Incest विदाउट रूल्स फैमिली लव अनलिमिटेड

Post Reply
josef
Platinum Member
Posts: 5404
Joined: 22 Dec 2017 15:27

Re: विदाउट रूल्स फैमिली लव अनलिमिटेड

Post by josef »

मयंक का एक हाथ कामिनी के बड़े बड़े बूब्स पर है. ऑर
दूसरा हाथ कामिनी की गान्ड पर. मयंक कामिनी की पैंटी नीचे
करनी स्टार्ट करता है. इससे तरुण ऑर जोश मे आ जाता है. ऑर
गौर से कामिनी की गान्ड को देखने लगता है . कुछ ही पॅलो
मे मयंक कामिनी की पैंटी को कामिनी की टाँगो से अलग कर
देता है.. ऑर अपने हाथो को कामिनी की ब्रा मे डाल देता है.


तरुण अभी भी कामिनी की गान्ड को घूर रहा है.. कामिनी
मयंक को बेड पर धकेल देती है.. ऑर अपनी ब्रा उतारने लगती है.

कामिनी की पीठ तरुण की ऑर थी. इसलिए तरुण को कामिनी का सिर्फ़
पीछे का लुक दिख रहा है.. कामिनी अपनी ब्रा उतार कर फेक देती
है.. ऑर मयंक के ऊपर आ कर बैठ जाती है.. कामिनी थोड़ा
ऊपर उठती है.. ऑर मयंक के लंड को अपने हाथो से अपनी
चूत पर सेट करती है. ये सीन तरुण को साफ दिखाई दे रहा
है.

कामिनी एक ही झटके के साथ मयंक के पूरे लंड को अपनी
चूत मे ले लेती है. उसके बाद कामिनी धीरे धीरे आगे पीछे
होना स्टार्ट करती है.

तरुण अब अपने लंड को सहलाना थोड़ा तेज
कर देता है.कामिनी भी अपनी स्पीड बढ़ा देती है.. कामिनी अब
आगे की ऑर झुक जाती है. ऑर मयंक को किस करते हुए. लंड पर
उछल रही है.. मयंक भी नीचे से धक्के मार रहा है.


मयंक कामिनी के बूब्स को अपने मुँह मे कर चूसने लगता
है. अब मयंक ऑर कामिनी अपनी स्पीड को ऑर ज़्यादा बढ़ा देते
है. कामिनी की आहो की आवाज़ अब कुछ तेज होने लगती है.. दोनो
सिर्फ़ सेक्सी आहे भर रहे है.. तभी कामिनी निढाल हो कर
मयंक के ऊपर गिर जाती है.. ऑर दोनो एक दूसरे को किस करने
लगते है.. ये सिलसिला कुछ 10 मिंट चलता है.. फिर मयंक ऑर
कामिनी अलग हो जाते है.. दोनो एक साथ बाथरूम की ऑर जाते है.. बाहर तरुण भी अपने रूम की ऑर जाता है.. वो रूम मे एंटर करके गेट को अंदर से लॉक कर लेता है.
josef
Platinum Member
Posts: 5404
Joined: 22 Dec 2017 15:27

Re: विदाउट रूल्स फैमिली लव अनलिमिटेड

Post by josef »

फिर मयंक ऑर
कामिनी अलग हो जाते है.. दोनो एक साथ बाथरूम की ऑर जाते है.. बाहर तरुण भी अपने रूम की ऑर जाता है.. वो रूम मे एंटर करके गेट को अंदर से लॉक कर लेता है.

अभी तरुण का दिमाग़ मे सिर्फ़ कामिनी घूम रही है.. अब उसकी नियत अपनी ही
मोम पर खराब होने लगी है… आज बहुत दिनों के बाद उसका
मूठ मारने का मन कर रहा था.. लेकिन वो ऐसा कुछ करना
नही चाहता है. वो अपने बेड पर जा कर बैठ जाता है.. तभी
उसे अपनी कमर पर किसी के हाथ महसूस होते है.. वो
पीछे देखता है. ये तन्नू थी.

तन्नू – “कहाँ थे तुम. मैं काफ़ी देर से तुम्हारा वेट कर रही हू. “
तरुण अब ये कैसे कहता. की वो अपनी मोम की चुदाई देख
रहा था. उसने बिना कुछ बोले तन्नू को हग कर लिए.. तन्नू
भी तरुण के चिपक कर हग कर ली.. दोनो एक दूसरे से चिपके
हुए बेड पर लेटे थे.. तन्नू अभी भी कंट्रोल मे थी. वो जानती
थी, जब तक तरुण उसे प्रपोज नही करेगा. वो कुछ नही
करने देगी. लेकिन अभी तरुण को किसी भी तरहा ठंडा होना
था.. इसलिए तरुण ने अपना काम स्टार्ट कर दिया.. उसने अपना
हाथ तन्नू के बूब्स पर ले गया. ऑर बूब्स को मसलना सुरू
कर दिया..

