मासूम ननद complete

दोस्तो इस फोरम में आप हिन्दी और रोमन (Roman ) स्क्रिप्ट में नॉवल टाइप की कहानियाँ पढ़ सकते हैं
User avatar
Dolly sharma
Silver Member
Posts: 595
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: मासूम ननद

Post by Dolly sharma » 10 Jan 2017 13:02

राज मुस्काराया ऑर फिर उठ कर बाहर की तरफ चला गया ऑर पायल भी पीछे पीछे डोर लॉक करने ऑर उसे सी ऑफ करने के लिए चली गई. गेट पर भी राज ने पायल को अपनी बाहों में जकड़ा ऑर उसे किस करने लगा. फिर राज बोला, डार्लिंग थोड़ा सा मुँह में ले कर इसे नरम तो कर दो देखो सारा दिन मुझे तंग करे गा ये ऑफीस में.

पायल हँसी ऑर अपना हाथ राज की पॅंट के ऊपर से राज के लंड पर रख कर उसे दबाते हुए बोली, भैया तड़पने दो इसे इसी तड़प में तो मज़ा है. वापिस आओगे तो कुछ ना कुछ करूँगी इसका.

राज: प्रोमिस है ना.

पायल : नही जी प्रोमिस शोमिस कोई नही अगर मौका मिला तो

ये कहते हुए पायल ने उसे बाहर की तरफ पुश किया ऑर फिर राज घर से निकल गया. पायल अपना ड्रेस ठीक करती हुई वापिस आई ऑर बर्तन समेट कर किचन में चली गई ऑर में भी दोबारा बेड पर लेट गई. थोड़ी ही देर में पायल चाइ के दो कप बना कर बेडरूम में आ गई ऑर लाइट जलाते हुए बोली, क्या बात है भाभी आज उठना नही आप ने.

में अंगड़ाई लेती हुई बोली, रात तू ने मुझे डरा ही दिया था नींद में तो नींद ही खराब हो गई थी. क्या हो गया था तुझे रात को.

पायल दूसरी तरफ बेड की बॅक से तकिया लगा कर बैठ ते हुए बोली, भाभी लगता है कि रात को सोते में भी भैया ने फिर मुझे तुम्हारी जगह ही समझ लिया था वोही हरकतें कर रहे थे इसी लिए तो में उठ कर दूसरी तरफ आ गई थी.

पायल ने मासूमियत से पूरी की पूरी बात छुपाते हुए कहा.

में मुस्करा कर बोली, अरे यार तो फिर क्या हुआ मज़े करने देती उसे ऑर खुद भी मज़े करती, इसकी तो यही आदत है सारी रात सोते में भी मुझे तंग करता रहता है अब तो में आदि हो गई हूँ इसकी.

पायल भी हँसने लगी ऑर फिर हम दोनो चाइ पीने लगे. चाई पीते हुए में अपने एक हाथ से पायल के शोल्डर को सहला रही थी. मैने उसे पूछा

पायल जब तुम्हारे भैया तुम्हें छू रहे थे तो तुमको कैसा लगा था.

पायल का चेहरा सुराख हो गया ऑर बोली, भाभी लग तो ठीक रहा था लेकिन भाई हैं ना मेरे इस लिए अजीब लग रहा था.

में पायल के क़रीब हो गई ऑर अपना हाथ उसकी गर्दन पर उसके बालों में रखते हुए आहिस्ता आहिस्ता अपने होंठ उसके होंठो के पास ले जाने लगी. ऑर धीरे से बोली, पायल तुम हो ही इतनी खूबसूरत कि कोई भी कैसे रुक सकता है तुम से दूर.

ये कहते हुए मैने उसके होंठो को चूमना शुरू कर दिया.

पायल कसमसाई, भाभी आप फिर से शुरू होने लगी हो ना.

लेकिन उसके जुमले को पूरा होने से पहले ही मैने अपने होंठो में जज़्ब कर लिया ऑर उसके निचले होंठ को अपने होंठो में ले कर चूमने ऑर चूसने लगी. मेरे हाथ उसके बालों को सहला रहे थे ऑर दूसरा हाथ उसकी कमर पर आ गया ऑर में उसकी कमर को सहलाते हुए उसके होंठो को चूमने लगी.

आहिस्ता आहिस्ता मैने अपने होंठ पायल के नेक्ड शोल्डर पर ला कर उसके मुलायम गोरे गोरे कंधों को चूमना शुरू कर दिया. पायल की आँखे भी बंद होने लगी थी . मैने आहिस्ता से पायल को नीचे तकिए पर लिटा दिया ऑर झुक कर उसके गोरे गोरे सीने पर किस करने लगी. फिर मैने पायल के टॉप की डोरियाँ नीचे को कर के उसके बूब्स को बाहर निकाला ऑर नंगे कर दिया. मैने मुस्करा कर पायल की तरफ देखा तो उस ने एक लम्हे के लिए अपनी आँखेखोल कर फिर से बंद कर लीं.

मैने अपने होंठ पायल के एक निपल पर रखे ऑर उसे चूम लिया साथ ही पायल के जिस्म में एक झुरजुरी सी फैल गई. अब आहिस्ता आहिस्ता मैने पायल के निपल को अपनी ज़ुबान से सहलाना शुरू कर दिया ऑर फिर अपने होंठो में ले कर चूसने लगी. पायल के गुलाबी निपल को चूसने का मेरा पहला मौका था कि में किसी दूसरी लड़की के बूब्स को चूम ऑर चूस रही थी लेकिन मुझे भी एक अजीब सा लुफ्त आ रहा था. मेरा दूसरा हाथ पायल के दूसरे बूब को सहलाता हुआ नीचे को जाने लगा ऑर मैने अपना हाथ पायल के बरमूडे के अंदर डाल दिया ऑर उसकी चूत को अपने हाथ से सहलाने लगी. उसकी चूत गीली होनी शुरू हो गई हुई थी.


मैने सीधी हो कर अपना टॉप उतारा ऑर अपना ऊपरी बदन नंगा कर लिया पायल ने आँखे खोल कर फॉरन ही मेरी तरफ देखा जब मैने अपने हाथ ऑर होंठ उसके जिस्म से हटाए. उस ने जब मेरे ऊपरी गोरे बदन को नंगा देखा तो उसके चेहरे पर भी एक मुस्कराहट फैल गई. इस बार उस ने अपनी आँखे बंद नही की ऑर मेरे बूब्स की तरफ देखती रही. मैने उसकी तरफ देखते हुए अपने दोनो बूब्स पर हाथ फेरा ऑर फिर एक ब्रेस्ट को अपने हाथ में पकड़ कर उसके निपल को आगे करते हुए पायल के होंठो पर रख दिया.

पायल मुस्कराई ऑर बहुत ही आहीस्तगी से मेरे निपल को चूम लिया. पहली बार किसी लड़की ने मेरे निपल को चूमा था. मैने अपने बूब को उसके होंठो पर दबा दिया ऑर पायल ने भी अपने होंठो को खोल कर मेरे निपल को अपने होंठो में लिया ऑर उसे चूसने लगी. पायल के कंवारे होंठो के बीच अपने निपल को चुस्वाते हुए मुझे एक अजीब सा मज़ा आ रहा था. मैने अपना हाथ दोबारा पायल के बर्म्यूडा में डाला ओर उसकी चूत से खेलने लगी. मेरी उंगली उसकी चूत के सूराख को छू रही थी ऑर उसके अंदर दाखिल होना चाह रही थी. में उसकी चूत के दाने को रगड़ रही थी ऑर उसकी वजह से पायल के जिस्म में बिजली सी भर रही थी ऑर मेरे निपल को चूसने की ताक़त में इज़ाफ़ा होता जा रहा था. कभी आहिस्ता से वो मेरे निपल को काट भी लेती थी.


कुछ देर तक पायल से अपना निपल चुसवाने के बाद में उठी ऑर पायल की टाँगो की तरफ आ गई . मैने उसके बरमूडा को पकड़ कर खींचा ऑर उतार दिया. अब पायल का निचला जिस्म बिल्कुल नंगा हो गया. पायल ने फॉरन ही अपने हाथ अपनी चूत पर रख लिए. मैने झुक कर उसकी दोनो थाइस को चूमा ऑर आहिस्ता आहिस्ता अपनी ज़ुबान से चाट ती हुई ऊपर को उसकी चूत की तरफ आने लगी. फिर मैने उसके दोनो हाथों पर किस किया जो कि उसकी चूत पर रखे हुए थे. आहिस्ता से मैने उसके हाथों को उसकी चूत पर से हटाया तो उस ने कोई मज़ाहीमत नही की ऑर अपनी चूत को मेरे सामने एक्सपोज़ कर दिया.


