरे साथ ये सब कुछ करना चाहते हैं.

राज: हां मेरी जान में तो मरा जा रहा हूँ तुमको चोदने के लिए.

पायल : क्या सच में आप मुझे इतना ज़्यादा प्यार करते हो?


राज उसके बूब्स से खेलते हुए बोला, हां मेरी जान इसका सबूत ये तुम्हारी गान्ड के नीचे दबा हुआ मेरा लंड भी तो है ना जो कि तेरी चूत में घुसने के लिए बेचैन हो रहा है.


राज ने पायल के टॉप को पकड़ा ऑर आहिस्ता आहिस्ता ऊपर उठाने लगा ऑर फिर अगले ही लम्हे उसके जिस्म से उतार कर परे फैंक दिया.

पायल ने फॉरन ही अपने हाथ अपने बूब्स पर रखे तो राज बोला, अब मुझ से क्यूँ छुपा रही हो.

पायल : भैया वो भाभी की वजह से शरम आ रही है मुझे.

राज हँसने लगा ओर फिर उसे अपने ऊपर थोड़ा झुका कर उसके खूबसूरत बूब्स के गुलाबी निपल्स को चूसने लगा. फिर एक को अपनी मुट्ठी में लिया ऑर अपना दूसरा हाथ मेरे बूब पर रख कर बोला,

पायल तुम्हारे बूब तुम्हारी भाबी से छोटे हैं लेकिन टाइट ज़्यादा हैं तुम्हारे.

पायल : अरे अरे भैया ये क्या कर रहे हो ना छेड़ो उनको उठ जाएँगी.

राज: नही उठ ती यार, आओ तुमको इसके बूब्स दिखाता हूँ.

ये कहते हुए राज ने मेरे टॉप को नीचे खींचा ऑर मेरे बूब्स को भी नंगा कर दिया पायल तो पहले भी मेरा सब कुछ देख चुकी हुई थी इस लिए उसे हैरत तो नही थी लेकिन फिर भी अपने भैया के आगे ऐसे शो कर रही थी जैसे कि पहली बार मुझे नंगी देख रही हो. राज ने पायल का एक हाथ मेरे बूब पर रखा तो पायल बोली, प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ भैया ना करो ना छेड़ो भाबी को.आख़िर करना क्या चाहते हो आप.


राज: सच पूछे ना तू तो में तुम दोनो को एक साथ नंगी देखना चाहता हूँ ऑर तुम दोनो को एक साथ चोदना चाहता हूँ.

पायल : नही नही भैया ऐसा नही हो सकता.

राज ने पायल को दोबारा अपनी बाहों में खींचा ऑर उसे चूमते हुए बोला, हां मुझे भी पता है कि ऐसा होना ना मुमकिन है.

ये कहते हुए राज ने पायल को बेड पर मेरे साथ लिटाया ऑर फिर खुद उसके ऊपर आ गया ऑर ऊपर झुक कर उसके गालों ऑर होंठो को चूमने लगा. आहिस्ता आहिस्ता उसके जिस्म को चूमते हुए नीचे को आने लगा. नीचे आकर उसकी पाजामी को भी उतार दिया अब पहली पहली बार उसकी बहन पूरी की पूरी उसकी आँखों के सामने नंगी थी.

एक लम्हे के लिए राज अपनी बहन के नंगे जिस्म को देखता रहा फिर उसका हाथ आगे बढ़ा ऑर अपनी बहन की कंवारी अनटच ऑर बालों से पाक चूत को सहलाने लगा.

सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स आआआआआआआआआहह म्म्म्म मममममममममममममम

एक मर्द का अपने भाई का हाथ अपनी चूत पर लगते ही पायल की चूत गरम होने लगी ऑर उसके मुँह से सिसकारिया निकालने लगीं. अपनी सग़ी बहन की चूत पर अपनी उंगली फेरते हुए आहिस्ता आहिस्ता अपनी उंगली को उसकी चूत की दरार में धकेल रहा था ऑर उसकी उंगली पर उसकी अपनी ही बहन की चूत का पानी लग रहा था. राज ने अपनी उंगली ऊपर की ऑर पायल को दिखाते हुए बोला,

देख तेरी चूत कितना पानी छोड़ रही है कितनी प्यासी हो रही है तेरी चूत मेरे लंड के लिए.

पायल ने शर्मा कर आँखे बंद कर लीं. राज ने पायल की चूत के पानी से गीली हो रही उंगली को उसके लबों से लगाया ऑर गीला पानी उसके होंठो पर मलने लगा. पायल ने सिर इधर उधर हिलाना शुरू कर दिया लेकिन राज ने अपनी उंगली उसके होंठो के बीच मे डाल कर उसके मुँह में डाल दी ऑर उसे अपनी ही चूत का पानी चाट ने पर मजबूर कर दिया.


राज ने थोड़ी जगह पायल की दोनो टाँगों के बीच बनाई ऑर बीच में लेट गया. अब पायल की एक टाँग मेरे ऊपर थी. राज ने बीच में बैठ कर अपनी बहन की कंवारी चूत को एक किस किया ऑर फिर अपनी ज़ुबान की नौक को उसकी चूत के लबों की बीच लकीर पर फेरने लगा ऊपर से नीचे ऑर नीचे से ऊपर को. आहिस्ता आहिस्ता उसके दोनो लबों को खोल कर अपनी बहन की कंवारी चूत के सूराख को अपने सामने किया ऑर फिर अपनी ज़ुबान की नौक से पायल की चूत के सूराख को टच करने लगा. आहिस्ता आहिस्ता उसकी चूत के सूराख को चाट ते हुए राज ने अपनी ज़ुबान को अंदर डालना शुरू कर दिया.


