अब ज्यादा दर्द नहीं होगा

अन्तर्वासना और कामुकता से भरपूर छोटी छोटी हिन्दी सेक्सी कहानियाँ
User avatar
Sexi Rebel
Expert Member
Posts: 239
Joined: 27 Jul 2016 21:05
Contact:

अब ज्यादा दर्द नहीं होगा

Postby Sexi Rebel » 13 Nov 2016 14:58

अब ज्यादा दर्द नहीं होगा

हैल्लो फ्रेंड्स.. में राज एक बार आप सभी के सामने एक और घटना लेकर आया हूँ दोस्तों.. मेरी उम्र 22 साल है और में एक बहुत स्मार्ट लड़का हूँ और मेरी हाईट 5.11 इंच और मेरा लंड 6 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है। दोस्तों.. में अब अपनी कहानी शुरू करता हूँ.. यह एक सच्ची कहानी है। मेरी पहले वाली कहानी की तरह यह भी एक साल पहले की है। दोस्तों एक दिन मुझे कॉल आया और यह कॉल गुडगाँव से पारूल नाम की लड़की का था। उसका असली नाम नहीं बता सकता इसलिए नाम चेंज किया है। उसने अभी अभी बारहवीं की पढ़ाई पूरी थी और नई नई घर से बाहर कॉलेज लाईफ में प्रवेश किया था। एक दिन उसका मुझे कॉल आया और वो थोड़ी परेशान और डरी हुई थी.. क्योंकि लाईफ में पहली बार किसी लड़के से बात कर रही थी और वो भी सेक्स के लिए.. किसी को पता चल जाएगा तो? यह सब उसने मुझे कॉल में बताया था.. लेकिन जब मैंने उसे समझाया कि में किसी को कुछ नहीं बताऊँगा.. तब जाकर उसको मुझ पर थोड़ा विश्वास हुआ।

फिर उसने बताया कि मैंने इस साईट पर आपकी स्टोरी पढ़ी है और वो मुझे बहुत अच्छी लगी। आपने एक वर्जिन लड़की को कितने प्यार से संतुष्ट किया है.. इसलिए में आपको कॉल कर रही हूँ। तभी मैंने उससे पूछा कि क्या तुम भी वर्जिन हो? तो उसने कहा कि हाँ.. मुझे अभी तक किसी ने भी नहीं छुआ है और ना ही मैंने किसी को कुछ करने दिया है। तो मैंने पूछा कि फिर मुझसे सेक्स के लिए कैसे मन बना लिया? तो उसने कहा कि आपकी कहानी मुझे बहुत पसंद आई और मैंने अपनी फ्रेंड से सुना था कि अनुभवी लड़के के साथ सेक्स करने में बहुत मज़ा आता है। आपने इतनी वर्जिन गर्ल के साथ सेक्स किया हुआ है और में भी वर्जिन हूँ इसलिए में आपके साथ सेक्स करना चाहती हूँ। मैंने उससे पूछा कि फिर कब मिलना चाहती हो? तो उसने कहा कि अगले सप्ताह उसकी फ्रेंड का जन्मदिन है और में रात को उसके घर पर ही रुकने वाली हूँ.. तो उस रात हम मिल सकते है.. अगर आप फ्री हो तो। फिर मैंने कहा कि में आ जाऊंगा.. लेकिन क्या उसके घर पर उसके माता, पिता नहीं होंगे? तो उसने कहा कि उसके माता, पिता बिज़नेस के काम से दो दिन के लिए चंडीगढ़ गये है।