मेरी नज़र पायल की थाइस के सेंटर पर थी. जहाँ पायल की कंवारी चूत थी, जिस के ऊपर के हिस्से ऑर इर्दगिर्द एक भी बाल नही था. पायल की चूत के मोटे मोटे बाहर के फोल्ड्स आपस में जुड़े हुए थे. बालों के बाघैर कंवारी चूत किसी बहुत ही छोटी सी बच्ची की चूत का मंज़र पेश कर रही थी. दोनो बेरूनी फोल्ड्स के बीच से पिंक कलर की अंदर की स्किन फोल्ड्स का कुछ हिस्सा नज़र आ रहा था जिस से ये अंदाज़ा हो सकता था कि दोनो अंदर की फोल्ड्स किस क़दर पिंक ऑर नर्म होगी. दोनो फोल्ड्स के निचले हिस्से में जहाँ पर चूत की लकीर ख़तम होती है वहाँ पर पानी का एक क़तरा चमक रहा था. पायल की कंवारी चूत से निकल रहे चूत के रस का क़तरा जो कि अपने गाढ़े पन की वजह से उसी जगह पर जमा हुआ था ऑर आगे नही बढ़ रहा था. पायल की कंवारी चूत के क़तरे की चमक से मेरी आँखे भी चमक उठी ऑर में वो करने पर मजबूर हो गई जो कि मैने आज तक कभी किया नही था सिर्फ़ मूवीस में देखा था.

मैने पायल की दोनो थाइस को खोल कर बीच में जगह बनाई ऑर वहाँ पर बैठ कर नीचे को झुकी ऑर अपनी ज़ुबान की नौक को निकाल कर पायल की चूत की लकीर के बिल्कुल निचले हिस्से में चमक रहे उसकी चूत के रस के क़तरे को अपनी ज़ुबान पर ले लिया. ज़िंदगी में पहली बार किसी किसी औरत की चूत के पानी को टेस्ट कर रही थी में. हल्का सा मीठा मीठा सा अजीब सा ज़ायक़ा था पायल की चूत के पानी का.

जैसे ही मेरी ज़ुबान ने पायल की चूत को छूआ तो पायल का जिस्म कांम्प उठा. उस ने आँखे खोल कर मेरी तरफ देखना शुरू कर दिया. मैने दोबारा से झुक कर पायल की चूत के बाहर के मोटे लिप्स पर अपने गुलाबी होंठ रखे ऑर उसे एक किस दिया. पायल के जिस्म को जैसे झटके से लग रहे थे. आहिस्ता आहिस्ता मैने पायल की चूत के ऊपर किस करने शुरू कर दिए. फिर मैने अपनी ज़ुबान की नौक बाहर निकाली ऑर आहिसा आहिस्ता ऊपर से नीचे को अपनी ज़ुबान उसकी चूत की लकीर पर फेरने लगी. पायल की चूत ने ऑर भी पानी छोड़ना शुरू कर दिया था.

अपने दोनो हाथो की एक एक उंगली पायल की चूत के बाहर के फोल्ड्स पर रख कर आहिस्ता से उसकी चूत को खोला तो आगे उसकी चूत की गुलाबी फोल्ड्स नज़र आने लगीं. बिल्कुल पतली पतली ऑर छोटी फोल्ड्स थी जो कि सॉफ शो कर रही थी कि ये चूत अभी तक बिल्कुल कंवारी है ऑर इसके अंदर अभी तक किसी भी लंड को जाना नसीब नही हुआ है. में दिल ही दिल में मुस्कराई कि खुश क़िस्मत है राज जो उसे अपनी बहन की कंवारी चूत को खोल ने का मौक़ा मिले गा.

नीचे झुक कर पायल की चूत की एक गुलाबी फोल्ड को अपने दोनो होंठो के बीच लिया ऑर उसे आहिस्ता से सक करने लगी. दोनो गुलाबी फोल्ड्स के बिल्कुल ऊपर जहाँ पर वो मिल रही थी छोटा सा बिल्कुल छोटा सा पायल की चूत का दाना नज़र आ रहा था. मैने जैसे ही उसे देखा तो अपनी उंगली से उसे मसलने लगी. आहिस्ता आहिस्ता उस पर अपनी उंगली फेरने के साथ ही पायल की चूत से जैसे पानी निकलने की रफ़्तार ओर भी बढ़ गई. धीरे धीरे मैने उसकी चूत के दाने को अपनी ज़ुबान से चाटना शुरू कर दिया ऑर फिर जैसे ही अपने दोनो होंठो को उसके ऊपर रख कर ज़ोर से सक किया तो पायल तो तड़प ही उठी,

भाभीईईईईईईईईईईईईईई ओाााआआआआआआआआआआआआआआआआआआहह ह क्या आआआआआआआआआ कर दियाआआआआआआआआआआआआआआआआआअ ऊऊऊऊऊऊऊओिईईईईईईईईईईिकककककककककककककककककककचह

में मुस्करा दी ऑर फिर अपनी ज़ुबान को नीचे को लाते हुए पायल की कंवारी चूत के बिल्कुल तंग ऑर टाइट सूराख के अंदर डालने लगी. बड़ी मुश्किल से मेरी ज़ुबान पायल की चूत के अंदर दाखिल हो रही थी. मैने आहिस्ता आहिस्ता अपनी ज़ुबान को पायल की चूत के अंदर बाहर करना शुरू कर दिया. पायल से भी अब बर्दाश्त करना मुश्किल हो रहा था उस ने अपना हाथ मेरे सिर पर रखा ऑर मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाते हुए अपनी चूत को ऊपर उठा कर मेरे मुँह में पुश करते हुए एकदम से झड़ने लगी. पायल का निचला जिस्म बुरी तरह से झटके खा रहा था ऑर पानी उसकी चूत से निकल रहा था. मेरी ज़ुबान पायल की चूत के अंदर थी ऑर मुझे उसकी टाइट चूत के मसल्स सुकड़ते ऑर फैलते हुए बिल्कुल सॉफ तोर पर महसूस हो रहे थे.


पायल की थाइस को सहलाते हुए में आहिस्ता आहिस्ता उसे रिलॅक्स करने लगी उसकी आँखे बंद थी ऑर साँस तेज चल रहा था. गोरे गोरे बूब्स तेज़ी के साथ ऊपर नीचे को हो रहे थे. मैने उसके साथ लेट ते हुए उसे अपनी बाहों में समेटा लिया ऑर पायल ने भी अपना मुँह मेरे सीने में छुपाते हुए अपनी आँखे बंद कर लीं. अब में आहिस्ता आहिस्ता उसकी कमर पर हाथ फेरते हुए उसे शांत कर रही थी. पहली बार इतना ज़्यादा मज़ा लेने के बाद पायल एकदम से नींद के आगोश में चली गई. ऑर मैने उस स्लीपिंग ब्युटी के माथे को एक बार चूमा ऑर उठ कर किचन में आ गई.


Raj muskaraya or phir uth kar bahar ki taraf chala gaya or Payal bhi peeche peeche door lock karne or use see off karne ke liye chali gai. gate par bhi Raj ne Payal ko apni bahon men jakara or use kiss karne lga. phir Raj bola, darling thoda sa munh men le kar ise naram to kar do dekho saara din mujhe tang kare ga ye office men.

Payal hansi or apna haath Raj ki pant ke oopar se Raj ke lund par rakh kar use dabaate hue boli, bhaiya tadapne do ise isi tadap men to maza hai. wapis aao gaye to kuch na kuch karungi iska.

Raj: paromise hai na.

Payal : nahi g paromise shormise koi nahi agar mouka mila to

ye kahte hue Payal ne use bahar ki taraf push kya or phir Raj ghar se nikal gaya. Payal apna dress theek karti hui wapis aai or bartan smait kar kitchen men chali gai or men bhi dobara bed par let gai. thodi hi der men Payal chai ke do cup bana kar bedroom men aa gai or light jalaate hue boli, kya baat hai bhabhi aaj uthna nahi aap ne.

Men angraai leti hui booli, raat tu ne mujhe draa hi diya tha neend men to neend hi kharab ho gai thi. kya ho gaya tha tujhe raat ko.

Payal doosri taraf bed ki back se taki lga kar baith te hue boli, bhabhi lagta hai ke raat ko sote men bhi bhaiya ne phir mujhe tumhari jagah hi samajh liya tha wohi harkatain kar rahe the isi liye to men uth kar doosri taraf aa gai thi.

Payal ne masoomyaat se poori ki poori baat chupaate hue kaha.