पायल का बुरा हाल हो रहा था. वो अपने भाई के सिर के बालों को पकड़ कर खींच रही थी ऑर नौच रही थी. उसकी चूत पानी पानी हो रही थी ऑर अंदर से बिल्कुल चिकनी हो चुकी हुई थी. राज ने अपनी एक उंलगी उसकी चूत के अंदर डाली तो उसे अपनी बहन की चूत के अंदर का कंवारा परदा फील हुआ उसे छूते हुए बोला, मेरी जान आज तेरी चूत के इस पर्दे को फाड़ कर तेरी चूत का एंट्री गेट खोल दूँगा में.फिर बड़ी आसानी से तेरी चूत में लंड जा सके गा.

पायल अपनी आँखे बंद किए हुए पड़ी लंबे लंबे साँस ले रही थी. थोड़ी देर के बाद राज उठा ऑर अपना पाजामा उतार कर अपने अकडे हुए लंड को पकड़ कर उसकी चूत के सामने बैठ गया.

अपने हाथ में पकड़ कर अपने लंड को अपनी बहन की चूत के ऊपर रगड़ने लगा. उसके लंड की टोपी भी पायल की चूत के पानी से गीली होती जा रही थी. उधर अपने इतने क़रीब दो बहन भाई का इस क़दर सेक्सी खेल होता हुआ देख कर मेरी अपनी चूत भी पानी छोड़ रही थी. अगर इस वक़्त राज मेरी चूत को छू लेता तो यक़ीनन मैं पकड़ी जाती कि मैं जाग रही हूँ ऑर ये सब देखते हुए एंजाय कर रही हूँ.


राज ने अपने दोनो हाथो की उंगलियों से अपनी सग़ी बहन की चूत के दोनो लिप्स को खोला ऑर अपने लंड की मोटी फूली हुई टोपी जो कि उसकी बहन की चूत के पानी से ही गीली हो कर चमक रही थी उसे उसकी चूत के सूराख पर रखा ऑर धीरे धीरे अपना लंड अंदर पुश करने लगा.

पायल ने पहले तो आँखे खोल कर ख़ौफ़ ऑर डर की कैफयत के साथ अपने भाई की तरफ देखा ओर अपने दोनो हाथो को उसके सीने पर रखते हुए रोकने की कोशिश की लेकिन फिर कुछ कहे बिना ही खामोश हो कर अपनी आँखे बंद कर लीं ऑर अपनी चूत में दाखिल होने वाले अपने भाई के लंड का इंतज़ार करने लगी.


राज ने थोड़ा सा ज़ोर लगाया तो उसके लंड की मोटी टोपी फिसल कर उसकी बहन की चूत के सूराख की रिम के अंदर दाखिल हो गई. साथ ही पायल की एक हल्की सी चीख निकली.

राज: होसला रखो मेरी जान अभी तो कुछ भी नही हुआ अभी तो मैने अंदर डाला ही थोड़ा सा है.


फिर राज ने पायल की दोनो टाँगो को पकड़ कर ऊपर किया ऑर उसकी थाइस को अपने कंट्रोल में करते हुए अपने लंड को थोड़ा थोड़ा आगे पीछे करने लगा. इस थोड़ी थोड़ी हरकत से पायल भी अपने भाई के लंड से फेमिलियर होने लगी ऑर उसे भी मज़ा आने लगा.

सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स, सस्स्स्स्स्स्स्साआआआआआआआआआआ म्म्म्मनममममममममममममममममम ऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊओ फफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़


जैसे ही पायल के मुँह से हल्की हल्की सिसकारिया निकलने लगीं तो धीरे धीरे राज ने अपने लंड को ओर भी अंदर डालना शुरू कर दिया ऑर थोड़ी ही देर में उसका लंड अपनी बहन की चूत के पर्दे से टकराने लगा. कुछ देर तक रुक कर गोया उस पर्दे को अपने लंड की टोपी से सहलाते हुए राज ने एक हल्का सा धक्का मारा तो पूरी तरह गरम हो रही उसकी बहन की चूत का परदा फॅट ता चला गा ऑर उसका लंड अंदर दाखिल हो गया.

पायल की एक हल्की सी चीख निकली लेकिन साथ ही राज ने उसके ऊपर लेट ते हुए उसके होंठो को अपने होंठो में जकड लिया ऑर उसे चूसने लगा. पीछे से वो बिल्कुल साक़ित था फिर आहिस्ता आहिस्ता अपने लंड को अंदर बाहर करते हुए अपनी बहन की चूत को चोदने लगा.

पायल ने भी अपने दोनो बाज़ू अपने भाई की कमर के गिर्द डाले ऑर उस से लिपट गई. अपने हाथों को पायल की कमर के नीचे लाते हुए राज ने अपनी बहन के जिस्म को अपनी बाहों में भर लिया ऑर आहिस्ता आहिस्ता अपने धक्कों की रफ़्तार को बढ़ाते हुए अपनी बहना की चुदाई में तेज़ी लाने लगा. पूरा बिस्तर उसके धक्कों की ताक़त से हिल रहा था ऑर मुझे ऐसा फील हो रहा था कि जैसे उसका लंड मेरी ही चूत में जा रहा हो.


एक टाइट ऑर कंवारी चूत को पहली बार चोद रहा था राज तो कैसे ज़्यादा देर तक बर्दाश्त कर सकता था इसी लिए कुछ ही देर गुज़री कि राज ने अपने लंड को पूरे का पूरा अपनी बहन की चूत के अंदर डालते हुए अपने लंड का पानी निकालना शुरू कर दिया ऑर उसके लंड से सारा की सारा वीर्य निकल कर अपनी बहन की चूत में गिरने लगा. ऑर साथ ही राज अपनी बहन के ऊपर ही ढेर हो गया.


