Nazayaz rishta : zarurat ya kamjori नाजायज़ रिश्ता : ज़रूरत या कमज़ोरी

Post Reply
User avatar
shaziya
Novice User
Posts: 2374
Joined: 19 Feb 2015 03:27

Re: Nazayaz rishta : zarurat ya kamjori नाजायज़ रिश्ता : ज़रूरत या कमज़ोरी

Post by shaziya »

Hum dono kafi der tak aise he khade rahe
Me: jaan bhuk rag rahi hai
Raj: kya khana hai kela khaaogi
Me: nahi kela abhi Nahi kuch aur
Raj: chale ya order kar ke yahi manga lun
Me: Man to aise nange rahne ka kar raha hai
Par jab honeymoon pe aye hai ki kuch ghum Lete gay kuch shopping kar lete hai
Raj: to kapde pehno gi ya aise chalogi
Me: aap bataao waise karu
Raj: chalo phir aise he
Me,: kuch to sharam kar lo beshram apni biwi ko nangi ghumaao ge
Raj: duniya bahut aage pahunch gai hai
Me: to chalo kapde pehn lo
Aur Raj ne bag me se ek Jean's aur t-shirt nikali
Mujhe laga wo Apne liye nikal rahe hai
Par mere ko de di
Me: kya karu
Raj: pehno
Me: matlab
Raj: aj jeans aur t-shirt Me chalo
Me: Maine Kabhi Nahi pehni
Raj: Kabhi isse pehle mere aath honeymoon par aai ho
Me: Nahi
Raj: phir jab ye pehli baar hai to ye bhi pehli baar hai par akhri baar nahi
Me: par size
Raj: pehna kar to Dekho
Me: painty aur bra
Raj: rahne do sirf Jean's aur t-shirt aur kuch nahi
Me: par me ak tak Kabhi Bina bra painty ke bahar nahi hai
Raj: aj jaaogee
Chalo zaldi karo
Mujhe Raj ki baat manni PADI aur jab Jeans aur t shirt pehni to fit aai
Raj: Dekha ek dum fit hai Na
Me: par kaise
Raj: Jab aap me dress ki fitting Ka nap Diya tha to wo Isis Ka nap tha
Apr aap ko laga dress Ka hai
Me: chalu
Aur Raj ne phir high heels Di
Me : ab ye kya
Raj: pehno
Me: kafi Saal pehle pehne the
Raj: mere liye dobara pehno
Ab aap to pehn lo
Raj: kya pehnu
Jo aap ka Mann kare
Aur Raj ne bhi same color ki jeans aur t-shirt pehn lo aur hum dono niche hotel ke restaurant me aa gaye
Jaha log mukje he ghur rahe the kyun ki chalne ki vajah SE mere boobs Hil rahe the high heels ki vajah se jayada
Table par baithte hue
MRaj : sab mujhe ghur rahe hai
Raj: aap ko Nahi asp kar boobs aur gaanD ko
Me: chup ho jao beshram biwi hu tumhari
Raj: ha to Dekh he to rahe hai maze to me lunga.
Me: Nahi wo bhi Kisi aur ko dilwa do
Raj: aj Bola so Bola phir mat bolna
Raj ek dum.gusse me aa gaye
Me: sorry jaan mazak kar rahi thi
Raj: mazak me bhi Nahi
Me: Raj Ka hath Apne hathon me lete hue
Kabhi Nahi pehli Galti samajh kar maaf kar do
Aur Maine Apne Dono kaam pakad liye
So sorry
Raj: you should bhi
Me tum par kisi ki parchai na padne du aur tum
Me: Bola na sorry mere shareer par to Umesh ki bhi parchai Nahi padegi Baki ko to bhool jao
Ab please has do
Aur Raj halke se muskura diye
Me: ye hue Na mere pati wali baat
Chalo kuch order to bhook lagi hai
Raj: all your mam Jo order hoga tum karogi me sirf enjoy karunga phir wo khana ho ya tumhara sexy jism
Me: usse bhi khaoge
Raj: souce daal daal kar
Me,: spicy ya juicy
Raj: sab ke sath
Tabhi waiter AA gaya
Aur Maine order de Diya

