मासूम ननद complete

दोस्तो इस फोरम में आप हिन्दी और रोमन (Roman ) स्क्रिप्ट में नॉवल टाइप की कहानियाँ पढ़ सकते हैं
User avatar
Kamini
Gold Member
Posts: 1046
Joined: 12 Jan 2017 13:15

Re: मासूम ननद

Post by Kamini » 12 Jan 2017 14:00

डॉली कहानी बहुत ही मस्त है मैं आपकी इस कहानी की दीवानी हो चुकी हूँ

Re: मासूम ननद

Sponsor

Sponsor
 

User avatar
Dolly sharma
Gold Member
Posts: 697
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: मासूम ननद

Post by Dolly sharma » 12 Jan 2017 16:06

Kamini wrote:डॉली कहानी बहुत ही मस्त है मैं आपकी इस कहानी की दीवानी हो चुकी हूँ
थैंक्स कामिनी

आपको ये कहानी पसंद आ रही है ये मेरा सौभाग्य है

Phantom
Novice User
Posts: 45
Joined: 12 Oct 2014 14:13

Re: मासूम ननद

Post by Phantom » 12 Jan 2017 17:31

Truly it was amazing.........

User avatar
Dolly sharma
Gold Member
Posts: 697
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: मासूम ननद

Post by Dolly sharma » 08 Feb 2017 09:53

areeeeeeeeeeeeee is kahani ko to maine complete kar diya tha

huhhhh lagta hai fir se site me problem ho gai hai dont worry mere pas backup hai

User avatar
Dolly sharma
Gold Member
Posts: 697
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: मासूम ननद

Post by Dolly sharma » 08 Feb 2017 09:56

पायल को इस हालत में देख कर राज की तो जैसे फॅट कर हाथ में आ गई हो. उसके चेहरे का रंग उड़ गया ऑर माथे पर पसीना बहने लगा. वो फॉरन ही दरवाज़े की तरफ भागा मैं जल्दी से किचन में चली गई. राज ने बाहर झाँक कर देखा ऑर फिर अंदर आकर दरवाज़े को लॉक कर लिया ऑर तेज़ी के साथ पायल की तरफ बढ़ा.

पायल ने अपने दोनो बाज़ू फैलाए ऑर बोली, आजा मेरे राजा मुझे अपनी बाहों में ले लो.

राज उसकी शर्ट बेड से उठा कर उसकी तरफ बढ़ाते हुए बोला, पायल आख़िर क्या हो गया है तुमको आज.

पायल : भैया मुझे क्या हुआ है वोही हुआ है ना जो आप ने किया है मुझे. मेरे कंवारे जिस्म में आपने प्यार की आग लगा दी है जो अब हर वक़्त सुलगती रहती है अब आप ही बताओ कि में ये अपनी प्यास कैसे बुझाऊ.

राज उसकी टी-शर्ट को उसके गले में डालते हुए बोला, में ही बुझाउन्गा तेरी प्यास लेकिन थोड़ा टाइम तो आने दे ना मेरी जान.

लेकिन पायल थी कि मेरे प्लान के मुताबिक़ राज के साथ चिपकती जा रही थी ऑर अपने बूब्स को उसके सीने के साथ रगड़ रही थी.


इतने में मैने बाहर दरवाज़े पर नॉक किया तो उस वक़्त पायल ने अपना हाथ राज के लंड पर रखा हुआ था. राज के तो जैसे होश ही उड़ गये. उस ने जल्दी से उसे परे किया ऑर उसे बाथरूम की तरफ धकेला. मैने आवाज़ दी कि राज क्या कर रहे हो दरवाज़ा खोला ना, ऑर ये पायल कहाँ चली गई है.

पायल अब भी बाथरूम में जाने का नाम नही ले रही थी ऑर राज से चिपकी जा रही थी. राज ने जल्दी से उसे खुद पर से हटाया ऑर उसे बाथरूम की तरफ धकेलने लगा. उसे बाथरूम में फैंकते हुए वो वापिस दरवाज़ी की तरफ भागा ऑर फिर डोर खोल दिया. में अंदर गई तो राज के चेहरे का रंग उड़ा हुआ था. वो काफ़ी घबराया हुआ लग रहा था. मैने उसके चेहरे की तरफ देखा ऑर बोली, क्या बात है राज ठीक तो हो ना तुम.

राज घबरा कर बोला, हां हाँ ठीक हूँ में कुछ नही हुआ मुझे.

में राज के क़रीब आई ऑर आहिस्ता से उसके साथ चिपक गई ऑर बोली,

क्या बात है जानू नाराज़ हो क्या मुझ से.

मेरी बात सुन कर वो थोड़ा रिलॅक्स हुआ ऑर बोला, नही नही नाराज़ तो नही हूँ बस ऐसे ही थोड़ा थका हुआ हूँ. मैने उसके गालों पर एक किस की ऑर अपना हाथ उसकी पॅंट के ऊपर से उसके लंड की तरफ ले जाती हुई बोली, आओ फिर में तुमको थोड़ा रिलॅक्स कर दूँ.