घर पर वो और उसके है और दादा, दादी नीचे के कमरे में सोते है और रात को ऊपर नहीं आते। तो मैंने पूछा कि.. तुम्हारी फ्रेंड का क्या? तो उसने कह दिया कि वो अपने बॉयफ्रेंड के साथ साईड वाले रूम में रहेगी और में उससे यह कहूंगी कि आप मेरे बॉयफ्रेंड है फिर उसने पूछा कि क्या आप ज्यादा उम्र के तो नहीं लगते? तो मैंने कहा कि में जवान और सुंदर लड़का हूँ। तुम्हारी फ्रेंड को शक भी नहीं होगा। फिर हमने एक सप्ताह तक चेटिंग की और उसने अपना मोबाईल नंबर भी मुझे दे दिया था और देर रात को हमारी बातें भी होती थी और कभी कभी फोन सेक्स भी। फिर एक सप्ताह के बाद उसका मुझे शाम को कॉल आया कि वो अपनी फ्रेंड के घर जा रही है और वो रात को मुझे कॉल कर देगी। में उसके फोन का इन्तजार करने लगा। रात 11 बजे तक कोई कॉल नहीं आया। मुझे लगा कि वो पागल बना रही थी। फिर 11:15 पर उसका कॉल आया.. वो बोली कि आप आ जाओ मैंने अपनी फ्रेंड को बोल दिया है उसका फ्रेंड भी आ गया है। में आपको नीचे लेने आ जाउंगी.. आप मुझे कॉल कर देना। में बताये हुए एड्रेस पर गया और उसे कॉल किया तो वो नीचे आई और दरवाजा खोला तो मैंने देखा कि मेरे सामने बेहद ही सेक्सी और ब्यूटीफुल लड़की पिंक कलर की ड्रेस में थी। में उसे देखता ही रह गया। मैंने उससे पूछा तुम पारूल हो तो उसने कहा हाँ में ही हूँ.. वो थोड़ी परेशान थी और बोली की जल्दी ऊपर चलो कोई देख लेगा। में उसके साथ ऊपर चला गया। तब तक उसकी फ्रेंड के दादा, दादी सो चुके थे और वो अपने बोयफ्रेंड साथ अपने रूम में थी। पारूल मुझे दूसरे रूम में ले गयी.. वो खुश भी थी और परेशान भी। मैंने उससे पूछा कि तुम इतनी परेशान क्यों हो?

पारूल : मुझे बहुत डर लग रहा है।

में : लेकिन किस से?

पारूल : मेरी फ्रेंड ने मुझे अभी अभी बताया है कि पहली बार सेक्स करने पर बहुत दर्द होता है।

में : तुम डरो मत ऐसा कुछ भी नहीं होता और में हूँ ना.. में तुम्हे बिल्कुल भी दर्द नहीं होने दूंगा और थोड़ा बहुत होगा ज्यादा नहीं.. जिसे तुम आराम से सह सकती हो।

फिर मैंने उससे बातें की और करीब एक घंटे के बाद वो थोड़ी शांत हुई। मैंने उसे कंधे पर छुआ तो वो स्माईल करने लगी.. फिर मैंने उसे गर्दन पर किस किया तो उसने अपनी दोनों आंखे बंद कर ली। में उसे किस करते हुए आँखों पर गया और फिर होंठ पर। उसके होंठ गुलाब की तरह मुलायम थे और मैंने उसे स्मूच करना शुरू कर दिया। वो कुछ नहीं कर रही थी.. लेकिन में उससे लगातार स्मूच करता रहा। फिर उसका भी जवाब आने लगा.. उसने अपने होंठ खोल दिए। यार क्या टेस्ट था उसके होंठो में? फिर हमने 10 मिनट तक स्मूच किया और स्मूच करते करते मैंने उसके टॉप में हाथ डालकर उसके बूब्स को दबाने, सहलाने लगा वो बहुत ज्यादा मुलायम थे और धीरे धीरे उनकी निप्पल टाईट हो रही थी। जब मैंने उसके बूब्स को प्रेस किया तो वो धीर धीरे आवाज़ निकालने लगी, में समझ गया था कि उसे मज़ा आ रहा है। फिर मैंने उसे बेड पर लेटा दिया और उसके ऊपर आकर उसकी गर्दन पर किस करने लगा और किस करते हुए में नीचे उसके बूब्स पर टॉप के ऊपर से ही किस करने लगा और निप्पल अपने दांत से पकड़ने लगा। उसने मेरे चहरे को पकड़ लिया और बोली कि आराम से करो.. में आपकी ही हूँ। तो में और जोश में आ गया और उसके बूब्स पर किस करता रहा और फिर उसके टॉप को ऊपर उठाकर बूब्स को सक करने लगा। फिर जीभ को नाभि में डाल दिया। वो तो मेरे ऐसा करने से जैसे पागल हो गयी। तो उसने मुझसे कहा कि प्लीज़ और तड़पाओ मत अब मेरे साथ सेक्स करो।