Men muskaraa kar boli, are yaar to phir kya hua maze karne deti use or khud bhi maze karti, iski to yahi aadat hai saari raat sote men bhi mujhe tang karta rahata hai ab to men aadi ho gai hoon iski.

Payal bhi hansane lagi or phir hum dono chai peene lage. chaai peete hue men apne ek haath se Payal ke shoulder ko sahlaa rahi thi. maine use poocha

Payal jab tumhare bhaiya tumhen choo rahe the to tumko kaisa laga tha.

Payal ka chehra surakh ho gaya or boli, bhabhi lag to theek raha tha lekin bhai hain na mere is liye ajeeb lag raha tha.

Men Payal ke qreeb ho gai or apna haath uski gardan par uske balon men rakhte hue ahista ahista apne honth uske hontho ke paas le jaane lagi. or dheere se boli, Payal tum ho hi itni khoobsoorat ke koi bhi kaise ruk sakta hai tum se door.

Ye kahte hue maine uske hontho ko choomna shuru kar diya.

Payal kasmasai, bhabhi aap phir se shuru hone lagi ho na.

Lekin uske jumle ko poora hone se pahle hi maine apne hontho men jazab kar liya or uske nichle honth ko apne hontho men le kar choomne or choosne lagi. mere haath uske balon ko sahlaa rahe the or doosra haath uski kamar par aa gaya or men uski kamar ko sahlaate hue uske hontho ko choomne lagi.

Ahista ahista maine apne honth Payal ke naked shoulder par laa kar uske mulaayam gore gore kandhun ko choomna shuru kar diya. Payal ki aankhe bhi band hone lgin thi . maine ahista se Payal ko neeche takie par litaa diya or jhuk kar uske gore gore seene par kiss karne lagi. phir maine Payal ke top ki dooryan neeche ko kar ke uske boobs ko bahar nikaala or naked kar diya. maine muskaraa kar Payal ki taraf dekha to us ne ek lamhe ke liye api aankhekhol kar phir se band kar lin.

Maine apne honth Payal ke ek nipple par rakhy or use choom liya saath hi Payal ke jism men ek jhurjhuri si phail gai. ab ahista ahista maine Payal ke nipple ko apni zubaan se sahlaana shuru kar diya or phir apne hontho men le kar choosne lagi. Payal ke gulaabi nipple ko choosne ka mera pahla mouka tha ke men kisi doosri ladki ke boobs ko choo or choos rahi thi lekin mujhe bhi ek ajeeb sa lutf aa raha tha. mera doosra haath Payal a ke dusare boob ko sahlaata hua neeche ko jaane laga or maine apna haath Payal ke bermude ke andar daal diya or uski choot ko apne haath se sahlaane lagi. uski choot geeli huna shuru ho gai hui thi.


Maine seedhi ho kar apna top utara or apna oopari badan nanga kar liya Payal ne aankhe khol kar foran hi meri taraf dekha jab maine apne haath or honth uske jism se hataayee. us ne jab mere oopari gore badan ko nanga dekha to uske chehare par bhi ek muskarahat phail gai. is baar us ne apni aankhian band nahi kin or mere boobs ki taraf dekhti rahi. maine uski taraf dekhte hue apne dono boobs par haath phera or phir ek breast ko apne haath men pakad kar uske nipple ko aage karte hue Payal ke hontho par rakh diya.

Payal muskaraai or bahut hi ahistgi se mere nipple ko choom liya. pahli baar kisi ladki ne mere nipple ko chooma tha. maine apne boob ko uske hoton par daba diya or Payal ne bhi apne hontho ko khol kar mere nipple ko apne hontho men liya or use choosne lagi. Payal ke kanware hoton ke beech apne nipple ko chuswaate hue mujhe ek ajeeb sa maza aa raha tha. maine apna haath dobar Payal ke bermuda men daala or uski choot se khelne lagi. meri ungli uski choot ke soorakh ko choo rahi thi or uske andar daakhil huna chah rahi thi. men uski choot ke daane ko ragad rahi thi or uski wajah se Payal ke jism men bijli si bhar rahi thi or mere nipple ko choosne ki taqat men izaafa hota jaa raha tha. kabhi ahista se wo mere nipple ko kaat bhi leti thi.


kuch der tak Payal se apna nipple chuswaane ke baad men uthi or Payal ki taango ki taraf aa gai . maine uske bermude ko pakad kar kheencha or utaar diya. ab Payal ka nichla jism bilkul nanga ho gaya. Payal ne foran hi apne hath apni choot par rakh liye. maine jhuk kar uski dono thighs ko chooma or ahista ahista apni zubaan se chaat ti hui oopar ko uski choot ki taraf aane lagi. phir maine uske dono hathon par kiss kya jo ke uski choot par rakhy hue the. ahista se maine uske hathon ko uski choot par se hataya to us ne koi mazahimat nahi ki or apni choot ko mere saamne expose kar diya.


Meri nazar Payal ki thighs ke centre par thi. jahan Payal ki kanwaari choot thi, jis ke oopar ke hisse or irdgird ek bhi baal nahi tha. Payal ki choot ke moote moote bahar ke folds aapas men jude hue the. balon ke baghair kanwari choot kisi bahut hi chooti si bachhi ki choot ka manzaar paish kar rahi thi. dono berooni folds ke beech se pink color ki andar ki skin folds ka kuch hissa nazar aa raha tha jis se ye andaza ho sakta tha ke dono andar ki folds kis qadar pink or narm hun gi. dono folds ke nichle hisse men jahan par choot ki lakeer khatam hoti hai waha par paani ka ek qatra chamak raha tha. Payal ki kanwari choot se nikal rahe choot ke rus ka qatra jo ke apne gaa rahe pan ki wajah se usi jagah par jama hua tha or aage nahi beh raha tha. Payal ki kanwari choot ke qatry ki chamak se meri aankhe bhi chamak uthi or men wo karne par majboor ho gai jo ke maine aaj tak kabhi kya nahi tha sirf movies men dekha tha.

Maine Payal ki dono thighs ko khol kar beech men jagah banai or waha par baith kar neeche ko jhuki or apni zubaan ki nouk ko nikaal kar Payal ki choot ki lakeer ke bilkul nichle hisse men chamak rahe uski choot ke rus ke qatry ko apni zubaan par le liya. zindagi men pahli baar kisi kisi aurat ki choot ke paani ko taste kar rahi thi men. halka sa meetha meetha sa ajeeb sa zaiqa tha Payal ki choot ke paani ka.

Jaise hi meri zubaan ne Payal ki choot ko chooa to Payal ka jism kaanmp utha. us ne aankhe khol kar meri taraf dekhna shuru kar diya. maine dobara se jhuk kar Payal ki choot ke bahar ke moote lips par apne gulaabi honth rakhy or use ek kiss diya. Payal ke jism ko jaise jhatke se lag rahe the. ahista ahista maine Payal ki choot ke oopar kiss karne shuru kar diye. phir maine apni zubaan ki nouk bahar nikaali or ahisa ahista oopar se neeche ko apni zubaan uski choot ki lakeer par pherne lagi. Payal ki choot ne or bhi paani chodanaa shuru kar diya tha.

apne dono hathoon ki ek ek ungli Payal ki choot ke bahar ke folds par rakh kar ahista se uski choot ko khola to aage uski choot ki gulaabi folds nazar aane lagin. bilkul patle patle or choti folds thi jo ke saaf show kar rahi thi ke ye choot abhi tak bilkul kanwari hai or iske andar abhi tak kisi bhi lund ko jaana naseeb nahi hua hai. men dil hi dil men muskaraai ke khush qismat hai Raj jo use apni bahan ki kanwari choot ko khol ne ka mouqa mile ga.

Neeche jhuk kar Payal ki choot ki ek gulaabi fold ko apne dono hoton ke beech liya or use ahista se suck karne lagi. dono gulaabi folds ke bilkul oopar jahan par wo mil rahi thi chota sa bilkul chota sa Payal ki choot ka daana nazar aa raha tha. maine jaise hi use dekha to apni unlgi se use maslane lagi. ahista ahista us par apni ugnli pherne ke sath hi Payal ki choot se jaise paani nikalne ki raftar or bhi badh gai. dheere dheere maine uski choot ke daane ko apni zubaan se chaidna shuru kar diya or phir jaise hi apne dono hontho ko uske oopar rakh kar zor se suck kiya to Payal to tadap hi uthi,

bhabheeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeeee oaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaahhhhhhhhhhhhhhhhhhhhhh h kya aaaaaaaaaaaaaaaaaa kar diyaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaaa oooooooooooooooiiiiiiiiiiiiiicccccccccccccccccccchhhhhhhhhhhhhhhhhh

men muskara di or phir apni zubaan ko neeche ko laate hue Payal ki kanwari choot ke bilkul tang or tight soorakh ke andar daalne lagi. badi mushkil se meri zubaan Payal ki choot ke andar daakhil ho rahi thi. maine ahista ahista apni zubaan ko Payal ki choot ke andar bahar karna shuru kar diya. Payal se bhi ab bardasht karna mushkil ho raha tha us ne apna haath mere si rpar rakha or mere sir ko apni choot par dabate hue apni choot ko oopar uthaa kar mere munh men push karte hue ekdam se jharne lagi. Payal ka nichla jism buri tarah se jhatke khaa raha tha or paani uski choot se nikal raha tha. meri zubaan Payal ki choot ke andar thi or mujhe uski tight choot ke muscles sukadte or phailte hue bilkul saaf tor par mahsoos ho rahe the.


