Incest सबका लाडला (फैमिली स्टोरी )

Post Reply
Baba Devil
Rookie
Posts: 120
Joined: 23 Sep 2019 15:23

Re: Incest सबका लाडला (फैमिली स्टोरी )

Post by Baba Devil »



# अपडेट - 106


मैंने मीनाक्षी को 4:45 बजे बाड़े मे आने को कहा ताकि उसकी चुत रगड़ सकु....

रात को खाना खाया और रूम मे आ गया. रोज मैं 4:50 - 5 बजे तक उठता हूँ. सुबह जल्दी उठना था तो घड़ी मे 4.30 का अलार्म लगाया और सो गया.

सुबह अलार्म बजते ही मैं उठ गया. जल्दी से फ्रेश हुआ और चुपचाप बाहर आ गया.

मैं बाड़े मे चला गया. मीनाक्षी तो वही पर पहले से थी. जैसे ही उसने मुझे देखा वो दौड़ते हुए मेरे सीने से आ लगी और मुझसे लिपट गयी और मुझे चूमने लगी. मैने भी पूरा साथ देते हुए उसके रसभरे अधरो को चूसना शुरू किया...

क्या बताऊ उनके सुर्ख मीठे थे. वो तो ऐसे चुम रही थी जैसे जन्मो की प्यासी हो. वो रूक ही नहीं रही थी, मैंने जबरदस्ती अलग किया...

उसकी आँखें वासना मे लाल थी, वो अपनी सांसों को संभाल रही थी. वो फिर से मुझसे चिपक गई...

मीनाक्षी - मेरे राजा पता है मुझे कितनी याद आई.

मैने अपना हाथ उसके घाघरे मे डाला और उनकी गरमा गरम चूत पे रख दिया, और बोला - तुम्हें या फिर इसे...

मीनाक्षी - आआह... हम दोनों ही... राजा आपकी याद मैं हम दोनों ही बहुत तड़पे हैं... हमारी तड़प को शांत कर दो.

उसने पेंटी नही पहनी थी वो पूरी तैयारी कर के आई थी. मैने चूत के दाने को सहलाना शुरू कर दिया.

मीनाक्षी भाभी ने अपनी टाँगो को कस लिया. थोड़ी देर दाने को रगड़ने के बाद मैने दो उंगलिया एक साथ उनकी चूत मे घुसा दी तो वो चिहुकते हुए बोली - आअहह... धीरररे...

और धीरे से कहा - अब ना तड़पाओ, जल्दी से मेरी आग बुझा दो.

मैने अपना ट्रेक पेंट नीचे सरकाया और अपने लंड को चूसने को कहा..
वो नीचे बैठ गयी और लंड को अपने मूह मे भर कर गपागप चूसने लगी. मैने उनका सर पकड़ लिया और मज़े से लंड को चुसवाने लगा.
2-4 मिनिट बाद उसने लंड को बाहर निकाला और घास के ढेर पे लेट गयी और बोलने लगी - अब जल्दी से चोद दो मेरे राजा...

मैं उपर आ गया और लंड को चूत पर सेट किया और धक्का लगा दिया... आधा लंड रसभरी मे घुस गया.... मीनाक्षी के मुंह से आआहह निकल गई.

मैंने एक और धक्का लगाकर पूरा लंड़ चुत मे ठोक दिया.
मीनाक्षी - आआहह.. उऊऊहह.... करते हुए मुझसे चिपक गई.

मीनाक्षी की चूत बहुत ही कुलबुला रही थी. वो भी ऐसे चुद रही थी जैसे ये उनकी अंतिम चुदाई हो और हल्के हल्के मेरे कान को अपने दांतो से काट रही थी. उसके नाख़ून मेरी पीठ पे रगड़ रहे थे.

मैं भी दे दनादन लगा हुआ था चूत और लंड अपनी लड़ाई करने मे लगे हुवे थे.

पांच मिनट मे ही मीनाक्षी ने मुझे अपने से कस लिया और स्खलित हो गयी.

मैं वैसे ही धक्के लगाता रहा. मैंने टाइम देखा तो 5:10 हो गये थे. मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी.

मीनाक्षी फिर से गरम हो गई. अब वो अपनी गांड हिलाने लगी और लंड को अंदर तक लेने लगी.

उसके मुंह से आंहे निकल रही थी. वो जोर जोर सिसकारीयां ले रही थी. उसकी गरम सांसे मुझे और उतेजित करने लगी.

करीब 10 मिनट बाद मेरा लंड भी अपनी रांड की चुत मे माल उगलने लगा . वो चूत मे घसा घस पानी छोड़ने लगा उनकी चूत की दीवारे मेरे पानी से भीग रही थी. मेरे माल की गरमी पाकर मीनाक्षी भी पानी छोड़ने लगी.


फिर मैं खड़ा हुआ और ट्रैक पेंट पहनने लगा, वो भी अपने कपड़े सही करने लगी...
कपड़े पहन कर मैं मीनाक्षी को होंठों को चुसने लगा. दो मिनट बाद मैंने उन्हें अलग किया. फिर मैं वहां से बाहर आ गया.

मैं सीधा घर आ गया, पसीने से भर गया था तो नहाने चला गया..
नहाकर हमेशा की तरह अपना ब्रेकफास्ट किया. फिर मैं कॉलेज चला गया. आज कुलदीप भी साथ चल रहा था.

ऐसे ही चार पाँच दिन निकल गये. रोज कॉलेज जाना, पढाई करना. बीच मे किसी रंडी़ को चोदना.
पंकज माँ बनने वाली थी तो सब खुश थे. हां पर अनिल भाई ज्यादा खुश नहीं थे. अब क्या कर सकते थे.

आज संडे था तो आज मैं घर पर ही था. सुबह मैं नहा धोकर जल्दी तैयार हो गया. मैं ग्राउंड की तरफ चल पड़ा. मैं घर से निकला तो ठाकुर का कॉल आया. वो मुझे हवेली बुला रहे थे.
तो मैं ग्राउंड जाना कैंसल कर हवेली चला गया.




ᎠᎬᏙᏆᏞ 😈😈😈...

SUNITASBS
Rookie
Posts: 199
Joined: 02 Oct 2015 19:31

Re: Incest सबका लाडला (फैमिली स्टोरी )

Post by SUNITASBS »

NICE UPDATE
😪

User avatar
rajsharma
Super member
Posts: 14802
Joined: 10 Oct 2014 07:07

Re: Incest सबका लाडला (फैमिली स्टोरी )

Post by rajsharma »

बहुत ही शानदार अपडेट है दोस्त


😡 😡 😡 😡 😡 😡
Read my all running stories

(ख़ौफ़ running) ......(फरेब running) ......(लव स्टोरी / राजवंश running) ...... (दस जनवरी की रात ) ...... ( गदरायी लड़कियाँ Running)...... (ओह माय फ़किंग गॉड running) ...... (कुमकुम complete)......


साधू सा आलाप कर लेता हूँ ,
मंदिर जाकर जाप भी कर लेता हूँ ..
मानव से देव ना बन जाऊं कहीं,,,,
बस यही सोचकर थोडा सा पाप भी कर लेता हूँ
(¨`·.·´¨) Always
`·.¸(¨`·.·´¨) Keep Loving &
(¨`·.·´¨)¸.·´ Keep Smiling !
`·.¸.·´ -- raj sharma

badlraj
Novice User
Posts: 233
Joined: 19 Apr 2019 09:48

Re: Incest सबका लाडला (फैमिली स्टोरी )

Post by badlraj »

मस्त अपडेट है मित्र ।


Post Reply