में : इतनी जल्दी नहीं.. आज तुम्हे सेक्स के पूरे मज़े दूंगा जिसे तुम जिंदगी भर याद करोगी।

पारूल : तो ठीक है फिर आप जो करना चाहो करो में मना नहीं करूंगी.. लेकिन अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा।

में : तुम कंट्रोल में मत रहो.. आऊट ऑफ कंट्रोल हो जाओ।

पारूल : ह्म्म्म्मम अह्ह्ह।

फिर उसने अपनी आंखे बंद कर ली और पूरे पूरे मज़े लेने लगी.. तो मैंने उसका टॉप निकाल दिया और फिर ब्रा भी.. वो क्या लग रही थी बिना टॉप के एकदम सेक्सी.. मानो कि उसके शरीर के हर हिस्से को तराश कर बनाया हो। मैंने उससे कहा कि तुम बहुत ज्यादा सुंदर हो तो वो शरमा गई।

पारूल : आज पहली बार किसी ने मेरी इतनी ज्यादा तारीफ की है और वो भी इतने प्यार से.. आप सही में बहुत अच्छे हो।

फिर में उसके बूब्स और निप्पल चूसने लगा वो ज़ोर ज़ोर से जोश में आवाजे निकालने लगी और मेरे सर को बूब्स पर ज़ोर से दबा रही थी और कह रही थी कि और ज़ोर से चूसो राज। तो मैंने भी उसके बूब्स के निप्पल चूस चूसकर उसके गुलाबी निप्पल लाल कर दिए और में बहुत ज्यादा प्यार से सक कर रहा था। फिर नीचे नाभि पर किस करते हुए चूत तक गया और लोवर के ऊपर से ही उसकी चूत पर किस किया.. वो कामुक हो रही थी और किस करते ही लोवर गीला हो गया.. फिर मैंने लोवर को नीचे करना शुरू किया उसने मेरे दोनों हाथ पकड़ लिए।
पारूल : प्लीज़ मुझे बहुत शरम आ रही है। प्लीज़ नीचे नहीं.. मैंने यह सब कभी नहीं किया।

में : मैंने ऊपर जो किया वो भी तुमने पहली बार किया था.. फिर क्यों तुम इतनी शरम महसूस कर रही हो?

तभी उसने हाथ हटा लिए और मैंने लोवर निकाल दिया और उसकी पेंटी पर किस करने लगा.. जो कि पूरी गीली थी और वो बहुत ज्यादा गरम भी हो रही थी। वो आहे भरने लगी और सिसकियाँ लेने लगी।

में : जान अभी से ही यह हाल है तो जब में तुम्हारी चूत चाटूंगा तब क्या होगा?