Yahi soch kar men apne kamare men gai or Raj ko awaaz di. Doosri awaaz ke saath hi zahir hai ke Raj bhaagta hua aya us ne apne kapade pehan liye hue the or bola, haan kya baat hai. maine use paani laane ko kaha or wo kitchen men gaya to men uske chehare ki bebasi or jhunjhulahat dekh kar meri hansi choot gai. kuch der ke baad men bhi andar unke saath hi jaa kar let gai.

Shaam ko meri aankh khuli to Payal kamare se jaa chuki hui thi or sirf men or Raj hi bistar par the. hum kuch der tak baten karte rahe or phir Payal chai le kar aa gai . Lekin apni chai bahar le gai ke use kuch kaam karna tha. Maine or Raj ne chai pee or phir men rest karne ka bahana kar ke let gai or Raj bahar chala gaya kamare se.


Maine foran uth kar dekha to Payal sofe par baithi hui thi or Raj uske peeche se jhuk kar uske boobs ko daba raha tha. Payal khud ko us se churaaate hue boli,

Bhaiya aap ko to har waqt yei kaam soojhta rhta hai bhabhi ko bhi har waqt tang kee rakhte ho aap or ab men bhi mil gai hoon aap ko sataane ke liye.

Raj Payal ke saamne aya or apne short men haath daal kar apna lund bahar nikaal kar bola, ek kiss to kar do plz.

Payal : mere kamare ki taraf dekhte hue boli,
bhaiya aap ko sharm nahi aati kya agar abhi bhabhi bahar aa gai to?????????????? or ye kya har waqt isi halat men hi rahta hai kya ??????????????/


Raj: bus jab se is ne apni pyaari si bahana ki kanwari choot ka deedaar kya hai na to ye baithta hi nahi hai har waqt tumhari choot ko yaad kar kar ke khar hua rahta hai. jab tak ab ye teri choot ke andar nahi chala jaay ga isko sukoon nahi aane wala.


Payal Raj ke lund ko apne haath men le kar ahista ahista sahlaate hue boli, bhaiya plz koi jagah to dekh liya karo na. Raj ab neeche Payal ke paas hi baith gaya ab un dono ki back meri taraf thi to men nahi dekh sakti thi ke wo dono kya kar rahe hain is halat men wo dono safe the. lekin men bhi unko disturb nahi karna chahti thi.

Raj: bus ab to theek hai na yaha se teri bhabhi bhi nahi dekh paaye gi hum ko chul ab jaldi se neeche aaja or ise choosa laga le.


Payal hansi or boli, bhaiya aap baaz aane wale nahi ho or naa hi maan ne wale ho.

ye kah kar Payal ne ek nazar mere kamare ke darwazy ki taraf daali or phir jhuk kar shayad apne bhaiya ka lund choosne lagi.


Payal : bhaiya ek hi baar kaat ke khaa na loon isko jo ye har waqt mujhe tang karta rahata hai.

Raj apni bahan ke reshmi balon men haath pherate hue bola, kaat ke khaa lo gi to phir tumhari choot ki pyaas koun bujhaaye ga meri jaan.


Men apne kamare ke bathroom men aai or dusare door men se bahar jhaanka to ab mera angle change ho chuka hua tha or dono ki harkatain saaf nazar aa rahi thi . Raj ne apna haath neeche jhuki hui apni bahan ki shirt ke neeche daala hua tha or uski nangi kamar ko sahlaa raha tha or kabhi uski tight leggaye men phansi hui uski gaanD ko sahlaane lagta tha. doosri taraf Payal bhi apne bhaiya ke lund ko munh men le kar choos rahi thi or kabhi use chaat ti thi.

Raj: yaar theek se choos na mera lund.

Payal : bhaiya men koun sa lund choosti rahti hoon jo mujhe aata hai ke kaise chooste hain pahli baar to choos rahi hoon aise hi choosa jaay ga chuswana hai to bolo nahi to men jaaoo.

Raj: acha acha theek hai jaise bhi choos le theek hai. koi baat nahi ahista ahista theek se choosna bhi aajaay ga tujhe mera lund. tere patee tak pahunchne se pahle pahle tujhe bilkul expert bana doon ga dekhna tu.

Payal : mere patee ke liye kuch chodo gaye baqi to jaaoo gi na uske paas wrna phir jaane ka faida.

dono hansane lage.

Raj: chul ab jaldi se mera paani nikaal de na.

Payal : nahi bhaiya sab kuch kharab ho jaay ga yaha par men nahi nikaalti.

Raj: to munh mai le lena na mera paani.

Payal : chee chee chee kitni gandi baten karte ho na tum men kyun loon tumhara paani apne munh men.

apne bhai ka lund ragadte ragdte Payal ne jaise wo chootne wala hua tha uska lund uske shorts ke andar daal diya or oopar se dabaa liya or saath hi Raj ka poore ka poora paani uske shorts ke andar hi nikalne laga.

oooooooooohhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh aaaaaaaaaaaaaaaaggghhhhhhhhhhhhhh ssssssssssssssssssssssssssssss ki awazoon ke sath hi Raj ke lund ne sara paani apne shorts men hi nikaal diya. poora paani nikalne ke baad Raj bola,

Payal tum bahut shaitan ho dekho sara mera shorts kharab kar diya hai tum ne. Payal ne uske shorts ko neeche ko kheencha or andar ho rahe saare mess ko dekha or boli, bahut acha lag raha hai ab, or hansane lagi.