तन्नू ने उसके हाथ को झटका दिया ऑर अलग हो गयी.
तरुण ने आगे बढ कर तन्नू की कमर मे हाथ डाला ऑर उसे
अपनी ऑर खींचा .. अब दोनो एक दूसरे से फिर से चिपक गये
थे. तरुण ने तन्नू के होंठो को चूसना स्टार्ट कर दिया.

तन्नू इस बारे कोई विरोध नही कर रही थी. लेकिन तन्नू जानती
थी ,, इससे आगे कुछ नही करना है…

तरुण का दिमाग़ तो कुछ ऑर ही कह रहा है. उसने फिर से अपना एक हाथ तन्नू के
बूब्स पर रख दिया.. तन्नू इसका विरोध करने लगी. ऑर तरुण से
दूर हट कर खड़ी हो गयी.. तन्नू को अब तरुण के बर्ताव मे
कुछ बदलाव लग रहा था.

तरुण अभी हवस की आग मे जल
रहा था. उसे कुछ समझ नही आ रहा था.. लेकिन तरुण ने
खुद को थोड़ा कंट्रोल करने की कोशिश की

तन्नू – “ भाई तुझे क्या हो रहा है. तू ऐसे क्यो कर रहा है “
तरुण- “ दी मुझे खुद नही पता.. मेरे साथ ऐसा कैसे होरहा है.. मैं अभी कंट्रोल मे नही हू.. मुझे अभी बस शांत होना है कैसे भी. “
तन्नू तरुण की इस हालत को समझ गयी थी.. क्योंकि तन्नू भी
पहले इस हालत से गुजर चुकी थी. इसलिए उसने तरुण की हेल्प
करने की सोची.

तन्नू – “ तरुण तू पहले बेड पर बैठ.. बाकी सब मुझ पर छोड़ दे “

तरुण बेड पर बैठ जाता है.. तन्नू उसके सामने जा कर घुटनो
के बल बैठ गयी. ऑर उसके लोवर को नीचे खिच दिया.. इससे
तरुण का अंडरवेर भी नीचे हो गया. अब तरुण का
फनफना ता हुआ लंड तन्नू के सामने था. तन्नू उसे देख
कर थोड़ा घबरा जाती है. क्योंकि ये बहुत बड़ा ऑर मोटा है.

तन्नू खुद को कंट्रोल करती है ऑर दोनो हाथो से तरुण के
लंड को पकड़ कर उसकी मूठ मारना स्टार्ट करती है. तरुण अपनी
आखे बंद करके आहे भरने लगता है.. तन्नू अब तरुण के
लंड को आगे पीछे कर रही है… तन्नू की हालत भी अब
खराब हो रही है.. उसकी चूत ने भी अब पानी छोड़ना स्टार्ट
कर दिया है… तन्नू एक हाथ अपनी चूत पर ले जाती है. ऑर धीरे
धीरे रगड़ना स्टार्ट कर देती है.

तरुण – “ आआहाआहाआहा आआहाआहाआहा दी थोड़ा ज़ोर
से करो ना “

तन्नू अपनी स्पीड बढ़ा देती है..तरुण की आहो की आवाज़ अब
तेज हो जाती है. तन्नू की साँसे भी तेज हो गयी है,..

तरुण – “ दी मेरा निकलने वाला है “

तन्नू इसे सुन कर भी अनसुना कर देती है..ऑर अपनी स्पीड को
ऑर बढ़ा देती है. इसी के साथ तरुण का लंड एक ज़ोर दार फुहार
छोड़ता है.. जो तन्नू के फेस पर जा कर लगती है.. तरुण अब
निढाल अपने बेड पर पड़ जाता है. तन्नू तरुण के वीर्य के साथ
खेल रही है.. ऑर चाट कर तरुण के लंड को साफ कर देती है.
तरुण अब वापस उठ कर बैठ जाता है..

तरुण – “ सॉरी दी मैने आपका फेस गंदा कर दिया “

तन्नू – “ कोई बात नही .. “

तन्नू इतना कह कर बाथरूम मे चली जाती है. ऑर थोड़ी दरबाद सब साफ करके बाहर आती है.