पारूल : राज अभी ही कंट्रोल नहीं हो रहा है.. तब तो में मार ही जाऊंगी।

में : में तुम्हे अभी नहीं मरने दूंगा.. क्योंकि अभी तो तुम्हे जन्नत के मज़े लेने है।

फिर मैंने उसकी पेंटी को अपने मुँह से निकाल दिया.. वाह क्या चिकनी चूत थी? उसकी गुलाबी, बहुत मुलायम और बहुत हॉट चूत.. में तो देखते ही उस पर टूट पड़ा और उसके दोनों पैरों को खोलकर चूसने लग गया।

पारूल : राज प्लीज़ रुक जाओ.. मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा है।

इतने में वो मेरे मुहं पर ही झड़ गई और उसका सारा जूस में पी गया और वो पहले से थोड़ी ठंडी हो गयी थी.. लेकिन उसे गरम करना ज़रूरी था। तो में फिर से उसकी चूत को सक करने लगा और दोनों बूब्स को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा और फिर धीरे धीरे वो गरम होने लगी और कामुक आवाज़े निकालने लगी।

पारूल : आहह मैंने इतना अच्छा तो आज तक कभी भी महसूस नहीं किया था.. अह्ह्ह धन्यवाद राज।

में : अभी तुम धन्यवाद मत बोलो.. क्योंकि यह तो अभी शुरुवात है।

पारूल : क्या तुम सच कह रहे हो राज.. फिर तो मुझे आज वो अहसास दे दो जो मैंने कभी महसूस नहीं किया।

में : जान में आज वो सब दूंगा तुम्हे जो तुम मुझसे चाहती हो।

फिर चूत सक करते करते मैंने अपनी पेंट निकाल दी.. अब में अंडरवियर में था। मैंने उससे कहा कि तुम मेरा अंडरवियर भी निकाल दो।

पारूल : नहीं मुझे बहुत शरम आ रही है।

में : प्लीज़ मेरे लिए प्लीज़ एक बार।

पारूल : ठीक है फिर उसने मेरा लोवर निकाला और मेरे लंड को देखते ही डर गयी।

पारूल : इतना बड़ा, मोटा लंड अंदर कैसे जाएगा?

में : जान यह दिखता मोटा है.. लेकिन चूत में बड़े आराम से चला जाएगा। तुमसे पहले भी तो यह बहुत सी लड़कियों की चूत में गया है ना।

मैंने प्यार से उसे समझाया तो वो समझ गयी और फिर वो कहने लगी कि प्लीज़ अब कुछ करो ना मुझसे रहा नहीं जा रहा है। तो मैंने कहा कि बस दो मिनट रुको और फिर से उसके निप्पल सक करने लगा.. वो पागल हो गयी निप्पल सक करते हुए उंगली से चूत पर सहला रहा था.. लेकिन अब उससे बिल्कुल भी कंट्रोल नहीं हुआ।

पारूल : राज प्लीज़ करो नहीं तो में मर जाऊंगी।

में : ठीक है जान में करता हूँ.. फिर मैंने लंड उसकी चूत पर लगाया और अंदर डालने की कोशिश की.. लेकिन लंड नहीं गया और फिर से ट्राई किया.. लेकिन फिर भी नहीं गया तो मैंने थोड़ा उसकी चूत का जूस लंड पर लगाया और फिर से ट्राई किया। मैंने उसे बहुत टाईट पकड़कर लंड को धक्का दिया तो लंड दो इंच चूत के अंदर चला गया और वो बहुत ज़ोर से चिल्लाने लगी उईईई माँ मर गई अहह अह्ह्ह्हह। मैंने उसके मुहं पर हाथ रख लिया। उसकी आंखो से आंसू आ गये फिर में रुक गया और प्यार से उसे किस करने लगा.. तो उसे भी थोड़ा अच्छा लगा और वो जब थोड़ी ठीक हुई.. तब मैंने पूछा कि अगर नहीं करना है तो हम नहीं करते। तो वो बोली कि करना है। तो मैंने थोड़ा दबाव डाला और एक झटका दिया और लंड 4 इंच अंदर चला गया। वो फिर से चिल्लाने लगी आअहह निकालो प्लीज़ बहुत दर्द हो रहा है। मैंने एक और धक्का लगाया और पूरा लंड अंदर चला गया और उसने अपनी आंखे बंद कर ली, दांत टाईट कर लिए.. लेकिन फिर से चिल्लाई नहीं।