Raj bola, koi baat nahi aaj raat ko teri choot se saara badla loon ga men.

Payal : kya matlb,

Raj: matlb ye ke aaj raat teri kanwari choot chodoun ga men.

Payal : bhaiaya aapko sharm nahi aye gi kya apni hi sagi bahan ko chodate hue.

Raj: jab tujhe apne bhai ka lund chooste hue sharm nahi aai to mujhe bhi teri coot choodte hue koi sharam nahi aaye gi.

Payal hansate hue boli, lekin bhaiya bhabhi bhi to hain na?

Raj: uski fikar na kar use raat ko doodh maine end ki goli milaa kar de dunga men to khud hi soi rahe gi.

Payal apne khule hue munh par apna haath rakhte hue boli, bhaiya kitne zalim ho tum.

Raj: zalim nahi bechain kaho ke kitna bechain hoon tumhen chunde ke liye.

Mujhe Raj ke plan ka ilm ho chuka tha men muskaraa di kyonki men bhi aaj Payal ko apne bhai ke lund se chudwaa kar uska kanwara pun khatamkarna chahti thi. is liye maine Raj ke saath cooparate karne ka faisla kar liya.



Raat ke khaane ke baad men kamare men pahle aa gai or let gai. thodi der ke baad Raj aya or mujhe doodh ka glass or tablet de kar bola, ye medicine le lo subah tak tabiyat theek ho jaay gi. maine use dono cheezain side table par rakhne ko kaha or phir phir wo chala gaya. uske jaate hi maine wo doodh or tablet giraa di or let gai. uth kar maine bahar jhaanka to dono bahan bhai ki maste aan or kharmaste an jaari thi . tv dekhte hue bhi wo Payal ko apni aagosh men kheenchy hue tha or uske boobs se khel raha tha or kabhi usko choom raha tha. Payal apni adaain dekhati hui use tang kar rahi thi,

bhaiya kya a hai na aap ko mere hi peeche pade rhte ho. thoda sabar nahi ho sakta kya .

Raj: nahi ho raha na sabar mujh se mera to dil kar raha hai ke abhi daal doon teri choot men apna lund.

Payal : bhaiya men kuch aisa waisa nahi karne doon gi aap ko, pata bhi hai aap ka ye kitna mota hai meri to waise hi phaar de ga.

Payal ne Raj ke lund ko choote hue kaha.

Raj: hay meri jaan phaarni hi to hai mujhe teri choot aaj ki raat.

Payal : nahi bhaiya plz phir kabhi karen gaye aaj nahi. aaj to bhabhi bhi hain na to aise theek nahi hai na.

Raj: are kuch nhai hota yaar teri khaatir to use neend ki goliyan din hain tu uski fikar na kar. chul jaa use dekh so gai ho gi wo or phir thoda make up kar ke taiyar ho ja men aata hun phir tujhe chodane ke liye.

Payal muskaraati or sharmaaati hui uthi or kamare ki taraf badhi to men jaldi se bed par let gai or sooti bun gai.

Payal kamare men aai or mere bed ke paas khadi ho kar mujhe awaazain dene lagi bhabhi bhabhi............ lekin zahir hai ke maine koi jawab nahi diya. phir Payal ne mere boobs ke oopar haath rakh kar ahista ahista sahlaate hue mujhe uthaana chaha lekin maine koi jawaab nahi diya. Payal ka haath mere jism par se phisalata hua meri choot tak aa gaya or mere pajaamy ke oopar se hi meri choot ko sahlaate hue boli,

Payal : meri pyaari bhabhi g............ aaj to aapke husband mere bhi husband ban ne jaa rahe hain. ................. aaj bhaiya ka lund meri choot men bhi jaane wala jaise aapki choot men jaata hai......................... pata nahi kaise ho ga ye sab or kaisa ho ga...............................

Phir Payal ne jhuk kar mere gaal ko chooma or jaa kar dressing table ke saamne baith gai or make up karne lagi. men thodi si aankhe khol kar use dekh rahi thi or wo kuch gungunaate hue make up kar rahi thi. thodi hi der men darwaza khula or Raj bhi andar kamare men aa gaya . seedha Payal ke peeche jaa kar uske nange shoulder par jhuk kar chooma or uski gardan par apni zubaan pherne lga. Payal ne use peeche dhaka diya,

Payal : plz bhaiya thoda to sabar karo na. or jaao waha ja kar baith jaao bed par.

Raj muskaraya or jo hukam meri shehzadi kah kar bed par mere paas aakar baith gaya back se taki laga kar or meri taraf dekhne laga. phir Payal ko awaaz di abhi jaa jaldi se ab. Jis tarah bed par let kar Raj apni bahan ko aaine ke saamne taiyar hote hue dekh or uska intzaar kar raha tha bilkul aise hi lag raha tha jaise ke wo uski biwi ho or ye uska patee.


Tabhi Payal stool se uthi or bed ki taraf aai or bed ke qareeb ruk kar boli, bhaiya hame dusare kamare men chale jana chaahee yaha bhabhi so rahi hain.


Raj: are nahi yaar yahan AC chal raha hai udhar garmi ho gi or tum iski fikar na karo ye to neend ki medicine le kar soi hui hai.

Ye kahte hue Raj ne Payal ka haath pakada or use bed par apne oopar ghaaseet liya. Payal Raj ke oopar aagiri or Raj ne use apni bahon men kaste hue choomna shuru kar diya.

kuch der tak dono ek dusare ko kiss karte rahe phir Payal seedhi ho kar Raj ke oopar hi baith gai or apna haath Raj ke nange seene par uske seene ke balon men pherate hue boli,

Payal : Bhayia kya such men aap mere saath ye sab kuch karna chaahate hue.