Payal ki thighs ko sahlaate hue men ahista ahista use relax karne lagi uski aankhe band thi or saans tej chal raha tha. gore gore boobs tezi ke saath oopar neeche ko ho rahe the. maine uske sath let te hue use apni bahon men samaita liya or Payal ne bhi apna munh mere seene men chupaate hue apni aankhe band kar lin. ab men ahista ahista uski kamar par haath pherate hue use shaant kar rahi thi. pahli baar itna jyaada maza lene ke baad Payal ekdam se neend ki aagosh men chali gai. or maine us sleeping beauti ke maathe ko ek baar chooma or uth kar kitchen men aa gai.

User avatar
Dolly sharma
Silver Member
Posts: 595
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: मासूम ननद

Post by Dolly sharma » 10 Jan 2017 13:04

दोपहर में जब राज घर आया तो पायल अपने रूम में थी. उस ने नहा कर एक टी-शर्ट ऑर टाइट लेग्गी पहन ली थी रेड कलर की जिस में उसका जिस्म बहुत ही सेक्सी नज़र आ रहा था. राज के आने पर गेट में ने ही खोला. राज ने जब चेंज कर लिया तो में किचन में आ गई ताकि खाना गरम कर के निकाल सकूँ. जैसे ही राज ने मुझे किचन में जाते देखा तो वो टीवी लाउंज से उठ कर पायल के कमरे की तरफ चला गया. मुझे पता था कि वो यही करे गा.


किचन से निकल कर मैने छुप कर पायल के रूम में झाँका तो देखा के पायल राज के आगे आगे भाग रही है कमरे में ऑर राज उसे पकड़ने की कोशिश कर रहा है. कमरा कॉन सा बहुत बड़ा था जो वो उसके हाथ ना आती जल्द ही राज ने उसको हाथ से पकड़ा ऑर खींच कर अपने सीने से लगा लिया. पायल मचलती हुई बोली,

पायल : छोड़ दो भैया मुझे वरना में ज़ोर से चीखूँगी ओर भाभी आ जाएँगी फिर.

राज: क्या है ना तुझे दो मिनट के ले चुप नही रह सकती में तुझे खा तो नही जाउन्गा ना.

पायल हँसते हुए बोली, कोशिश तो खाने की ही कर रहे हो आप ना.

राज अपने होटो को पायल के गालों की तरफ ले जाते हुए बोला.

राज ने अपनी बहन पायल को अपनी बाहों में समेटा हुआ था ऑर अब अपने होंठो को उसके होंठो पर रखने में कामयाब हो चुका था. जैसे जैसे राज पायल के लिप्स को किस कर रहा था वैसे वैसे ही पायल का विरोध भी ख़त्म होता जा रहा था. वो भी आहिस्ता आहिस्ता खुद के जिस्म को ढीला छोड़ती हुई खुद को अपने भाई के सुपुर्द कर चुकी थी. राज अब आहिस्ता आहिस्ता पायल के होंठो को चूम रहा था ऑर फिर उसके निचले होंठ को अपने होंठो में ले कर चूसने लगा.

पायल के बाज़ू भी अपने भाई की कमर के गिर्द लिपट चुके थे ऑर वो भी आहिस्ता आहिस्ता उसके जिस्म को सहला रही थी. मैने देखा कि राज ने अपनी ज़ुबान को पायल के मुँह के अंदर दाखिल करने की कोशिश करते हुए उसकी टी-शर्ट को ऊपर उठाना शुरू कर दिया. पायल राज के हाथ पर अपना हाथ रखती हुई बोली,

भैया, भाभी आ जाएँगी ना करें प्लीज़ कुछ भी

राज: नही वो नही आएगी.

पायल : भाभी हैं कहाँ पर???

राज: वो किचन में है तुम उसकी फिकर मत करो बस में जल्दी से चला जाऊ गा.

ये कहते हुए राज ने पायल की टी-शर्ट को ऊपर किया ऑर नीचे उसकी पिंक कलर की ब्रस्सिएर में छुपे हुए बूब्स उसके भाई की नज़रों के सामने आ गये. राज ने अपनी बहन की ब्रस्सिएर के ऊपर से ही उसकी एक ब्रेस्ट को अपनी मुट्ठी में लिया ऑर उसे आहिस्ता आहिस्ता दबाने लगा. ऊपर वो अपनी ज़ुबान को पायल के मुँह में डाल चुका था ऑर वो आहिस्ता आहिस्ता उसे चूस रही थी. राज का एक हाथ पायल की लेग्गी के ऊपर से ही उसके हिप्स को सहला रहा था. एक भाई के हाथ अपनी ही सग़ी बहन की गान्ड पर रेगते हुए देख कर मेरी तो अपनी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया. राज ने पायल का हाथ पकड़ा ऑर अपने लंड के ऊपर रखने लगा. पहले तो पायल ने अपना हाथ हटाने की कोशिश की लेकिन फिर उस ने आख़िर अपने भाई का लंड पकड़ ही लिया. कुछ देर तक राज के लंड को सहलाने के बाद पायल बोली,

बस भाई अब छोड़ दो मुझे प्लीज़. फिर कर लेना.

राज: फिर कब????

पायल : जब मौका मिले तब, आप कॉन सा अब मुझे बखसने वाले हो जब भी मौका मिले गा कुछ ना कुछ तो करो गे ही ना आप.

राज ने मुस्करा कर पायल के लिप्स को ज़ोर से चूमा ऑर पायल ने भी एक बार ज़ोर से उसके लंड को अपनी मुट्ठी में ज़ोर से दबाया ऑर फिर उस से अलेहदा होने लगी.

राज ने पीछे को हट कर अपने शॉर्ट्स को नीचे खींचा ऑर अपने लंड को बाहर निकाल कर उसके सामने नंगा कर दिया. पायल अपने मुँह पर हाथ रखते हुए बोली,

ऊऊऊऊऊओफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ भैया आप कितने बेशरम हो कुछ तो ख़याल करो भाभी का. किसी ने देख लिया तो क्या सोची गा कि आप अपनी बहन के साथ ही ये सब कर रहे हो.

राज अपने लंड को हिलाते हुए बोला, हां तो क्या है में अपनी बहन के साथ ही कर रहा हूँ ना किसी ऑर की बहन के साथ तो नही ना.

राज: यार एक किस तो कर दो इस पर.

पायल : नही भैया अभी नही करूँ गी.

राज: प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ मेरी प्यारी सी बहना हो ना तो जल्दी से कर दो एक बार.

पायल : भैया आप बहुत ही ज़िद्दी ऑर बे सबरी हो.

ये कहती हुई वो नीचे को झुकी ऑर अपने हाथ में अपने भैया का लंड पकड़ कर उसकी मोटी फूली हुई टोपी पर एक किस किया ऑर फिर जल्दी से बाहर की तरफ भागने लगी.

राज ने फॉरन ही उसे पकड़ा ऑर बोला, अब एक किस मुझे भी तो दे कर जाओ ना.

पायल ने अपने लिप्स उसके आगे कर दिए. लेकिन राज ने नीचे बैठ कर उसकी टाइट लेगिंग के संगम पर उसकी लेग्गी के ऊपर से ही उसकी चूत पर अपने लिप्स रखे ऑर एक ज़ोर दार किस कर के बोला ठीक है अब जाओ, बल्कि ठहरो में पहले जाता हूँ तुम बाद में आना.

उनकी बात सुन कर में किचन में आ गई जल्दी से ऑर फिर राज बाहर आ कर बैठ गया ऑर मुझे आवाज़ दी, डार्लिंग क्या बात है इतनी देर लगा दी है कहाँ रह गई हो. में मुस्कराई ऑर फिर खाने की ट्रे ले कर बाहर आ गई ऑर बाहर आते हुए पायल को भी आवाज़ दी कि आ जाओ जल्दी से खाने के लिए.