पारूल : आअहह मुऊउंमाआअ प्लीज़ राज निकालो प्लीज़ में मर जाउंगी आअहह।

में : जान बस अब ज्यादा दर्द नहीं होगा.. सच में।

फिर में थोड़ी देर पारूल पर लेटा रहा और उसके बाद वो थोड़ी नॉर्मल हुई तो लंड को धीरे धीरे अंदर बाहर करने लगा और अब उसे भी मज़ा आ रहा था और वो भी अब गांड को उठा उठाकर पूरे मज़े लेने लगी.. मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और वो आआअहह माँ मरी की आवाज़ निकालने लगी। में उसे 20 मिनट तक लगातार चोदता रहा और फिर वो मुझसे बोली कि मुझे कुछ हो रहा है राज तो में समझ गया कि वो झड़ने वाली है और उसने मुझे बहुत टाईट पकड़ लिया और मेरी पीठ पर नाख़ून भी गड़ा दिए और वो आअहह उईईइ राज करते करते डिसचार्ज हो गयी.. लेकिन में अभी भी अपनी स्पीड में चुदाई कर रहा था। 12 मिनट तक चोदने के बाद जब में झड़ने लगा तो मैंने उससे कहा कि में झड़ने वाला हूँ। उसने कहा कि अंदर कुछ मत करना.. हमने कंडोम का उपयोग नहीं किया है।

तो मैंने कहा कि इसकी एक गोली आती है उसको खाने से तुम्हें कुछ नहीं होगा.. तुम डरो मत। तो मैंने अपनी स्पीड और ज्यादा कर दी और ज़ोर ज़ोर के धक्को के साथ में उसकी चूत में ही झड़ गया। वो बहुत ज्यादा खुश लग रही थी। वो मुझे किस करते हुए बोली कि धन्यवाद मुझे इतना प्यार करने के लिए और फिर मैंने भी उसे धन्यवाद किया। फिर में उसे उठाकर बाथरूम में ले गया और नहाने के लिए जैसे ही नीचे उतरा तो वो ठीक से खड़ी नहीं हो पा रही थी। फिर मैंने उसे समझाया कि पहली चुदाई के समय ऐसा ही होता है और थोड़ी देर में ठीक हो जाएगा। फिर हम दोनों एक साथ नहाए और वापस रूम में गये। रूम में जाकर देखा तो बेडशीट बहुत गन्दी हो गई थी। वो उसे बदलने लगी। मैंने कहा कि क्यों मज़ा नहीं आया क्या? उसने कहा कि मुझे बहुत ज्यादा मज़ा आया।

पारूल : आज में लाईफ में सब से ज्यादा खुश हुई हूँ। आप इतना ध्यान रखने वाले और प्यार से करने वाले हो.. मैंने आपसे अपनी वर्जिनिटी खत्म करवा कर एकदम ठीक किया है आज में बहुत बहुत ज्यादा खुश हूँ।

में : तो बेड शीट चेंज क्यों कर रही हो? और सेक्स नहीं करना क्या ?

वो बहुत खुश हो गयी और मुझसे गले लग गयी और उस रात सुबह के 6 बजे तक हमने सेक्स किया। उसकी फ्रेंड के दादा, दादी के उठने का समय हो गया था.. तो में अपने घर वापस आ गया और फिर उसने मुझे फोन पर बहुत किस किए और बोली कि मेरी चूत थोड़ा दर्द कर रही है और मुझे बार बार आपकी याद दिला रही है। तो मैंने कहा कि जब भी तुम्हे सेक्स करना हो मुझे बता देना में आ जाऊंगा। फिर उसके बाद हमने कई दिनों तक बहुत बार सेक्स किया और फिर वो कुछ दिनों के बाद अपनी पढ़ाई के लिए बेंगलोर चली गयी ।।


Return to “हिन्दी सेक्सी कहानियाँ”

Who is online

Users browsing this forum: No registered users and 3 guests