हम दोनो काफ़ी देर तक ऐसे ही खड़े रहे

मे: जान भूक लग रही है

राज: क्या खाना है केला खाओगि

मे: नही केला अभी नही कुछ और

राज: चले या ऑर्डर कर के यही मॅंगा लूँ

मे: मन तो ऐसे नंगे रहने का कर रहा है
पर जब हनिमून पे आए है कि कुछ घूम लेंगे कुछ शॉपिंग कर लेते है

राज: तो कपड़े पहनो गी या ऐसे चलोगि

मे: आप बताओ वैसे करू

राज: चलो फिर ऐसे ही

मे,: कुछ तो शरम कर लो बेशरम अपनी बीवी को नंगी घूमाओ गे

राज: दुनिया बहुत आगे पहुँच गई है

मे: तो चलो कपड़े पहन लो
और राज ने बॅग मे से एक जीन'स और टी-शर्ट निकाली

मुझे लगा वो अपने लिए निकाल रहे है
पर मेरे को दे दी

मे: क्या करूँ

राज: पहनो

मे: मतलब

राज: आज जीन्स और ट-शर्ट मे चलो

मे: मैने कभी नही पहनी

राज: कभी इससे पहले मेरे साथ हनिमून पर आई हो

मे: नही

राज: फिर जब ये पहली बार है तो ये भी पहली बार है पर आखरी बार नही

मे: पर साइज़

राज: पहन कर तो देखो

मे: पैंटी और ब्रा

राज: रहने दो सिर्फ़ जीन'स और टी-शर्ट और कुछ नही

मे: पर मे अब तक कभी बिना ब्रा पैंटी के बाहर नही गई हूँ

राज: आज जाओगी
चलो ज़ल्दी करो

मुझे राज की बात माननी पड़ी और जब जीन्स और टी शर्ट पहनी तो फिट आई

राज: देखा एक दम फिट है ना

मे: पर कैसे

राज: जब आप मेने ड्रेस की फिटिंग का नाप दिया था तो वो इसी का नाप था
पर आप को लगा ड्रेस का है

मे: चलूं
और राज ने फिर हाइ हील्स दी

मे : अब ये क्या

राज: पहनो

मे: काफ़ी साल पहले पहने थे

राज: मेरे लिए दोबारा पहनो

मैं -अब आप तो पहन लो

राज: क्या पहनु
जो आप का मन करे

और राज ने भी सेम कलर की जीन्स और टी-शर्ट पहन लो और हम दोनो नीचे होटेल के रेस्टोरेंट मे आ गये
जहा लोग मुझे ही घूर रहे थे क्यूँ की चलने की वजह से मेरे बूब्स हिल रहे थे हाइ हील्स की वजह से ज़यादा
टेबल पर बैठते हुए

मैं : सब मुझे घूर रहे है

राज: आप को नही आपके बूब्स और गान्ड को

मे: चुप हो जाओ बेशरम बीवी हूँ तुम्हारी

राज: हाँ तो देख रहे हैं तो देखने दो मज़े तो मे लूँगा.

मे: नही वो भी किसी और को दिलवा दो

राज: आज बोला सो बोला फिर मत बोलना

राज एक दम.गुस्से मे आ गये

मे: सॉरी जान मज़ाक कर रही थी

राज: मज़ाक मे भी नही

मे: राज का हाथ अपने हाथों मे लेते हुए
कभी नही पहली ग़लती समझ कर माफ़ कर दो
और मैने अपने दोनो कान पकड़ लिए
सो सॉरी

राज: यू शुड बी
मे तुम पर किसी की परछाई ना पड़ने दूं और तुम

मे: बोला ना सॉरी मेरे शरीर पर तो उमेश की भी परछाई नही पड़ेगी बाकी को तो भूल जाओ
अब प्लीज़ हंस दो
और राज हल्के से मुस्कुरा दिए