खाने के दोरान भी मेरा दिल खाने में नही लग रहा था बल्कि में दोनो बहन भाई को ही देखने की कोशिश कर रही थी कि वो कैसी हरकतें कर रहे हैं मेरे सामने बैठ कर भी. अचानक राज बोला,

राज: डार्लिंग क्या बात है तुम खाना ठीक से नही खा रही तुम्हारी तबीयत तो ठीक है ना.

में; तबीयत हां हां ठीक है कुछ नही हुआ मुझे ठीक हूँ.

राज: लेकिन लग तो नही रहा ठीक हो तुम.

अचानक से मेरे दिमाग़ में एक ख़याल कूदा

में: हां बस दोपहर से थोड़ी तबीयत ठीक नही है थोड़ा जिस्म गरम हो रहा है मेरा ऑर बुखार फील हो रहा है मुझे तो.

राज: तो कोई मेडिसिन लो ना.

में: हां खाना खा कर में लेती हूँ मेडिसिन.

ऐसे ही बातें करते हुए हम ने खाना ख़तम किया ऑर पायल ने ही बर्तन समेटने शुरू कर दिए. कुछ बर्तन ले कर पायल किचिन में गई तो बाक़ी के बर्तन उठा कर राज भी उसके पीछे ही चला गया हालाँकि कभी उस ने पहले ऐसे बर्तन नही उठाए थे. अंदर किचन में बर्तन छोड़ कर उस ने काफ़ी देर लगाई बाहर आने में ऑर मुझे पता था कि अंदर क्या हो रहा हो गा लेकिन में सोफे पर लेटी रही ऑर उठ कर देखने नही गई.

थोड़ी देर के बाद राज ने बुखार की टॅबलेट ली ऑर मुझे पानी के साथ दी मैने वो टॅबलेट खा ली ऑर बोली, तुम लोग एसी वाले रूम में सो जाओ आज में पायल के कमरे में सो जाऊ गी एसी में तो ज़्यादा सर्दी लगे गी ना. राज के चेहरे पर फैलती हुई ख़ुसी की लहर को मैने फॉरन ही महसूस कर लिया ऑर दिल ही दिल में मुस्करा दी. में उठ कर पायल वाले कमरे में गई ऑर वहीं बेड लेट गई. कुछ ही देर में पायल मेरा हाल पूछने आई ऑर बोली, भाभी में भी आपके पास ही सो जाती हूँ थोड़ा रेस्ट ही करना है ना.

में: नही नही तुम उधर एसी में सो जाओ जा कर ऐसे हम बातें ही करते रहेंगे में थोड़ी देर के लिए आँख लगाना चाहती हूँ तुम जाओ में ठीक हूँ.

पायल मुस्कराई ऑर बोली, लगता है कि भाभी सुबह आप के जिस्म की गर्मी नही निकल पाई ना इसी लिए बुखार हो गया है आपको.

में मुस्कराई ऑर बोली, बड़ी बातें आ गई हैं तुझे ना.

वो हँसने लगी ओर बोली, भाभी आप कहो तो कुछ हेल्प करूँ आपकी में.

में मुस्कराई ऑर बोली नही रहने दे तू ऑर करनी ही है तो जा के अपने भैया की हेल्प कर देना.

पायल थोड़ा घबराई ऑर फिर बोली, नही भाबी अब में जाग रही हूँ ना तो उनको कोई ऐसा मौका नही दूँगी.

पता नही क्यूँ वो सब कुछ मुझ से छुपाना चाहती थी ऑर में भी इस गेम को इसी तरह से खेलती रहना चाह रही थी अभी.पायल चली गई तो में भी उनके बेड पर सेट्ल होने का इंतज़ार करने लगी.



क़रीब 5 मिनट के बाद में उठी ऑर बातरूम के रास्ते जा कर अंदर झाँकने लगी तो अंदर कमरे की रोशनी में मेरे ही बेड पर दोनो बहन भाई एक दूसरे से लिपटे हुए पड़े हुए थे.

पायल : प्लीज़ भैया भाभी आ जाएँगी

राज: अरे यार नही आती वो मेडिसिन ले कर सो गई है अब.

राज ने पायल को सीधा किया ऑर उसकी टी-शर्ट को ऊपर करने लगा. टी-शर्ट को ऊपर तक उसके गले तक ले उसे निकालने लगा तो पायल बोली,

नही भैया यहीं तक रहने दो फिर पहन ने में दिक्कत हो गी जल्दी में.

राज ने ओके कहा ऑर फिर झुक कर अपनी बहन की ब्रस्सिएर के ऊपर से उसके बूब पर किस कर के बोला,

बहुत खूबसूरत बूब्स हैं तुम्हारे इतने दिन से देख रहा था ऑर दिल ललचा रहा था.

पायल : सिर्फ़ दिल ही नही ललचा रहे थे बल्कि मुझे रातों में तंग भी कर रहे थे ना आप ऑर इनको छू छू कर भी चेक कर लिया आप ने पहले से ही.


राज: चौंक कर पायल के चेहरे की तरफ देखता हुआ बोला, तो क्या तुमको पता था कि में ऐसे कर रहा हूँ.

पायल : तो भैया ये कैसे हो सकता है कि कोई किसी लड़की के बूब्स को ऑर नीचे भी छूए ऑर उसे पता ही ना चल सके.

राज मुस्काराया ऑर उसके दोनो बूब्स को ज़ोर से अपनी मुट्ठी में दबाते हुए बोला, बहुत चालाक हो तुम.

राज ने अब झुक कर पायल के खूबसूरत बूब्स के बीच गहरी क्लीवेज को चूम लिया ऑर फिर आहिस्ता आहिस्ता उस में अपनी ज़ुबान को फेरने लगा. पायल के बूब्स की स्किन इतनी सफेद ऑर नरम थी कि जैसे ही वो ज़ोर से वहाँ पर किस करता तो उसके बूब्स पर सुर्ख निशान पड़ जाता.

पायल : भैया थोड़ा धीरे करो ना क्यूँ इतने ज़ालिम बन रहे हो.

राज: तुम्हारे बूब्स भी तो इतने ज़ालिम हैं ना कि खुद पर कंट्रोल ही नही हो रहा.


पायल मुस्करा दी ऑर अपने भाई के सिर के बालों में अपना हाथ फेरने लगी. राज ने पायल की ब्रा के कप्स को ऊपर को उठाया ऑर उसके दोनो बूब्स को नंगा कर लिया.उसकी अपनी सग़ी बहन के खूबसूरत छोटे छोटे साइज़ के गोरे गोरे बूब्स ऑर गुलाबी निपल्स उसकी नज़रों के सामने ओपन थे. राज ने झुक कर आहिस्ता से अपनी बहन के नंगे बूब्स को चूमा ऑर फिर अपने होंठ उसके गुलाबी छोटे से निपल पर रख कर एक किस कर लिया. पायल का जिस्म तड़प उठा.

राज ने अब आहिस्ता आहिस्ता उसके निपल्स को अपने होंठो में लिया ऑर चूसने लगा. कभी अपनी बहन के एक निपल को अपने मुँह में डालता ऑर कभी दूसरे निपल को मुँह में ले कर चूसने लगता. राज का एक हाथ फिसलता हुआ नीचे को आने लगा अपनी बहन की कंवारी चूत की तरफ. ऑर फिर अपनी बहन की टाइट लेग्गी के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाने लगा. कुछ देर तक पायल की चूत को सहलाने ऑर उसके बूब्स को चूसने के बाद राज उठ गया ऑर नीचे उसकी टाँगो की तरफ आ गया .

राज ने उसकी लेग्गी को पकड़ा ऑर नीचे खींच कर उतारने लगा. पायल ने एक बार उसे रोका लेकिन फिर खुद से ही अपनी गान्ड को ऊपर उठा दिया ऑर राज ने अपनी बहन की लेग्गी को उसकी टाँगो से निकाल कर बेड पर रख दिया. अब पायल का निचला जिस्म पूरी तरह से उसके भाई के सामने नंगा था. पायल ने फॉरन से अपनी चूत को छुपा लिया.

राज ने मुस्करा कर उसे देखा ऑर फिर उसका हाथ पकड़ कर उसकी चूत से हटा दिया. पायल की बिल्कुल कंवारी बालों से पाक चूत अपने भाई की आँखों के सामने थी. राज बोला,

राज: वाउ क्या प्यारी चूत है लगता है आज ही हेअर रिमूविंग की है तुम ने.

पायल : ने शर्मा कर कहा हां सुबह आपके जाने के बाद की थी.

राज: यानी कि तुम ने मेरे लिए अपनी चूत के बाल सॉफ किए थे है ना?????