तरुण – “ आई आम सॉरी दी ”

तन्नू – “ मैने बोला इट’स ओके.. इस उमर मे ये सब होता है..
अभी तुम सो जाओ अच्छी नींद आएगी.. हम कल बात करते है

इतना कह कर तन्नू अपने रूम मे चली जाती है.. ऑर तरुण भी
बेड पर गिरते ही एक गहरी नींद मे चला जाता है..
josef
Platinum Member
Posts: 5404
Joined: 22 Dec 2017 15:27

Re: विदाउट रूल्स फैमिली लव अनलिमिटेड

Post by josef »

सुबह के 8:30 बज रहे है.. तरुण अपने सपनो मे खोया
हुआ है.. कमरे मे खामोशी का महॉल है.. कुछ देर मे
इस सन्नाटे को तोड़ती हुई एक आवाज़ तरुण के कानो मे पड़ती
है इसी .. शोर के साथ टिया तरुण के रूम मे एंटर होती है.

टिया- “ भाई जल्दी उठो..”

तरुण अभी भी नींद मे है.. वो इस आवाज़ जो इग्नोर करने की
कोशिश करता है.. लेकिन ज़्यादा टाइम के लिए वो इससे इग्नोर नही
कर पाता .. टिया अब तरुण के पास आ कर बैठ जाती है.. ऑर तरुण
को हिलाते हुए.. अपने शब्द दोबारा दोहराती है.. तरुण इससे
उठ कर बैठ जाता है.


तरुण – “ टिया क्या है. इतनी सुबह – सुबह क्यो परेशान कर
रही है “

टिया – “ भाई अभी 9 बज रहे है. ऑर तुम अभी तक सो रहे हो..

तरुण टाइम देखता है.. उसे रात की बाते याद आती है. ऑर
उसके फेस पर एक स्माइल आ जाती है.. लेकिन अभी उसका दिमाग़
बिल्कुल शांत है. वो टिया को हग करता है. ऑर गालो पर एक
गुड मॉर्निंग किस देता है..

तरुण – “ टिया देख 9 बज रहे है. तू स्कूल नही गयी..? “

टिया – “ नही भाई.. आज मेरा गिफ्ट आने वाला है ना “

तरुण- “ कॉन्सा गिफ्ट..? “

टिया- “ भाई आप बहुत भुलक्कड़ हो.. याद नही आपने कल
इंटरनेट से एक गिफ्ट मगवाया है मेरे लिए. “

अब तरुण को याद आता है.. उसने टिया को गिफ्ट के लिए बोला
था.. उसके दिमाग़ से ये बात निकल ही गयी थी.

तरुण- “ अरे वेबकूफ तो तू इसलिए स्कूल नही गयी क्या. ? “

टिया – “ हा.. अगर यहा गिफ्ट आया ऑर मैं ना हुई तो. उसे कोई
ऑर ले लेगा ना “

तरुण – “ तू ना पागल है. वैसे वो गिफ्ट ईव्निंग तक आएगा.“

टिया – “ हा तो मैं यही हू.. वैसे ये बताओ.. गिफ्ट मे है क्या . ? “

तरुण – “ जब आएगा तब देख लेना. ऑर अभी जा चाय ले कर आ

इतने मे तन्नू चाय ले कर रूम मे एंटर करती है.

तन्नू – “ ये ले मैं ले आई. तेरी चाय. “

तन्नू चाय को टेबल पर रखती है. तरुण उठ कर बाथरूम मे
चला जाता है. रूम मे टिया ऑर तन्नू कुछ बाते कर रहे
थे.. कुछ देर मे तरुण वापस बेड पर आ कर बैठता है.. ऑर
चाय की सीप लेता है.तरुण के दिमाग़ मे अभी भी ये चल रहा
था की टिया के लिए क्या गिफ्ट लाए. उसे ये ईव्निंग से पहले
ख़त्म करना था..

तरुण – “ टिया तुम ने होम-वर्क कर लिया. “

टिया- “ नही “

तरुण – “ तो जाओ अपने रूम मे ऑर रेडी रहो मैं थोड़ी देर
मे आता हू. “

इतना सुन कर टिया वहाँ से चली जाती है… तरुण जल्दी से उठ कर
गेट को अंदर से लॉक कर देता है.. तन्नू अब बेड से खड़ी
हो जाती है.

तन्नू- “ भाई ये क्या कर रहे हो.”

तरुण – “ दी एक गुड मॉर्निंग किस चाहिए था. “

इतना सुन कर तन्नू शर्मा जाती है. वो दूरी ऑर फेस घुमा लेती
है.. तरुण पीछे से जा तन्नू को अपनी बाहों मे भर लेता है..
ऑर उसकी गर्दन पर किस कर देता है.. तन्नू अब तरुण की ऑर
पलट जाती है.. दोनो एक दूसरे की बाहों मे समा जाते है.. अब
तरुण ने अपने होंठो को तन्नू के होंठो से मिला दिया, दोनो
एक दूसरे के होंठो को पागलो की तरहा चूसने लगते है..