मे: ये हुई ना मेरे पति वाली बात
चलो कुछ ऑर्डर दो भूक लगी है

राज: ऑल युवर मॅम जो ऑर्डर होगा तुम करोगी मे सिर्फ़ एंजाय करूँगा फिर वो खाना हो या तुम्हारा सेक्सी जिस्म

मे: उसे भी खाओगे

राज: सौस डाल डाल कर

मे,: स्पाइसी या जुवैसी

राज: सब के साथ
तभी वेटर आ गया
और मैने ऑर्डर दे दिया
User avatar
shaziya
Novice User
Posts: 2374
Joined: 19 Feb 2015 03:27

Re: Nazayaz rishta : zarurat ya kamjori नाजायज़ रिश्ता : ज़रूरत या कमज़ोरी

Post by shaziya »

जब तक ऑर्डर नही आया राज मुझे अपने गंदी नज़र से खाते रहे अगर वहाँ कोई नही होता तो ये मुझे टेबल पर लिटा कर कच्चा खा जाते

मे: जान पैंटी नही पहनी है ना तो एक तो घुगुरू चुभ रहे है और दूसरा पुसी पर पसीना आ रहा है तो अनकंफर्टबल फील हो रहा है

राज: आने दो उसी पसीने से मुझे नशा चढ़ेगा क्या महक होगी वाआह

मे: बड़ी गंदी स्मेल होगी

राज: मुझे सूंघनी है ना तो रहने दो

तभी ऑर्डर सर्व हो गया और हम दोनो एक दूसरे को अपने हाथों से खिलाने लगे
और ब्रेकफास्ट ख़तम करने के बाद

मे: अब कहा चले

राज: रूम मे

मे: अभी नही पहले घूमते है
और हम दोनो रिड्ज रोड पर आ गये शिमला की सब से पॉपुलर प्लेस.

रिड्ज रोड पर आ गये

पर आज मुझे अजीब लग रहा था क्यूँ की आज पहली बार मैने जीन्स और टी शर्ट पहनी थी और हाइ हील्स काफ़ी टाइम बाद पर एक खुशी का अहसास था की अपने आप को फिर से जवान महसूस कर रही थी
और वो भी अपने बेटे की वजह से

राज ने मेरा हाथ अपने हाथ मे ले रखा था

और हम दोनो साथ साथ चल रहे थे शिमला की खूबसूरती में खोए हुए थे.

मे: जान मेरा हाथ क्यूँ पकड़ रखा है मे भाग रही हू क्या

राज: भगा कर तो मे लाया हू तुम्हे तुम्हारे पति से अब कौन भगाएगा

मे: अच्छा जी

राज: हा जी और फिर राज और मैने फोटो खिच बाए.
और काफ़ी देर घूमते रहे

घूमते हुए राज ने नेहा को मेसेज किया पूछने के लिए की कहा पर है
उससे से बात करने के बाद
फिर राज ने मुझे अच्छा सा लंच कराया

तभी नेहा का मेसेज आया की वो आज रात को हमारे साथ रहना चाहती है
राज से मैने मोबाइल ले लिया

मे: क्या हुआ नेहा

नेहा: कुछ नही मा बस रात को मुझे आप दोनो के साथ रहना है

क्यूँ की मुझे पता है मेरा कुछ नही हो सकता और अगर अनुपम के साथ रही तो मे पागल हो जाउन्गी

वजह आप को पता है काफ़ी दिनों से राज के लंड को देख देख कर मे गरम हो रखी हू और अनुपम मे मुझे गरम कर दिया पर ठंडा नही कर पा रहे
बाथरूम से बाहर आ कर भी उन्होने ट्राइ किया पर मेरे अंदर आने से पहले फिर से वो झड़ गये

मे: ठीक है आ जाना मे राज से बात करती हू
और जब राज को बताया तो राज ने नेहा को मेसेज किया

राज: अनुपम से बोलना रात मा के साथ रहना है
बाकी मे देख लूँगा
और फिर हम दोनो घूमते रहे