पायल शर्मा कर बोली, अब ज़्यादा भी खुश फ़हमी में ना रहें आप वैसे ही बस रुटीन में सॉफ कर लिए थे मैने तो, अब मुझे क्या पता था कि आप आके इसे देखोगे.

राज हंसा ऑर अपने होंठ पायल की चूत पर रखे ऑर उसकी कंवारी मुलायम चूत को चूम लिया. फिर राज ने अपनी कंवारी बहन की कंवारी चूत के लबों को खोला ऑर अपनी ज़ुबान से उसे अंदर से चाट ने लगा. धीरे धीरे जैसे जैसे उसकी ज़ुबान अपनी बहन की चूत को चाट रही थी तो उसके साथ साथ ही पायल की हालत खराब होती जा रही थी. वो अपने भाई के सिर पर अपना हाथ रख कर उसे अपनी चूत पर दबा रही थी ऑर आँखे बंद कर के अपनी चूत को उसके मुँह पर रगड़ने की कोशिस कर रही थी अपनी गान्ड को ऊपर उठाते हुए.



कुछ देर तक अपनी बहन की चूत को चाट ने के बाद राज खड़ा हुआ ऑर अपने शॉर्ट्स को उतार कर बिल्कुल नंगा हो गया अपनी बहन के सामने ऑर फिर लेटी हुई के ही ऊपर आ गया ऑर अपने मोटे खड़े हुए लंड को अपनी बहन की दोनो ब्रेस्ट्स के बीच में रगड़ने लगा. पायल मुस्करा कर अपने भाई के लंड को देख रही थी.

राज ने अपनी बहन के दोनो छोटे छोटे बूब्स के बीच अपने लंड को दबाया ऑर फिर आगे पीछे को करते हुए अपना लंड उसके बूब्स के बीच में रगड़ने लगा. आगे को जाता तो उसका लंड पायल की चिन को टकराता था ऑर उसके बॉल्स नीचे अपनी बहन के पेट पर रगड़ खा रहे थे.



थोड़ी देर के बाद राज बोला, पायल इसे मुँह में ले कर चूसो ना तोड़ा सा.

पायल ने अपने भाई के लंड को अपने हाथ में पकड़ा ऑर बोली, नही भैया ये तो बहुत गंदा होता है में कैसे इसे मुँह में ले सकती हूँ.

राज: अरे यार कुछ भी गंदा नही होता ये तुम्हारी भाभी भी तो चूस्ति है ना इसे मुँह में ले कर.

पायल : वो तो आपकी बीवी हैं में आपकी क्या लगती हूँ............ बहन ना


राज अपने लंड की टोपी को अपनी बहन के गुलाबी होंठो पर आहिस्ता आहिस्ता फेरता हुआ बोला, तुम मेरी बहन भी हो ऑर मेरी बीवी भी आज से.

पायल : भैया तो फिर कर लो मुझ से भी शादी अगर मुझे अपनी बीवी बना ना है तो.


राज: झुक कर अपनी बहन के होंठो को चूमते हुए बोला, मेरी जान ये तो दिल की बात होती है जिसे भी दिल से तसलीम कर लो वो वाइफ ही है.


राज ने थोड़ा सा ज़ोर लगाया तो पायल ने थोड़ा सा अपने होंठो को खोला ऑर उसके लंड को अंदर दाखिल होने का रास्ता देने लगी. राज ने भी आहिस्ता से अपने लंड को उसके होंठो के बीच पुश किया ऑर साथ ही पायल ने आहिस्ता आहिस्ता उसके ऊपर अपनी ज़ुबान फेरनी शुरू कर दी. पायल ने अपने दोनो होंठो के बीच में अपने भैया के लंड के टॉप को पकड़ा ऑर आहिस्ता से दोनो होंठो को बंद कर के उसे किस कर लिया.

राज ने अपना लंड उसके होंठो से निकाला ऑर धीरे धीरे उसके होंठो के ऊपर टकराने लगा. उसके लंड से कम के छोटे छोटे क़तरे निकल रहे थे जो कि उसकी बहन के होंठो से लग कर एक तार की तरह से उसके लंड से अटॅच हो रहे थे.

पायल ने अपनी ज़ुबान निकाली ऑर आहिस्ता आहिस्ता उसके लंड के अगले हिस्से पर फेरते हुए बोली, भैया अगर भाभी ने देख लिया ना तो बहुत बुरा हो गा.


Dopahar men jab Raj ghar aya to Payal apne room men thi. us ne nahaa kar ek t-shirt or tight leggaye pehan li thi red color ki jis men uska jism bahut hi sexy nazar aa raha tha. Raj ke aane par gate men nhy hi khola. Raj ne jab change kar liya to men kitchen men aa gai taki Khana garam kar ke nikaal sakoon. jaise hi Raj ne mujhe kitchen men jaate dekha to wo tv lounge se uth kar Payal ke kamare ki taraf chala gaya. mujhe pata tha ke wo yahi kare ga.


Kitchen se nikal kar maine chup kar Payal ke room men jhaanka to dekha ke Payal Raj ke aage aage bhaag rahi hai kamare men or Raj use pakadne ki koshish kar raha hai. kamra kon sa bahut bara tha jo wo uske haath na aati jald hi Raj ne usko haath se pakada or kheench kar apne seene se laga liya. Payal machalti hui boli,

Payal : chod do bhaiya mujhe warna men zor se cheekhoon gi or bhabhi aa jaayengeephir.

Raj: kya hai na tujhe do min ke le chup nahi rah sakti men tujhe khaa to nahi jaaungaa na.

Payal hansate hue boli, koshish to khaane ki hi kar rahe ho aap na.

Raj apne hoton ko Payal ke gaalon ki taraf le jaate hue bola.

Raj ne apni bahan Payal ko apni bahon men smaita hua tha or ab apne hontho ko uske hontho par rakhne men kaamyaab ho chuka tha. jaise jaise Raj Payal ke lips ko kiss kar raha tha waise waise hi Payal ki masnoi mazahimat bhi khatm hoti jaa rahi thi. wo bhi ahista ahista khud ke jism ko dheela chodti hui khud ko apne bhai ke suparud kar chuki thi. Raj ab ahista ahista Payal ke hontho ko choom raha tha or phir uske nichle honth ko apne hontho men le kar choosne laga.

Payal ke bazoo bhi apne bhai ki kamar ke gird lipat chuke the or wo bhi ahista ahista uske jism ko sahlaa rahi thi. maine dekha ke Raj ne apni zubaan ko Payal ke munh ke andar daakhil karne ki koshish karte hue uski t-shirt ko oopar uthaana shuru kar diya. Payal Raj ke haath par apna haath rakhti hui boli,

bhaiya, bhabhi aa jain gi na karen plz kuch bhi

Raj: nahi wo nahi aayee gi.

Payal : bhabhi hain kahan par???

Raj: wo kitchen men hai tum uski fikar mat karo bus men jaldi se chala jaaoo ga.

ye kahte hue Raj ne Payal ki t-shirt ko oopar kya or neeche uski pink color ki brassier men chupy hue boobs uske bhai ki nazron ke saamne aa gaye. Raj ne apni bahan ki brassier ke oopar se hi uski ek breast ko apni mutthi men liya or use ahista ahista dabaane laga. oopar wo apni zubaan ko Payal ke munh men daal chuka tha or wo ahista ahista use choos rahi thi. Raj ka ek haath Payal ki leggaye ke oopar se hi uske hips ko sahlaa raha tha. ek bhai ke haath apni hi sagi bahan ki gaanD par reengte hue dekh kar meri to apni choot ne paani chodanaa shuru kar diya. Raj ne Payal ka haath pakada or apne lund ke oopar rakhne alga. pahle to Payal ne apna haath hataane ki koshish ki lekin phir us ne aakhir apne bhai ka lund pakad hi liya. kuch der tak Raj ke lund ko sahlaane ke baad Payal boli,

bus bhai ab chod do mujhe plz. phir kar lena.

Raj: phir kab????

Payal : jab mouka mile tab, aap kon sa ab mujhe bakhsne wale ho jab bhi mouka mile ga kuch na kuch to karo gaye hi na aap.

Raj ne muskaraa kar Payal ke lips ko zor se chooma or Payal ne bhi ek baar zor se uske lund ko apni mutthi men zor se dabaya or phir us se alehada hone lagi.

Raj ne peeche ko hat kar apne shorts ko neeche kheencha or apne lund ko bahar nikaal kar uske saamne nanga kar diya. Payal apne munh par haath rakhte hue boli,

ooooooooooofffffffffffffffffffffffffff bhaiya aap kitne besharam ho kuch to khayal karo bhabhi ka. kisi ne dekh liya to kya sochy ga ke aap apni bahan ke sath hi ye sab kar rahe ho.