Raj: haan meri jaan men to mara jaa raha hoon tumko chodane ke liye.

Payal : kya such men aap mujhe itna jyaada pyaar karte ho?


Raj uske boobs se khelte hue bola, haan meri jaan iska saboot ye tumhari gaanD ke neeche daba hua mera lund bhi to hai na jo ke teri choot men ghusne ke liye bechain ho raha hai.


Raj ne Payal ke top ko pakada or ahista ahista oopar uthaane laga or phir agle hi lamhe uske jism se utaar kar pade phaink diya.

Payal ne foran hi apne haath apne boobs par rakhe to Raj bola, ab mujh se keun chupaa rahi ho.

Payal : bhaiya wo bhabhi ki wajah se sharam aa rahi hai mujhe.

Raj hansane laga or phir use apne oopar thoda jhukaa kar uske khoobsoorat boobs ke gulaabi nipples ko choosne laga. phir ek ko apni mutthi men liya or apna doosra haath mere boob par rakh kar bola,

Payal tumhare boob tumhari bhabi se chote hain lekin tight jyaada hain tumhare.

Payal : are are bhaiya ye ke kar rahe ho na chairo unko uth jain gi.

Raj: nahi uth ti yar, aao tumko iske boobs dekhaata hoon.

ye kahte hue Raj ne mere top ko neeche kheencha or mere boobs ko bhi nanga kar diya Payal to pahle bhi mera sab kuch dekh chuki hui thi is liye use hairat to nahi thi lekin phir bhi apne bhaiya ke aage aise show kar rahi thi jaise ke pahli baar mujhe nangi dekh rahi ho. Raj ne Payal ka ek haath mere boob par rakha to Payal boli, plzzzzzzzzzz bhaiya na karo na chairo bhabi ko.aakhir karna kya chaahate hue aap.


Raj: such poochy na tu to men tum dono ko ek saath nangi dekhna chahta hoon or tum dono ko ek saath chodanaa chahta hoon.

Payal : nahi nahi bhaiya aisa nahi ho sakta.

Raj ne Payal ko dobara apni bahon men kheencha or use choomte hue bola, haan mujhe bhi pata hai ke aisa huna na mumkin hai.

Ye kahte hue Raj ne Payal ko bed par mere saath litayaa or phir khud uske oopar aa gaya or oopar jhuk kar uske gaalon or hontho ko choomne laga. ahista ahista uske jism ko choomte hue neeche ko aane laga. neeche aakar uske pajaamy ko bhi utaar diya ab pahli pahli baar uski bahan poori ki poori uski aankhon ke saamne nangi thi.

Ek lamhe ke liye Raj apni bahan ke nange jism ko dekhta raha phir uska haath aage badha or apni bahan ki kanwari untouch or balon se paak choot ko sahlaane laga.

ssssssssssssssssssssssssssssssss aaaaaaaaaaaaaaaaaahhhhhhhhhhhhhh mmmmmmmmmmmmmmmmmm

ek mard ka apne bhai ka haath apni choot par lagte hi Payal ki choot garam hone lagi or uske munh se siskaareaan nikalne lagin. apni sagi bahan ki choot par apni ungli pherate hue ahista ahista apni ungli ko uski choot ki draad men dhakail raha tha or uski ungli par uski apni hi bahan ki choot ka paani lag raha tha. Raj ne apni ungli oopar ki or Payal ko dekhaate hue bola,

dekh teri choot kitna paani chod rahi hai kitni pyaasi ho rahi hai teri choot mere lund ke liye.

Payal ne sharma kar aankhe band kar lin. Raj ne Payal ki choot ke paani se geeli ho rahi ungli ko uske labon se lagayea or geela paani uske hontho par malne laga. Payal ne sir idhar udhar hilaana shuru kar diya lekin Raj ne apni ungli uske hontho ke beech mian daal kar uske munh men daal di or use apni hi choot ka paani chaat ne par majboor kar diya.


Raj ne thodi jagah Payal ki dono tangon ke beech banai or beech men let gaya. ab Payal ki ek taang mere oopar thi. Raj ne beech men baith kar apni bahan ki kanwari choot ko ek kiss kya or phir apni zubaan ki nouk ko uski choot ke labonn ki beechi lakeer par pherne laga oopar se neeche or neeche se oopar ko. ahista ahista uske dono labon ko khol kar apni bahan ki kanwari choot ke soorakh ko apne saamne kiya or phir apni zuban ki nouk se Payal ki choot ke soorakh ko touch karne laga. ahista ahista uski choot ke soorakh ko chaat te hue Raj ne apni zubaan ko andar daalna shuru kar diya.


Payal ka bura haal ho raha tha. wo apne bhai ke sir ke balon ko pakad kar kheench rahi thi or nouch rahi thi. uski choot paani paani ho rahi thi or andar se bilkul chikni ho chuki hui thi. Raj ne apni ek unlgi uske choot ke andar daali to use apni bahan ki choot ke andar ka kanwara parda feel hua use choote hue bola, meri jaan aaj teri choot ke is parde ko phaar kar teri choot ka entry gate khol doon ga men.phir badi aasani se teri choot men lund jaa sake ga.