कुछ देर मे तन्नू तरुण को अपने से अलग करती है..
तन्नू – “ किस मिल गया ना अब चलो रेडी हो जाओ.. मोम
बुला रही है. “

तरुण - “ दी आपके होंठ तो आपकी चाय से भी ज़्यादा स्वीट
है . “

इतने मे तन्नू शर्मा जाती है. ऑर गेट खोल कर बाहर निकल
जाती है. तरुण अब वापस बाथरूम मे चला जाता है.. जब
तरुण बाहर आता है तो टिया बेड पर बैठती हुई मिलती है..

तरुण – “ टिया, तू यहा क्या कर रही है “

टिया – “ मेरे भुलक्कड़ भाई… अभी आप ने ही मेरा होम
वर्क करने के लिए बोला था.. अब आप ही भूल गये. “

तरुण – “ मुझे याद है. लेकिन तू मुझे रेडी तो होने दे. “

टिया – “ रेडी तो हो आप “

तरुण – “ हा अभी तो हुआ हू.. अब चल ब्रेकफ़ास्ट करते है. उसके
बाद करते है. “

इतना कह कर दोनो डाइनिंग हॉल की ऑर चल देते है.. नीचे
कामिनी किचन मे काम कर रही है. तन्नू ऑर तानिया टीवी देख
रही है. तरुण ऑर टिया डाइनिंग हॉल मे चेयर पर बैठ जाते है.
आज टिया के फेस पर अपने गिफ्ट के लिए तड़प सॉफ नज़र आ रही
है.

कामिनी – “ ब्रेकफ़ास्ट रेडी है. सभी आ जाओ “

ये सुन कर सभी डाइनिंग टेबल पर आ कर बैठ जाते है. तरुण
के बगल मे तन्नू बैठी है.. ऑर दूसरी ऑर कामिनी
बैठी है.. सामने तानिया एंड उसकी बगल मे टिया बैठी है.

कामिनी ऑर तन्नू खाना सर्व करती है. सभी ब्रफफस्ट स्टार्ट करते
है. तरुण का आज मूड आज मॉर्निंग से ही बहुत रोमॅंटिक हो
रहा है.. वो अपना एक हाथ से तन्नू की जाँघो पर रख कर
सहलाना स्टार्ट करता है. तन्नू इस हरकत से. बेचैन होने
लगी है.. ऑर तरुण का हाथ पकड़ कर झटके के साथ हटा देती
है. ऑर तरुण की ऑर गुस्से से देखती है. तरुण .. तन्नू की ऑर एक
नॉटी स्माइल कर के देखता है. ऑर अपना हाथ वापस तन्नू
की जाँघ पर रख देता है…. वहाँ सभी अपना ब्रेकफ़ास्ट करने
मे बिज़ी है. कोई तरुण ऑर तन्नू के एक्सप्रेशन नही देखरहा है.. लेकिन इस बात का डर सबसे ज़्यादा तन्नू को है.

तरुण तो अपनी मस्ती मे मस्त हो कर तन्नू को छेड़ रहा है..
इस बार तन्नू टेबल पर सब पर नज़र रखे हुए है. ऑर
नीचे तरुण का हाथ हटाने की नाकाम कोशिश कर रही है. लेकिन
तरुण अपनी हरकतों को नही छोड़ रहा है. कुछ देर मे
तन्नू भी अपना विरोध बंद करके. तरुण का साथ देने लगती
है. तन्नू अब तरुण के हाथ को अपनी जाँघ पर धीरे धीरे
सहलाती है.. तरुण अब आगे बढ़ने लगा. उसने अपना हाथ
तन्नू की चूत तक पहुचा दिया.. ऑर तन्नू की चूत को कपड़ो
के ऊपर से ही सहलाना स्टार्ट कर दिया.. अब तन्नू का विरोध
ख़त्म हो चुका था.. वो बस इस पल को एंजाय कर रही है..


लेकिन ये पल ज़्यादा देर तक नही रहे.. कुछ देर मे सभी ने
ब्रेकफ़ास्ट ख़तम किया.. तभी तरुण ने भी अपना हाथ हटा लिया..
ऑर तन्नू को ना चाहते हुए भी होश मे आना पड़ा.. तन्नू
की पैंटी चूत के पानी से गीली हो चुकी है.. तन्नू तुरंत
बर्तन ले कर किचन की और चल देती है.. कामिनी भी किचन मे
चली जाती है… तरुण वापस अपने रूम की ऑर चल देता है.
Post Reply