Raj apne lund ko hilaate hue bola, haan to kya hai men apni bahan ke saath hi kar raha hoon na kisi or ki bahan ke saath to nahi na.

Raj: yaar ek kiss to kar do is par.

Payal : nahi bhaiya abhi nahi karoon gi.

Raj: plzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzzz meri pyaari si bahana ho na to jaldi se kar do ek baar.

Payal : bhaiya aap bahut hi ziddi or be sabry ho.

Ye kahti hui wo neeche ko jhuki or apne haath men apne bhaiya ka lund pakad kar uski moti phooli hui topi par ek kiss kya or phir jaldi se bahar ki taraf bhaagne lagi.

Raj ne foran hi use pakada or bola, ab ek kiss mujhe bhi to de kar jaao na.

Payal ne apne lips uske aage kar diye. lekin Raj ne neeche baith kar uski tight legging ke sangam par uski leggaye ke oopar se hi uski choot par apne lips rakhy or ek zor daar kiss kar ke bola theek hai ab jaao, balki tharo men pahle jaata hoon tum baad men aana.

Unki baat sun kar men kitchen men aa gai jaldi se or phir Raj bahar aa kar baith gaya or mujhe awaaz di, daarling kya baat hai itni der laga di hai kaha rah gai ho. men muskaraai or phir khaane ki tray le kar bahar aagi or bahar aate hue Payal ko bhi awaaz di ke aajao jaldi se khaane ke liye.


Khaane ke doraan bhi mera dil khaane men nahi lag raha tha balki men dono bahan bhai ko hi dekhne ki koshish kar rahi thi ke wo kaisi harkatain kar rahe hain mere saamne baith kar bhi. achanak Raj bola,

Raj: Darling kya baat hai tum khaana theek se nahi khaa rahi tumhari tabiyat to theek hai na.

Men; tabiyat haan haan theek hai kuch nahi hua mujhe theek hun.

Raj: lekin lag to nahi rahi theek tum.

achanak se mere dimaag men ek khayal koonda

Men: haan bus dopahar se thodi tabiyat theek nahi hai thoda jism garam ho raha hai mera or bukhaar feel ho raha hai mujhe to.

Raj: to koi medicine lo na.

Men: haan khana khaa kar men leti hoon medicine.

aise hi baten karte hue hum ne khaana khatam kya or Payal ne hi bartan samaitne shuru kar diye. kuch bartan le kar Payal kitcehn men gai to baqi ke bartan uthaa kar Raj bhi uske peeche hi chala gaya halanki kabhi us ne pahle aise bartan nahi uthaaye the. andr kitchen men bartan chod kar us ne kaafi der lagai bahar aane men or mujhe pata tha ke andar kya ho raha ho ga lekin men sofe par leti rahi or uth kar dekhne nahi gai.

Thodi der ke baad Raj bukhaar ki tablet lea or mujhe paani ke saath di maine wo tablet khaa li or boli, tum log ac wale room men so jaao aaj men Payal ke kamare men so jaaoo gi AC men to jyaada sardi lage gi na. Raj ke chehare par phailti hui khusi ki lehar ko maine foran hi mahsoos kar liya or dil hi dil men muskaraa di. Men uth kar Payal wale kamare men gai or wahin bed let gai. kuch hi der men Payal mera poochne aai or boli, bhabhi men bhi aapke paas hi so jaati hoon thoda rest hi karna hai na.

Men: nahi nahi tum udhar AC men so jaao ja kar aise hum baten hi karte rahen gaye men thodi der ke liye aankh lagana chahti hoon tum jaao men theek hoon.

Payal muskaraai or boli, lagta hai ke bhabhi subah aap ke jism ki garmi nahi nikal paai na isi liye bukhaar ho gaya hai aapko.

Men muskaraai or boli, badi baten aa gai hain tujhe na.

wo hansane lagi or boli, bhabhi aap kaho to kuch help karoon aapki men.

Men muskaraai or boli nahi rahne de tu or karni hi hai to jaa ke apne bhaiya ki help kar dena.

Payal thoda ghabraai or phir boli, nahi bhabi ab men jaag rahi hoon na to unko koi aisa mouka nahi doon gi.

pata nahi kyun wo sab kuch mujh se chupaana chahti thi or men bhi is game ko isi tarah se khelti rahna chah rahi thi abhi.Payal chali gai to men bhi unke bed par settle hone ka intzaar karne lagi.



Qareeb 5 min ke baad men uthi or bathroom ke raste jaa kar andar jhaankne lagi to andar kamare ki roshni men mere hi bed par dono bahan bhai ek dusare se lipte hue pade hue the.

Payal : plz bhaiya bhabhi aa jaayengee

Raj: are yaar nahi aati wo medicine le kar so gai hai ab.

Raj ne Payal ko seedha kya or uski t-shirt ko oopar karne laga. t-shirt ko oopar tak uske gale tak le use nikaalne laga to Payal boli,

Nahi bhaiya yahin tak rahne do phir pahan ne men dikkat ho gi jaldi men.

Raj ne ok kaha or phir jhuk kar apni bahan ki brassier ke oopar se uske boob par kiss kar ke bola,

bahut khoobsoorat boobs hain tumhare itne din se dekh raha thaa or dil lalchaa raha tha.

Payal : sirf dil hi nahi lalchaa rahe the balki mujhe raaton men tang bhi kar rahe the na aap or inko choo choo kar bhi check kar liya hua aap ne pahle se hi.


Raj: chounk kar Payal ke chehare ki taraf dekhta hua bola, to kya tumko pata tha ke men aise kar raha hoon.

Payal : to bhaiya ye kaise ho sakta hai ke koi kisi ladki ke boobs ko or neeche bhi chooy or use pata hi na chal sake.

Raj muskaraya or uske dono boobs ko zor se apni mutthi men dabaate hue bola, bahut chaalaak ho tum.

Raj ne ab jhuk kar Payal ke khoobsoorat boobs ke beechi gehry cleavage ko choom liya or phir ahista ahista us men apni zubaan ko pherne laga. Payal ke boobs ki skin itni safed or naram thi ke jaise hi wo zor se waha par kiss karta to uske boobs par surakh nishaan par jaata.

Payal : bhaiya thoda dheere karo na kyun itne zalim ban rahe ho.

Raj: tumhare boobs bhi to itne zalim hain na ke khud par control hi nahi ho raha.


Payal muskara di or apne bhai ke sir ke balon men apna haath pherne lagi. Raj ne Payal ki bra ke cups ko oopar ko uthaya or uske dono boobs ko nanga kar liya.uski apni sagi bahan ke khoobsort chote chote size ke gore gore boobs or gulaabi nipples uski nazroon ke saamne open the. Raj ne jhuk kar ahista se apni bahan ke nange boobs ko chooma or phir apne honth uske gulaabi choote si nipple par rakh kar ek kiss kar liya. Payal ka jism tadap utha.

Raj ne ab ahista ahista uske nipples ko apne hontho men liya or choosne laga. kabhi apni bahan ke ek nipple ko apne munh men daalta or kabhi dusare nipple ko munh men le kar choosne lagta. Raj ka ek haath phisalta hua neeche ko aane laga apni bahan ki kanwari choot ki taraf. or phir apni bahan ki tight leggaye ke oopar se hi uski choot ko sahlaane laga. kuch der tak Payal ki choot ko sahlaane or uske boobs ko choosne ke baad Raj uth gaya or neeche uski taango ki taraf aa gaya .

Raj ne uski leggaye ko pakada or neeche kheench kar utaarne laga. Payal ne ek baar use roka lekin phir khud se hi apni gaanD ko oopar uthaa diya or Raj ne apni bahan ki leggaye ko uski taango se nikaal kar bed par rakh diya. ab Payal ka nichla jism poori tarah se uske bhai ke saamne nanaga tha. Payal ne foran se apni choot ko chupaa liya.

Raj ne muskaraa kar use dekha or phir uska haath pakad kar uski choot se hata diya. Payal ki bilkul kanwari balon se paak choot apne bhai ki aankhon ke saamne thi. Raj bola,

Raj: wow kya pyaari choot hai lagta hai aaj hi hair removing ki hai tum ne.

Payal : ne sharmaa kar kaha haan subah a aapke jaane ke baad kee the.

Raj: yaani ke tum ne mere liye apni choot ke baal saaf kee the hai na?????

Payal sharmaa kar boli, ab jyaada bhi khus fahmi men na rahen aap waise hi bus routine men saaf kar liye the maine to, ab mujhe kya pata tha ke aap aake ise dekho gaye.