मैने देखा कि उसका लंड अभी भी अकडा हुआ है. में उसके लंड को उसकी पॅंट के ऊपर से ही अपनी मुट्ठी में लेते हुए बोली,

जानू तुम्हारा तो लंड भी फुल टेन्षन में है इसकी टेन्षन तो रिलीव करनी ही पड़े गी मुझे अभी. ये कहते हुए मैं नीचे फर्श पर बैठी ऑर उसकी पॅंट की बेल्ट खोलने लगी. राज ने थोड़ी सी मज़ाहीमत की लेकिन फिर खुद से ही अपनी पॅंट नीचे उतार दी.

मैने नीचे बैठ कर उसके लंड को अपने मुँह में लिया ऑर चूसने लगी. धीरे धीरे उसके ऊपर के हिस्से को अपनी ज़ुबान से चाट ती ऑर फिर उसे मुँह में ले कर चूसने लगती. मेरी कमर दरवाज़े की तरफ थी ऑर दरवाज़ा खुला हुआ ही था ऑर मुझे पता था कि अभी थोड़ी देर में पायल भी अंदर देखने लगे गी.

मैने अपना चेहरा ऊपर किया ऑर राज की तरफ देखने लगी. मुझे उसके चेहरे के एक्सप्रेशन्स से सॉफ पता चल रहा था कि पायल दरवाज़े में आ चुकी है. मेरी नज़र राज के पीछे पड़ी हुई ड्रेसिंग टेबल पर पड़ी तो उसके शीशे में मुझे पायल का अक्स नज़र आया.

पायल अब राज की तरफ देख रही थी ऑर राज की नज़र भी उसकी बहन के ऊपर ही थी. मैने देखा कि पायल ने दरवाज़ी में खड़े खड़े अपने बूब्स को सहलाना शुरू कर दिया ऑर फिर आहिस्ता से अपनी शर्ट को ऊपर करते हुए अपने बूब्स को एक्सपोज़ कर लिया.


जैसे ही राज की नज़र अपनी बहन के नंगे खूबसूरत बूब्स पर पड़ी तो उस ने अपने दोनो हाथ मेरे सिर के दोनो तरफ रखे ऑर मेरे सिर को पकड़ कर धक्के लगाते हुए मेरे मुँह को चोदना शुरू कर दिया. में भी उसकी बॉल्स को सहलाते हुए उसके लंड को चूस रही थी ऑर आज मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था.

राज धक्के मारते हुए बोला, ऑर चूस ऑर चूस जल्दी कर जल्दी से निकाल दे मेरा पानी.

मैने उसके लंड को अपने मुँह से बाहर निकाला ऑर फिर उसे अपनी मुट्ठी में आगे पीछे करती हुई बोली, लेकिन पायल घर पर ही है वो आ सकती है किसी भी वक़्त इस तरफ तो हमे देख ही ना ले.

राज अपनी बहन की तरफ देखता हुआ बोला, कुछ नही हो गा वो नही आए गी तुम बस जल्दी से चूसो मेरे लंड का पानी. उधर पायल अब अपनी टाइट्स के अंदर हाथ डाल कर अपनी चूत को सहला रही थी ऑर आँखे बंद किए हुए खुद को ऑर्गॅज़म पर ले जाने की कोशिश कर रही थी ऑर ये सब वो अपने भाई के सामने कर रही थी ताकि उसके भाई की प्यास ऑर भी बढ़ सके. ऑर हो भी ऐसा ही रहा था कि जैसे जैसे पायल की मस्ती बढ़ रही थी वैसे वैसे ही राज में भी जोश आता जा रहा था ऑर वो पहले से भी ज़ोर ज़ोर से धक्के मार रहा था ऑर अपना लंड मेरे मुँह के अंदर पेल रहा था.

जैसे ही राज झड़ने वाला हुआ तो मैने उसका लंड अपने मुँह से निकाला ऑर उठ गई कि नही अब मुझे किचन में जाना है बाद में करेंगे कुछ. पायल भी दरवाज़े से हट गई ऑर राज मुझे रोकता ही रह गया लेकिन में वहाँ से चली आई.




कुछ ही देर में राज भी चेंज कर के बाहर आ गया . उस ने अपना एक बर्म्यूडा पहन लिया हुआ था. पायल ने जैसे ही अपने भाई को देखा तो उसे अपनी नज़रों से ही छेड़ने लगी. में किचन में ही रही तो मुझे बता कर बाहर को निकली ऑर आँख मार कर बोली,

भाभी में अभी आई पायल भैया से मिल कर.

हम दोनो हँसने लगीं.

पायल बाहर गई तो राज टीवी लाउंज में बैठ कर ही टीवी देख रहा था. पायल सीधी जा कर उसकी गोद में बैठ गई. राज घबरा गया ऑर उसे अपनी गोद से हटाने की कोशिश करने लगा किचन की तरफ देखते हुए. लेकिन पायल कहाँ मान ने वाली थी.

Post Reply