और जब नेहा होटेल पहुँच गई तो उसने मेसेज कर दिया
हम भी होटेल पहुँच गये
User avatar
shaziya
Novice User
Posts: 2374
Joined: 19 Feb 2015 03:27

Re: Nazayaz rishta : zarurat ya kamjori नाजायज़ रिश्ता : ज़रूरत या कमज़ोरी

Post by shaziya »

10 मिनिट बाद नेहा रूम मे आ गई ओर मेरे गले लग गई
और रोनेलगी
नेहा: मा मेरा क्या होगा वो तो किसी काम के नही है
छोटा है कोई बात नही पर कम से कम अंदर तो आए
मे: कोई बात नही चुप हो जा हम है
तभी राज ने अपना बॅग खोला उसमे से दो पेकेट निकाले
और दोनो एक एक हम दोनो को दे दिया
मे: ये क्या है
राज: मे अनुपम से मिल ने जा रहा हू तुम दोनो रूम न 405 मे जा कर रेडी हो जाओ और मेरा वेट करो
मे: पर वहाँ क्या है
राज: सर्प्राइज़ है मेरी जान
मे: पर
राज: कुछ और बोलना पड़ेगा
मे: नही जान
और हम चले गये
मे नेहा को लेकर रूम नो 405 मे आ गई
जहा रूम सर्विस वाला खड़ा था
रूम सर्विस बॉय : सरोज मेम
मे: हा
और उसने हमे रूम की चाभी दे दी
और जब हम अंदर आए तो
हम दोनो मा बेटी शॉक्ड थी
रूम सुहाग रात के लिए एकदम सज़ा हुआ था
पूरे बॅड पर गुलाब के फूल और पता नही क्या क्या
नेहा: मा भाई ने आप के साथ सुहाग रात मनाने का पूरा इंतज़ाम कर रखा है
मे नेहा की बात पर शरमा गई
नेहा': क्या बात है शरम आ रही है
तभी ख्याल आया
मे: नेहा पॅकेट मे क्या है
और दोनो ने पॅकेट खोला उसके अंदर कपड़े थे और दोनो मे लेटर था
मेरे लेटर मे लिखा था
राज: गान्ड उद्घाटन के लिए ज़ल्दी से रेडी हो जाओ
मैने नेहा को देखा
राज: अपनी चूत के उद्घाटन के लिए रेडी हो जाओ
और ये चैन पहन लो जैसे मा ने पहन रखी है
उसके पॅकेट मे सेम चैन थी जो राज ने मुझे दिलाई थी
मे: लगता है मेरे बेटा जिस जिस को चोदेगा उसका ये वाली चैन गिफ्ट करेगा.
और हम दोनो हँसने लगे
मे: ज़ल्दी रेडी हो जाओ कही राज ना आ जाए
और हम दोनो मा बेटी रेडी होने लगे
दोनो के कच्छी से लेक ब्रा तक
ब्लाउस से ले कर पेटिकोट तक और सारी सेम थी
हम दोनो ने फटाफट मेकप किया तभी गेट पर नॉक हुआ
मे देखती हू
और जब गेट खोला तो रूम सर्विस थी
आदमी अंदर आया
उसके हाथ मे दो केक थे कोल्ड ड्रिंक्स थी
रूम मे रख कर चला गया
मे गेट बंद कर के अंदर आ
एक केक पर मेरा नाम और दूसरे पर नेहा का था
मे: पता नही क्या क्या प्लान कर रखा है
नेहा: मा पर भाई अनुपम से क्या बात करने गये है
मे: पता नही क्या बोला होगा तुम्हे रोकने के लिए
तुम तो आ गई हो सकता था अनुपम हमारे रूम मे बाद मॅ आ जाता इसलिए शायद राज ने रूम चेंज किया है हमारे हनिमून के लिए
और हम दोनो से शरीर मे हनिमून के नाम पर सिरहण दौड़ गई
क्यूँ की दोनो की आज हालत खराब होने वाली थी
हम दोनो रेडी हो कर राज का वेट करने लगे
Post Reply