Raj hansa or apne honth Payal ki choot par rakhe or uski kanwari mulaayam choot ko choom liya. phir Raj ne apni kanwari bahan ki kanwari choot ke labonn ko khola or apni zubaan se use andar se chaat ne laga. dheere dheere jaise jaise uski zubaan apni bahan ki choot ko chaat rahi thi to uske saath saath hi Payal ki halat kharab hoti jaa rahi thi. wo apne bhai ke sir par apna haath rakh kar use apni choot par daba rahi thi or aankhe band kar ke apni choot ko uske munh par ragadne ki koshsih kar rahi thi apni gaanD ko oopar uthaate hue.



Kuch der tak apni bahan ki choot ko chaat ne ke baad Raj khada hua or apne shorts ko utaar kar bilkul nanga ho gaya apni bahan ke saamne or phir leti hui ke hi oopar aa gaya or apne mote khare hue lund ko apni bahan ki dono breasts ke beech men ragadne laga. Payal muskaraa kar apne bhai ke lund ko dekh rahi thi.

Raj ne apni bahan ke dono chote chote boobs ke beech apne lund ko dabaya or phir aage peeche ko karte hue apna lund uske boobs ke beech men ragdne laga. aage ko jaata to uska lund Payal ki chin ko takarata tha or uske balls neeche apni bahan ke pet par ragad khaa rahe the.



Thodi der ke baad Raj bola, Payal ise munh men le kar chooso na thoda sa.

Payal ne apne bhai ke lund ko apne haath men pakada or boli, nahi bhaiya ye to bahut ganda hota hai men kaise ise munh men le sakti hoon.

Raj: are yar kuch bhi ganda nahi hota ye tumhari bhabhi bhi to choosti hai na ise munh men le kar.

Payal : wo to aapki biwi hain men aapki kya lagti hoon............ bahan na


Raj apne lund ki topi ko apni bahan ke gulaabi hontho par ahista ahista pherata hua bola, tum meri bahan bhi ho or meri biwi bhi aaj se.

Payal : bhaiya to phir kar lo mujh se bhi shaadi agar mujhe apni biwi bana na hai to.


Raj: jhuk kar apni bahan ke hontho ko choomte hue bola, meri jaan ye to dil ki baat hoti hai jise bhi dil se tasliyem kar lo wo wife hi hai.


Raj ne thoda sa zor lagayea to Payal ne thoda sa apne hontho ko khola or uske lund ko andar daakhil hone ka raasta dene lagi. Raj ne bhi ahista se apne lund ko uske hontho ke beech push kya or sath hi Payal ne ahista ahista uske oopar apni zubaan pherni shuru kar di. Payal ne apne dono hontho ke beech men apne bhaiya ke lund ke top ko pakada or ahista se dono hontho ko band kar ke use kiss kar liya.

Raj ne apna lund uske hontho se nikala or dheere dheere uske hontho ke oopar takaraane laga. uske lund se pade cum ke chote chote qatry nikal rahe the jo ke uski bahan ke hontho se lag kar ek taar ki tarah se uske lund se attach ho rahi thi.

Payal ne apni zubaan nikaali or ahista ahista uske lund ki ke agle hisse par pherate hue boli, bhaiya agar bhabhi ne dekh liya na to bahut bura ho ga.

vnraj
Novice User
Posts: 89
Joined: 01 Aug 2016 21:16

Re: मासूम ननद

Post by vnraj » 10 Jan 2017 21:21

पूरी तरह मस्ती से भरा हुआ

User avatar
Dolly sharma
Silver Member
Posts: 595
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: मासूम ननद

Post by Dolly sharma » 11 Jan 2017 09:37

vnraj wrote:पूरी तरह मस्ती से भरा हुआ
Support ke liye thanks n keep reading

User avatar
Dolly sharma
Silver Member
Posts: 595
Joined: 03 Apr 2016 16:34

Re: मासूम ननद

Post by Dolly sharma » 11 Jan 2017 09:39

राज पीछे हो कर पायल के ऊपर लेट गया ऑर अपने नंगे लंड को अपनी बहन की नंगी चूत पर रगड़ते हुए बोला, कुछ नही हो गा मेरी जान आज तो में तुम्हारी ये कंवारी चूत ले कर ही रहूं गा.

पायल ने अपना हाथ नीचे ले जा कर अपने भैया का लंड अपने कंट्रोल में लिया ऑर आहिस्ता आहिस्ता अपनी चूत के दाने पर रगड़ते हुए बोली,

नही भैया प्लीज़ ऐसा नही करें अभी कुछ भी नही कर सकते . आप इसे पीछे करें इस से तो आप मुझे ऑर भी पागल कर रहे हैं.

पायल ने ये बोला ऑर दूसरे हाथ से अपने भैया के सिर के बालों को पकड़ कर अपनी तरफ खींच कर उसके होंठो को चूसने ऑर उसे चूमने लगी. धीरे धीरे दोनो की मस्ती में इज़ाफ़ा होता जा रहा था. पायल ने अपनी दोनो टांगे ऊपर की ऑर उनको अपने भैया की कमर के गिर्द उसके हिप्स पर रख कर उसके जिस्म को जकड लिया जैसे के उसका भाई उसे इतना गरम करने के बाद कहीं छोड़ कर भागने लगा हो.


राज भी अपनी बहन के बूब्स को दबाते हुए उसके होंठो को चूस रहा था ऑर पीछे से हिलते हुए अपने लंड को अपनी बहन की चूत पर रगड़ रहा था.

इधर मेरी हालत भी बहुत ही पतली हो रही थी मेरा हाथ मेरी चूत पर था ऑर मेरी चूत बिल्कुल पानी पानी हो रही थी.


राज उठा ऑर अपनी बहन की दोनो टाँगों के बीच में बैठ ते हुए अपने लंड को अपने हाथ में पकड़ा ऑर उसकी टोपी को उसकी कंवारी प्यासी चूत पर रगड़ने लगा. अगले ही किसी भी लम्हे में राज अपना लंड अपनी कंवारी बहन की चूत में दाखिल करने वाला था. मेरा ख्वाब पूरा होने वाला था कि ज़िंदगी में पहली बार किसी हक़ीक़ी भाई को अपनी बहन को चोदते हुए देखूं. लेकिन पता नही क्यों में अभी उन दोनो बहन भाई को ऐसा करने नही देना चाहती थी. में अभी इन दोनो की चूत ऑर लंड की प्यास को बरक़रार रखना चाहती थी ताकि ये अभी थोड़ा ऑर भी तड़पे एक दूसरे के लिए.



Raj peeche ho kar Payal ke oopar let gaya or apne nange lund ko apni bahan ki nangi choot par ragadte hue bola, kuch nahi ho ga meri jaan aaj to men tumhari ye kanwari choot le kar hi rahoon ga.

Payal ne apna haath neeche le jaa kar apne bhaiya ka lund apne control men liya or ahista ahista apni choot ke daane par ragadte hue boli,

nahi bhaia plz aisa nahi karen abhi kuch bhi nahi kar sakte . aap ise peeche karen is se to aap mujhe or bhi pagal kar raha hain.

Payal ne ye bola or dusare haath se apne bhaiya ke sir ke balon ko pakad kar apni taraf kheench kar uske hontho ko choosne or use choomne lagi. dheere dheere dono ki maste on men izafa hota jaa raha tha. Payal ne apni dono taange oopar kin or unko apne bhaiya ki kamar ke gird uske hips par rakh kar uske jism ko jakar liya jaise ke uska bhai use itna garam karne ke baad kahin chod kar bhaagne laga ho.


Raj bhi apni bahan ke boobs ko dabaate hue uske honth oon ko choos raha tha or peeche se hilte hue apne lund ko apni bahan ki choot par ragad raha tha.

idhar meri haalat bhi bahut hi patli ho rahi thi mera haath meri choot par tha or meri choot bilkul paani paani ho rahi thi.


Raj utha or apni bahan ki dono tangon ke beech men baith te hue apne lund ko apne hath men pakada or uski topi ko uski kanwari pyaasi choot par ragadne laga. agle hi kisi bhi lamhe men Raj apna lund apni kanwari bahan ki choot men daakhil karne wala tha. mera khwab poora hone wala tha ke zindagi men pahli baar kisi haqeeqi bhai ko apni bahan ko chodate hue dekhun. lekin pata nahi kyon men abhi un dono bahan bhai ko aisa karne nahi dena chahti thi. men abhi in dono ki choot or lund ki pyaas ko barqarar rakhna chahti thi taki ye abhi thoda or bhi tarpain ek dusare ke liye.

Post Reply

Who is online

Users browsing this forum: Google [Bot] and 116 guests