Payal apni aankhe band kee hue padi lambe lambe saans le rahi thi. thodi der ke baad Raj utha or apna pajama utaar kar apne akare hue lund ko pakad kar uski choot ke saamne baith gaya.

apne haath men pakad kar apne lund ko apni bahan ki choot ke oopar ragadne laga. uske lund ki topi bhi Payal ki choot ke paaani se geeli hoti jaa rahi thi. udhar apne itne qareeb do bahan bhai ka is qadar sexy khel hota hua dekh kar meri apni choot bhi paani chod rahi thi. agar is waqt Raj meri choot ko choo leta to yaqeenan man pakadi jaati ke men jaag rahi hoon or ye sab dekhte hue enjoy kar rahi hoon.


Raj ne apne dono haathun ki ungleon se apni sagi behn ki choot ke dono lips ko khola or apne lund ki moti phooli hui topi jo ke uski bahan ki choot ke paani se hi geeli ho kar chamak rahi thi use uski choot ke soorakh par rakha or dheere dheere apna lund andar push karne lga.

Payal ne pahle to aankhe khol kar khouf or dar ki kaifyat ke saath apne bhai ki taraf dekha or apne dono haatho ko uske seene par rakhte hue rokne ki koshish ki lekin phir kuch kahe bina hi khaamosh ho kar apni aankhe band kar lin or apni choot men daakhil hone wale apne bhai ke lund ka intzaar karne lagi.


Raj ne thoda sa zor lagayea to uske lund ki moti topi phisal kar uski bahan ki choot ke soorakh ke rim ke andar daakhil ho gai. saath hi Paayal ki ek halki si cheekh nikli.

Raj: hosla rakho meir jaan abhi to kuch bhi nahi hua abhi to maine andar daala hi thoda sa hai.


Phir Raj ne Payal ki dono taango ko pakad kar oopar kya or uski thighs ko apne control men karte hue apne lund ko thoda thoda aage peeche karne laga. is thodi thodi harkat se Payal bhi apne bhai ke lund se familiar hone lagi or use bhi maza aane laga.

ssssssssssssssssssss, sssssssssaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaa mmmmmmmmmmmmmmmmmmmmm ooooooooooooooooooooooooo fffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffffff


jaise hi Payal ke munh se halki halki siskaarean nikalne lagin to dheere dheere Raj ne apne lund ko or bhi andar daalna shuru kar diya or thodi hi der men uska lund apni bahan ki choot ke parde se takaraane laga. kuch der tak ruk kar goya us parde ko apne lund ki topi se sahlaate hue Raj ne ek halka sa dhaka maara to poori tarah garam ho rahi hui uski bahan ki choot ka parda phat ta chala ga or uska lund andar daakhil ho gaya.

Payal ki ek halki si cheekh nikli lekin saath hi Raj ne uske oopar let te hue uske honth o ko apne hontho men jakar liya or use choosne laga. peeche se wo bilkul saaqit tha phir ahista ahista apne lund ko andar baahar karte hue apni bahan ki choot ko chodane laga.

Payal ne bhi apne dono bazoo apne bhai ki kamr ke gird daale or us se lipat gai. apne hathon ko Payal ki kamar ke neeche laate hue Raj ne apni bahan ke jism ko apni bahon men bhar liya or ahista ahista apne dhakkon ki raftar ko badhate hue apni behna ki chudaai men tezi laane laga. poora bistar uske dhakkon ki taqat se hil raha tha or mujhe aisa feel ho raha tha ke jaise uska lund meri hi choot men jaa raha ho.


Ek tight or kanwaari choot ko pahli baar chood raha tha Raj to kaise jyaada der tak bardash kar sakta tha isi liye kuch hi der guzri ke Raj ne apne lund ko poore ka poora apni bahan ki choot ke andar daalte hue apne lund ka paani nikaalna shuru kar diya or uske lund se saari ki saari mani nikal kar apni bahan ki choot men girne lagi. or saath hi Raj apni bahan ke oopar hi dher ho gaya.

vnraj
Pro Member
Posts: 110
Joined: 01 Aug 2016 21:16

Re: मासूम ननद

Post by vnraj » 11 Jan 2017 20:47

कितना आनन्द आता है जब मिलन होता है इन दो अंगो का उफ्फफफफ मजा आ गया

User avatar
Dolly sharma
Gold Member
Posts: 777
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: मासूम ननद

Post by Dolly sharma » 12 Jan 2017 13:01

vnraj wrote:कितना आनन्द आता है जब मिलन होता है इन दो अंगो का उफ्फफफफ मजा आ गया
you are right

User avatar
Dolly sharma
Gold Member
Posts: 777
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: मासूम ननद

Post by Dolly sharma » 12 Jan 2017 13:03

रात में राज ने एक बार दुबारा पायल को चोदना चाहा लेकिन पायल ने इनकार कर दिया ये कह कर कि उसे बहुत ज़्यादा तकलीफ़ हो रही है अभी नीचे चूत में तो अभी वो दोबारा उस से नही चुदवा सकती.

मजबूरन राज भी अपनी बहन के जिस्म के साथ लिपट कर सो गया.

उनके सोने के बाद में भी सो गई.

सुबह मेरी आँख अपने बेड पर हो रही कुछ हरकत की वजह से

खुली ऑर हल्की हल्की सिसकारियों ऑर आवाज़े भी आ रही थी . मैने

थोड़ी सी आँख खोल कर देखा तो राज दोबारा से अपने बहन की चूत

को चाट ने में मसरूफ़ था.ऑर पायल के मुँह से लज़्ज़त आमाीज़

सिसकारियाँ निकल रही थी . जैसे ही मैने थोड़ी सी हरकत की तो राज ने

जल्दी से पायल की थाइस के बीच में से छलाँग लगाई ऑर बेड से

नीचे उतर कर बाथरूम की तरफ चल पड़ा. पायल ने भी फॉरन से

आँखे बंद कर लीं. में मुस्कराई ऑर फिर आहिस्ता आहिस्ता पायल को

हिला कर जगाने लगी कि जाओ ऑर चाइ बना कर लाओ. पायल नींद से

उठने की अदाकारी करते हुए बेडरूम से बाहर निकल गई.

कुछ देर ही गुज़री तो मुझे बाथरूम के अंदर से कुछ ख़ुसर

फुसर की आवाज़ें आने लगीं. में उठ कर बाथ रूम के दरवाज़े के

पास गई ऑर अंदर की आवाज़ें सुनने की कोशिश करने लगी. मेरा शक

ठीक था बाथरूम में दोनो बहन भाई मौजूद थे. पायल

बाथरूम के दूसरे दरवाज़े से बाथरूम में आ गई थी अपने भाई

के पास. अंदर से आवाज़ आई,

पायल : भैया प्लीज़ छोड़ दो ना मुझे देखो भाभी भी जाग गई हैं.


राज: तुम खुद ही आई हो बाथरूम में मैने तो नही बुलाया था ना अब क्यूँ नखरे कर रही हो.

पायल : भैयाया तुम ग़लत समझ रहे हो में तो इस लिए आई थी कि आप को
कहूँ कि आ कर चाइ ले लो ऑर आप पता नही क्या समझे हो. पायल ने खिलखिलाते हुए कहा.

राज: अब आ ही गई हो तो थोड़ा सा इसे चूस ही लो यार.

पायल , जैसे खुद को छुड़ाते हुए, छोड़ो भैया मुझे, में चाइ रख कर आई हुई हूँ चूल्हेb पर.

साथ ही मुझे बाथरूम का दूसरा दरवाज़ा बंद होने की आवाज़ आई

ऑर पायल दूसरी तरफ से निकल गई ऑर में भी वापिस अपने बेड पर लेट

गई. कुछ ही देर में राज बाहर कमरे में आ गया ऑर साथ ही

पायल भी चाइ ले कर आ गई ऑर मेरे सिर पर हाथ फेर कर मुझे

उठाते हुए बोली, भाबी अब कैसी तबीयत है आपकी.

मैने आँखे खोलीं ऑर बोली, हां अब काफ़ी बेहतर है, रात में

नींद ठीक से आ गई है तो इस लिए अब सिर भी भारी नही है ऑर फ्रेश भी

फील कर रही हूँ में.

राज ऑर पायल दोनो बैठ कर चाइ पीने लगे ऑर में उठ कर

वॉशरूम में आ गई .

जैसे ही वॉशरूम में आई तो बेडरूम से दोबारा आवाज़ें आने लगीं,

राज: यार लो तो सही थोड़ी देर के लिए इसे मुँह में,

पायल : भैया क्या है ना आपको देख नही रहे कि में छाई पी रही हूँ.

राज: मेरी जान चाइ के साथ स्नेक्स के तोर पर ही ले लो मेरा लंड.

पायल हँसते हुए: गर्म गर्म चाइ में डुबो कर ना ले लूँ आपका लंड में बिस्कट की तरह????????????

राज भी इस बात पर हँसने लगा ऑर मेरी भी हँसी छूट गई उन दोनो

की शरारतों ऑर अठखेलियों पर.

नाश्ता करने के बाद राज ऑफीस चला गया ऑर पायल मेरे पास ही

घर पर रुक गई. पायल किचन समेटने लगी तो में अपने कमरे में

आ गई ऑर अपने पूरे कपड़े उतार कर नंगी हो कर लेट गई. क्योंकि रात

एक भाई के लंड से एक बहन की चुदाई देख कर मेरी अपनी चूत

में आग लगी हुई थी. कुछ देर में पायल चाइ बना कर लाई तो मुझे

नंगी लेटी देख कर चौंक उठी ऑर फिर मुस्करा कर बोली,

पायल : भाभी लगता है कि आप को बहुत गर्मी लग रही है.

में उसके सामने ही बड़ी बेशर्मी से अपनी चूत पर हाथ फेरती हुई

बोली, हां डार्लिंग बहुत गर्मी हो रही है मेरी चूत में आ थोड़ा सा

इसे प्यार कर के ठंडी तो कर दे.

पायल चाइ की ट्रे साइड टेबल पर रख कर मेरे पास बैठी ऑर मेरी चूत

पर अपना हाथ फेरती हुई बोली, भाभी सुबह ही सुबह क्या हो गया है

ये आपको.


मैने पायल के हाथ की उंगली को लिया ऑर उसे अपनी चूत के अंदर

डालती हुई बोली, देख तो सही कितनी गीली हो रही है मेरी चूत.

ये कहते हुए मैने पायल को अपने ऊपर खींच लिया ऑर उसके

होंठो को चूमने लगी. पायल को भी मज़ा आने लगा ऑर वो भी मेरा

साथ देने लगी. पीछे हाथ ले जा कर मैने उसकी पाजामी को

नीचे को खींचते हुए उसके हिप्स को नंगा कर दिया. पायल ने थोड़ा

ऊँची हो कर मुझे उसका पाजामा उतारने दिया ऑर फिर अपनी नंगी

चूत को मेरी चूत के ऊपर रगड़ने लगी.

अचानक से मैने पायल को पलट कर अपने नीचे कर लिया ऑर खुद

उसके ऊपर आकर उसके होंठो को चूमने लगी. पायल भी मुकम्मल

तोर पर मेरा साथ दे रही थी मैने अपनी ज़ुबान पायल के लिप्स के

बीच में पुश की तो वो मेरी ज़ुबान चूसने लगी. पायल के टॉप

के नीचे से हाथ डाल कर मैने उसके नेक्ड बूब्स को पकड़ लिया

ऑर उनको दबाने लगी.


Raat men Raj ne ek baar dobra Payal ko chodanaa chaha lekin Payal

ne inkaar kar diya ye kah kar ke use bahut jyaada takliyef ho rahi hai abhi

neeche choot men to abhi wo dobara us se nahi chudwaa sakti.

majbooran Raj bhi apni bahan ke jism ke saath lipat kar so gaya.

unke sone ke baad men bhi so gai.

Subah meri aankh apne bed par ho rahi kuch harkat ki wajah se

khuli or halki halki siskaarean or awaazain bhi arahi thi . maine

thodi si aankh khol kar dekha to Raj dobara se apne bahan ki choot

ko chaat ne men masroof tha.or Payal ke munh se lazzat aamaiz

siskaarea nikal rahi thi . jaise hi maine thodi si harkat ki to Raj ne

jaldi se Payal ki thighs ke beech mense chalaang lagaai or bed se

neeche utar kar bathroom ki taraf chal pada. Payal ne bhi foran se

aankhe band kar lin. men muskaraai or phir ahista ahista Payal ko

hilaa kar jagahane lagi ke jaao or chai bana kar laao. Payal neend se

uthne ki adakari karte hue bedroom se bahar nikal gai.

kuch der hi guzri to mujhe bathroom ke andar se kuch khusar

phusar ki awaazen aane lagin. men uth kar bath room ke darwazy ke

paas gai or andar ki awaazen sun ne ki koshish karne lagi. mere shak

theek tha bathroom men dono bahan bhai moujood the. Payal

bathroom ke dusare darwazy se bathroom men aa gai thi apne bhai

ke paas. andar se awaaz aai,

Payal : bhaiya plz chod do na mujhe dekho bhabhi bhi jaag gai hui

hain.


Raj: tum khud hi aai ho bathroom men men to nahi bulaya tha na

ab kyun nakhry kar rahi ho.

Payal : bhaiaya tum galat samjh rahe ho men to is liye aai thi ke aap ko

kahun ke aa kar chai le lo or aap pata nahi kya samajhy ho.
Payal ne khilkhilate hue kaha.

Raj: ab aa hi gai ho tho thoda sa ise choos hi lo yaar.

Payal , jaise khud ko churaate hue, chodo bhaiya mujhe, men chai

rakh kar aai hui hoon choolhy par.

saath hi mujhe bathroom ka doosra darwaza band hone ki awaaz aai

or Payal doosri taraf se nikal gai or men bhi wapis apne bed par let

gai. kuch hi der men Raj bahar kamare men aa gaya or saath hi

Payal bhi chai le kar aa gai or mere sir par haath pher kar mujhe

uthaate hue boli, bhabi ab kaisi tabiat hai aapki.

Maine aankhe kholin or boli, haan ab kaafi behtra hai, raat men

neend theek se aa gai hai to is liye ab sir bhi bhaari nahi hai or fresh bhi

feel kar rahi hoon men.

Raj or Payal dono baith kar chai peene lage or men uth kar

washroom men aa gai .

Jaise hi washroom men aai to bedroom se dobara awaazen aane

lagin,

Raj: yaar lo to sahi thodi der ke liye ise munh men,

Payal : bhaiya kya hai na aapko dekh nahi rahe ke men chai pee rahi

hoon.

Raj: meri jaan chai ke saath snakes ke tor par hi le lo mera lund.

Payal hansate hue: garm garm chai men duboo kar na le loon aapka

lund men biscuit ki tarah????????????

Raj bhi is baat par hansane laga or meri bhi hansi choot gai un dono

ki shararton or athkaileon par.

Naashta karne ke baad Raj office chala gaya or Payal mere paas hi

ghar par ruk gai. Payal kitchen samaitne lagi to men apne kamare men

aa gai or apne poore kapade utaar kar nangi ho kar let gai. kyonki raat

ek bhai ke lund se ek bahan ki chudaai dekh kar meri apni choot

men aag lagi hui thi. kuch der men Payal chai bana kar laai to mujhe

nangi leti dekh kar chounk uthi or phir muskaraa kar boli,

Payal : bhabhi lagta hai ke aap ko bahut garmi lag rahi hai.

men uske saamne hi badi besharmi se apni choot par haath pherti hui

boli, haan darling bahut garmi ho rahi hai meri choot men aa thoda sa

ise pyaar kar ke thandi to kar do.

Payal chai ki tray side table par rakh kar mere paas baithi or meri choot

par apna haath pherti hui boli, bhabhi subah hi subah kya ho gaya hai

ye aapko.


Maine Payal ke haath ki ungli ko liya or use apni choot ke andar

daalti hui boli, dekh to sahi kitni geeli ho rahi hai meri choot.

ye kahte hue maine Payal ko apne oopar kheench liya or uske

hontho ko choomne lagi. Payal ko bhi maza aane laga or wo bhi mera

saath dene lagi. peeche haath le jaa kar maine uske pajaamy ko

neeche ko kheenchte hue uske hips ko nanga kar diya. Payal ne thoda

oonchi ho kar mujhe uska pajama utaarne diya or phir apni nangi

choot ko meri choot ke oopar ragadne lagi.

Achanak se maine Payal ko palat kar apne neeche kar liya or khud

uske oopar aakar uske hontho ko choomne lagi. Payal bhi mukamal

tor par mera saath de rahi thi maine apni zubaan Payal ke lips ke

beech men push ki to wo meri zubaan choosne lagi. Payal ke top

ke neeche se haath daal kar maine uske naked boobs ko pakad liya

or unko dabaane lagi.



Post Reply